RBI के गवर्नर की PC से इकोनॉमिस्ट और बीबीसी के पत्रकार को निकाला

Share Button
Read Time:2 Minute, 36 Second

मुंबई। रिजर्व बैंक आफ इंडिया के गर्वनर उर्जित पटेल की प्रेस कांफ्रेंस से बिना बताए द इकोनॉमिस्ट और बीबीसी के पत्रकारों को बाहर निकाल दिया गया। इससे नाराज़ द इकोनॉमिस्ट के पत्रकार स्टैनले पिग्नल ने ट्वीट करके अपना दुख और क्षोभ प्रकट किया।

उन्होंने एक ट्वीट में लिखा- ”रिज़र्व बैंक ऑफ इंडिया की प्रेस कांफ्रेंस में मुझे यानि द इकोनॉमिस्ट को नहीं बुलाया गया। मुझे अंदर जाने से रोक दिया गया। पारदर्शिता के लिहाज से एक दुखद दिन है मेरे लिए।’

दरअसल मुंबई स्थित आरबीआई हेडक्वॉर्टर पर गर्वनर उर्जित पटेल की एक महत्वपूर्ण प्रेस कांफ्रेंस आयोजित की गई थी। इस पीसी से दो ब्रिटिश मीडिया संस्थानों के पत्रकारों को बाहर कर दिया गया। दोनों पत्रकारों को प्रवेश की अनुमति नहीं देने की कोई वजह भी नहीं बताई गई। ये पत्रकार ‘द इकोनॉमिस्ट’ और ‘बीबीसी वर्ल्ड सर्विस’ के हैं।

बीबीसी वर्ल्ड सर्विस के पत्रकार समीर हाशमी ने भी बताया कि उन्हें और द इकोनॉमिस्ट के पत्रकार को बिना किसी पूर्व सूचना या चेतावनी के बाहर कर दिया गया।

इस घटनाक्रम पर कई पत्रकारों ने रोष जताया है। पत्रकार Mahendra Mishra ने फेसबुक पर लिखा- ”आरबीआई की प्रेस कॉन्फ्रेंस में इकोनॉमिस्ट, बीबीसी को रोका गया। क्या डर गयी है सरकार?”

वहीं पत्रकार Priyabhanshu Ranjan लिखते हैं- ”RBI गवर्नर उर्जित पटेल की प्रेस कांफ्रेंस से द इकोनॉमिस्ट और बीबीसी के पत्रकार को निकाला। बेचारे पूछना भूल गए होंगे – सर, बागों में बहार है?”

वरिष्ठ पत्रकार Prakash K Ray ने भी रिज़र्व बैंक गवर्नर की प्रेस कांफ़्रेंस से द इकोनॉमिस्ट और बीबीसी के संवाददाता को बाहर किए जाने की घटना पर क्षोभ व्यक्त किया है।

  

0 0
Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleppy
Sleppy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %
Share Button

Relate Newss:

समाचार प्लस चैनल के Ceo_Cheif Editor ने प्रेस कांफ्रेस कर सत्ता को दी यूं खुली चुनौती
पीएम को विज्ञापन बनाने वाले जिओ पर महज 500 जुर्माना !
चंडी पुलिस के निकम्मेपन खिलाफ उच्चस्तरीय जांच की जरुरत
'यार की हार' का बदला यूं ले रहे हैं अंबानी-मोदी के नाथवानी!
समलैंगिक विवाह को स्वीकारने वाला पहला देश बना आयरलैंड
मदन तिवारी ने यशवंत सिंह से कहाः .....तो जेल खुद जायेगें हरिबंश
मनमानी और दलालों का अड्डा है कोडरमा रेलवे स्टेशन !
वाह री मीडिया! खुद की खबर को न छापा और न दिखाया !
भड़काऊ खबरें प्रसारित करने वाले सुदर्शन चैनल के मालिक सुरेश चह्वाणके के खिलाफ मुकदमा
जानिए कौन है गांधी जी की मॉडर्न हत्यारिन पूजा शकुन पांडे ?
नागालैंड में बेगुनाह फरीद की हत्या के पीछे का षड्यंत्र !
ठगों की राजनीति के सामने संसद बेबस
अगवा डॉक्टर की हत्या, SP ने दी थी फिरौती देने की सलाह !
पीएम मोदी के 'मन की बात' : भूमि अध्यादेश अब नहीं लाएगी उनकी सरकार !
साज़िश के तहत निराधार खबर चला रही है मीडियाः तेजस्वी यादव
रांची में हो रही है यह कैसी पत्रकारिता ?
'इंडियाज डॉटर' पर रोक से हाई कोर्ट का इंकार
बढ़ी एफडीआई से प्रिंट मालिक मायूस, वहीं न्‍यूज ब्रॉडकास्‍टर्स गदगद
पटना बेऊर जेल में कैद आतंकियों के हमले में कई पुलिसकर्मी घायल
बराक ओबामा की शान या उनकी कायरता की पहचान !
पाकिस्तानी ब्लॉगर ने बीबीसी पर लिखा- बिहार नतीजे पर पाकिस्तान में पटाख़े फूटे ही फूटे
गीता प्रेस के कर्मचारियों की हड़ताल प्रबंधन के शर्तों पर हुई खत्म
डालटनगंज में लगा भूतों का मेला, प्रशासन मूकदर्शक !
मीडिया पर बड़ा हमलाः आधार कार्ड लीक न्यूज ब्रेकर रचना खैरा पर एफआईआर
मनगढ़ंत है रिपोर्टरों की वसूली और पिटाई की घटना

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...