लालू के बड़े लाल तेजप्रताप ने इन नौ पत्रकारों को भेजा मानहानि का कानूनी नोटिस

राजनामा डॉट कॉम। राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के बड़े लाल तेजप्रताप यादव ने बिहार के नौ पत्रकारों पर मानहानि का कानूनी नोटिस जारी किया है। इस मानहानि की नोटिस को खुद तेज प्रताप ने ट्वीट करते हुए लिखा कि पत्रकारों को मैंने मानहानि का कानूनी नोटिस भेजा है।

Lalus Bade Lal Tej Pratap sent legal notices for defamation to these nine journalists 1तेज प्रताप की तरफ से सुप्रीम कोर्ट के अधिवक्ता नवल किशोर झा ने यह नोटिस तैयार की है। इस नोटिस में नौ पत्रकारों के नाम है। इनमें प्रायः चैनलों और वेबसाइटों के पत्रकार बताएं जा रहे है।

बता दें कि दो दिन पहले एक पत्रकार का स्टिंग करने का दावा करते हुए तेज प्रताप ने यूट्यूब पर वीडियो जारी किया था। पत्रकार पर खुद को बदनाम करने की साजिश का आरोप लगाया था।

यह भी कहा था कि पूर्व सीएम और ‘हम’ के नेता जीतन राम मांझी के आवास पर उनके खिलाफ साजिश रची जा रही है।

यूट्यूब पर जारी एक वीडियो में तेज प्रताप ने अपना इंटरव्यू लेने आए एक कथित पत्रकार को एक्सपोज करने का दावा किया था।

तेज प्रताप पहले उस कथित पत्रकार से अपने आवास में बात करते नजर आते हैं। पत्रकार को पहले कैमरा रखने के लिए कहते हैं और फिर बातचीत के लिए बुलाते हैं।

वीडियो में देखा जा सकता है कि इंटरव्यू लेने की बजाय कथित पत्रकार कैमरा बाहर रखने के बहाने वहां से भागता है।

Lalus Bade Lal Tej Pratap sent legal notices for defamation to these nine journalists 2इस बीच तेजप्रताप अपने आवास से बाहर आकर उस कथित पत्रकार का पीछा करते हैं और इंटरव्यू लेने के लिए कहते हैं, लेकिन पत्रकार वहां से निकलकर अपनी कार से भाग जाता है।

इसके बाद तेज प्रताप भी अपनी कार में सवार होकर उस कथित पत्रकार का पीछा करने लगते हैं।

तेजप्रताप अपनी गाड़ी में बैठ कर जब थोड़ी दूर आगे जाते हैं तो पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी के आवास के सामने उस पत्रकार की गाड़ी लगी होती है।

तेज प्रताप भी अपनी गाड़ी में बैठे बैठे वीडियो बनाते हैं और यह आरोप लगाते हैं कि जीतन राम मांझी के आवास से उनको बदनाम करने की साजिश रची जा रही है।

तेज प्रताप ने आरोप लगाया है कि जीतन राम मांझी के घर से उनके खिलाफ साजिश रची जा रही है औऱ उसका प्रमाण यह वीडियो है।

बिहार के हसनपुर से विधायक तेजप्रताप यादव की ओर से सुप्रीम कोर्ट के अधिवक्ता नवल झा ने जिन नौ पत्रकारों पर मानहानि का मुकदमा दर्ज किया है, उनमें द एक्टिविस्ट के वेदप्रकाश, जनता जंक्शन के प्रशांत राय, लाइव सिटी के आलोक, आजतक के सुजीत कुमार, गणेश, रिपब्लिक भारत के प्रकाश कुमार, एबीपी के प्रकाश कुमार, एएनाई के मुकेश तथा न्यूज़ हाट के कन्हैया भेलारी शामिल हैं।

तेजप्रताप के वकील का कहना है कि तेजप्रताप एक जिम्मेदार प्रतिनिधि हैं। वे नीतीश मंत्रिमंडल में मंत्री भी रह चुके हैं। मीडिया के लोग उनकी छवि को लगातार धूमिल करने का प्रयास करते रहे हैं। मीडिया अपनी सीमाएं लांघ कर उनके खिलाफ भ्रामक खबरें चलाती रही है। यहां तक कि वह कुछ नेताओं के इशारे पर उनके मुवक्किल की छवि धूमिल कर रहें हैं।

कोविड के चलते भारत में हुई मौतों पर अमेरिका के अखबार की खबर है चर्चाओं में !

अब Elon Musk के हाथ में Twitter, 44 अरब डॉलर में खरीदी, जानें सब कुछ

यूपी चुनाव में नहीं चलेगा मीडिया का यह खेल, आयोग ने लगाई रोक, दी कड़ी हिदायत

राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग पहुंचा आज रिपोर्टर की पिटाई का मामला

नालंदाः बदमाशों ने रिपोर्टर को गोली मारी, सरायकेलाः पुलिस ने रिपोर्टर को जमकर पीटा

error: Content is protected !!