एसपी ने पत्रकारों को डांट भगाया, कहा- पुलिस के लिये मीडिया महत्वहीन

Share Button

रामगढ़। जिले के नए अलोक प्रियदर्शी ने भदानीपुर ओपी क्षेत्र स्थित अमझरिया में रेलवे कार्यों का जायजा लिया। इस दौरान एसपी के आने की सूचना पर विभिन्न अखबारों के पत्रकार भी मौके पर पहुंचे।

पत्रकारों ने जैसे ही कैमरे निकाल कर फोटो लेना शुरू किया, एसपी की नजर पड़ गई। इसके बाद एसपी ने डांटते हुए सभी को बुलाया और फोटो तुरंत डिलीट करने को कहा।

इस पर पत्रकारों ने अपना परिचय दिया, लेकिन एसपी ने एक न सुनी और कहा कि अब हवा का रुख बदल गया है। एसपी ने डांटते हुए कहा कि बिना इजाजत से फोटो क्यों ली ?

इसके बाद एसपी ने कहा कि मीडिया के लिए पुलिस अहमियत रखती है लेकिन, पुलिस के लिए मीडिया कोई अहमियत नहीं रखती। इसके बाद उन्होंने वहां मौजूद सभी पत्रकारों को मौके पर से जबरदस्ती भगा दिया।

इससे पहले पतरातू थाने के निक्षण के दौरान एसपी से मिलने गए पत्रकारों के नेम स्लिप एसपी ने खुद फाड़कर फेंक दिए। उन्होंने किसी से मुलाकात नहीं की। नए एसपी के इस आपत्तिजनक बर्ताव से स्थानीय पत्रकारों में काफी रोष है। (स्रोतः जेजेए)

Share Button

Relate Newss:

पटना मीडिया पर कथित हमले का सच, खुद तेजस्वी यादव की जुबानी
महंगा पड़ा फेसबुक पर शराब की बोतल संग फोटो पोस्ट, 4 समेत पहुंचा जेल
शाहरुख खान विज्ञापन वाली फेयर हैंडसम क्रीम कंपनी पर 15 लाख का जुर्माना
सुदर्शन न्यूज के सुरेश चव्हाणके पर महिला यौन उत्पीड़न का FIR दर्ज
झारखंड जागरण: तीन राज्यों से उड़ा रहा सरकारी विज्ञापन
यूपी के एडीजी की पत्नी ने IAS की कुर्सी को बनाया मजाक !
हरिबंश को मिली चाटुकारिता का ईनाम
सीएम अर्जुन मुंडा के प्रेस कॉन्फ्रेस में हावी रहे झारखंड के चिरकुट पत्रकार
जर्नलिस्ट मोहनदीप ने Eurekha में लिखाः बाइसेक्शुअल हैं रेखा !
पीएम मोदी के 'मन की बात' : भूमि अध्यादेश अब नहीं लाएगी उनकी सरकार !
‘इंफाल टाइम्स’ की वायरल वीडियो में विधायक नहीं, उनके पीए व अन्य, देखिए पूरा वीडियो
दैनिक जागरणः चाटूकारिता की हद
नेशनल यूनियन आफ जर्नलिस्ट्स का द्विवार्षिक 'रांची सम्मेलन' सम्पन्न
ईटीवी(न्यूज़18) पत्रकार मनोज के बचाव में यूं उतरे करीबी लोग
कोई नहीं ले रहा ललमटिया कोल खदान के विस्थापितों की सुध !

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...
loading...