अन्य
    Sunday, May 26, 2024
    अन्य

      बिहारः अररिया जिला के रानीगंज में दैनिक जागरण संवादाता की गोली मारकर हत्या

      राजनामा.कॉम। बिहार के अररिया जिला अंतर्गत रानीगंज के दैनिक जागरण के रिपोर्टर विमल कुमार यादव की आज सुबह बदमाशों ने गोली मारकर हत्या कर दी। बदमाशों ने सुबह सुबह उनके घर का दरवाजा खटखटाया और आवाज देकर बाहर बुलाया। विमल ने जैसे ही घर का दरवाजा खोला, बदमाशों ने गोली मारकर हत्या कर दी। घटना रानीगंज थाना क्षेत्र बेलसरा के हीरो शोरूम के पीछे स्थित घर का है।

      इससे दो साल पहले इनके सरपंच भाई की इसी तरह बदमाशों ने हत्या कर दी थी। जिसमें वे मुख्य गवाह थे और ऐसी आशंका जताई जा रही है कि मुख्य गवाह होने के कारण बदमाशों ने उनकी हत्या कर दी। कारण बदमाशों द्वारा कई बार गवाही नहीं देने से रोका था, बावजूद इसके कोर्ट में चल रहे ट्रायल के दौरान इन्होने अपने भाई के हत्यारे के खिलाफ गवाही दी थी।

      Bihar Dainik Jagran correspondent shot dead in Raniganj of Araria districtशव को पोस्टमार्टम के लिए अररिया सदर अस्पताल लाया गया है और विमल कुमार यादव अपने पीछे एक बेटा और एक बेटी और पत्नी को छोड़ गया है। घटना के बाद से परिजनों का रो रोकर बुरा हाल है।

      घटना के संदर्भ में मृतक की पत्नी पूजा देवी ने बताया कि सुबह में घर का दरवाजा पीटकर उनके पति का नाम लेकर हल्ला किया जा रहा था।दोनों उठकर वह घर का दरवाजा और ग्रिल खोल रही थी। इसी क्रम में उसके पति मुख्य गेट खोलकर ज्योंही दरवाजे पर पहुंचे की गोली चलने की आवाज हुई।

      जिसके बाद उसके पति ने हल्ला कर उसे आवाज दिया। जब वह दौड़ कर वहां पहुंची तो पति को खून से लथपथ पाया और उन्होंने गोली मारने की जानकारी दी। सुबह के वेला में अधिक लोग बाहर नहीं थे। जिसके बाद वह चिल्लाकर अगल बगल के लोगों को जानकारी दी और फिर मौके पर लोग जमा हुए और रानीगंज थाना पुलिस को सूचना दी गई।

      जिसके बाद रानीगंज थाना अध्यक्ष कौशल कुमार के नेतृत्व में पुलिस बल मौके पर पहुंची और शव को लेकर पहले रानीगंज रेफरल अस्पताल पहुंची, जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। उसके बाद भारी भीड़ को देखते हुए शव को पोस्टमार्टम के लिए अररिया सदर अस्पताल भेज दिया गया।

      पूजा देवी ने बताया कि दो साल पहले उनके देवर गब्बू यादव की भी बदमाशों ने इसी तरह हत्या कर दी थी और मामले में उनके पति विमल कुमार यादव मुख्य गवाह थे। केस ट्रायल पर कोर्ट में चल रहा था। जिसमें बदमाशों के द्वारा बार बार इसे गवाही देने से मना किया जा रहा था और कुछ दिन पहले ही इन्होंने कोर्ट में गवाही दी थी। आशंका है कि उनके देवर के हत्यारे ने ही उनके पति की हत्या करने के घटना को अंजाम दिया।

      घटना को लेकर लोगों में तीव्र आक्रोश है। दो दिन पहले ही रानीगंज में एक कारोबारी को भी बदमाशों ने उनके प्रतिष्ठान में घुसकर गोली मार दिया था। घटना के बाद भारी संख्या में जिले के पत्रकार पोस्टमार्टम हाउस पहुंचे हैं और घटना को लेकर तीव्र आक्रोश व्यक्त कर रहे हैं।

      2 COMMENTS

      Comments are closed.

      संबंधित खबर
      error: Content is protected !!