अन्य
    Monday, June 17, 2024
    अन्य

      पत्रकारिता के कारण नहीं बल्कि शादी समारोह में लड़की संग डांस करने को लेकर हुई पत्रकार सुभाष की हत्या

      राजनामा.कॉम। बिहार के बेगूसराय के परिहारा सहायक क्षेत्र में पत्रकार सुभाष कुमार की हत्या पत्रकारिता के कारण नहीं, शादी समारोह में लड़की के साथ डांस करने का विरोध करने पर हुई थी।

      घटना में शामिल तीन आरोपियों की पश्चिम बंगाल में गिरफ्तारी के बाद बेगूसराय लाकर हुए पूछताछ में इसका खुलासा हुआ है।

      उपरोक्त जानकारी देते हुए एसपी योगेन्द्र कुमार ने अपने कार्यालय कक्ष में आयोजित प्रेस वार्ता आगे बताया कि 20 मई को सांखू गांव में नवीन महतो की शादी में डीजे पर डांस करने के लिए लड़की द्वारा दूसरे गांव के अपने मित्र लड़कों को बुलाया गया था। जहां कि रौशन कुमार, प्रियांशु कुमार एवं सौरव कुमार उर्फ गोलू का ग्रामीणों के साथ नाचने के दौरान विवाद हो गया।

      इसके बाद बदला लेने सभी अपराधी अपने गांव चले गए और वहां से हथियार लेकर सांखू आए तथा इन तीनों ने बाबुल राठौड़ उर्फ बबलू के साथ मिलकर ग्रामीणों और सुभाष के साथ नोंक झोंक किया। इसी दौरान प्रियांशु एवं रौशन ने पत्रकार सुभाष कुमार की गोली मारकर हत्या कर दी।

      एसपी ने बताया कि हत्या के बाद तीनों अपराधी बाइक से रोसड़ा होते हुए दलसिंहसराय पहुंचे, जहां प्रियांशु ने अपने ननिहाल में आधार कार्ड के द्वारा डिजिटल तरीके से पांच हजार रुपया निकाला और ट्रेन से बरौनी स्टेशन पहुंच कर कटनी मध्य प्रदेश चला गया।

      कटनी से दिल्ली और उड़ीसा में रहने के बाद तीनों बदमाश पश्चिम बंगाल के हुगली जिला स्थित चंदननगर थाना क्षेत्र में फर्जी आधार कार्ड बनाकर किराए के मकान में रहने लगे।

      बेगूसराय पुलिस द्वारा लगातार इन राज्यों की पुलिस के साथ इंटेलिजेंस शेयर किया जा रहा था एवं भनक मिलते ही 30 जून को पश्चिम बंगाल पुलिस ने सुभाष हत्याकांड में शामिल खगड़िया जिला के रानी शकरपुरा निवासी रौशन कुमार, प्रियांशु कुमार कुमार एवं सौरभ कुमार उर्फ गोलू को गिरफ्तार किया गया।

      नौ जुलाई को पश्चिम बंगाल से रिमांड पर लाए जाने के बाद गिरफ्तार तीनों अपराधियों ने पूछताछ में अपनी संलिप्तता स्वीकार की तथा हत्या में उपयोग किया गया देसी पिस्तौल भी बरामद कर लिया गया है।

      हत्याकांड कांड में प्रयुक्त एक देशी कट्टा भी बरामद कर लिया गया है। जबकि पुलिस दबिश के डर से दो अपराधी पूर्व में आत्मसमर्पण कर चुके हैं।

      एसपी ने बताया कि पत्रकार सुभाष के हत्यारों को स्पीडी ट्रायल कर फांसी की सजा दिलाई जाएगी। स्पीडी ट्रायल जल्द से जल्द कराने के लिए अभियोजन पदाधिकारियों की बैठक बुलाई जा रही है।

      संबंधित खबरें
      error: Content is protected !!