वरिष्ठ पत्रकार मधुकर बोले- कैशलेस ट्रांजिक्शन में सजगता के साथ सावधानी जरुरी

Share Button
Read Time:2 Minute, 47 Second

रांची। “सरकार का प्रयास है कि कालाधन पर रोक लगे। इसके लिये प्लास्टिक कार्ड से कैशलेस ट्रांजिक्शन जरुरी है। आदत बनाने के पहले मजबूरी बोलना सही नहीं होगा। जमाने के साथ बदलाव लाना जरुरी है।”

उक्त बातें राज्य ग्रामीण विकास संस्थान,रांची (सर्ड) द्वारा ओरमांझी प्रखंड मुख्यालय सभागार में पंचायत प्रतिनिधियों के तीन दिवसीय प्रशिक्षण शिविर के दूसरे दिन वरिष्ठ पत्रकार मधुकर जी ने कही।

madhukar_-jp-jha2उन्होंने जीवन व्यापार के लिये टेक्नोलॉजी को जरुरी बताया और कहा कि हम भारतीय किसी पर भी विश्वास कर लेते हैं और ठगे जाते हैं। भरोसा और विश्वास करनी हमारी कमजोरी नहीं बल्कि भारतीय संस्कार की मजबूती है।

श्री मधुकर ने कहा कि लोग अधिक से अधिक पैसे जमा कर भोग करना चाहते हैं लेकिन, ईमानदारी से कम खाकर चैन की नींद सोना ही असली सुख है।

madhukar_-jp-jha1उन्होनें शिविर में उपस्थित पंचायत प्रतिनिधियों के कैशलेस ट्रांजिक्शन से जुड़े सबालों का बड़ा बेबाकी से जबाव दिया और कहा कि सरकार की मंशा जो भी रही हो लेकिन अचानक जो निर्णय थोप दिये गये हैं, उससे हर व्यक्ति को खुद ही निकलना होगा। कैशलेस प्रक्रिया काले कारोबार पर लगाम लगा सकती है, वशर्ते इसका उपयोग सावधानी और सजगतापूर्वक किया जाये।

इस मौके पर रांची दूरदर्शन केन्द्र के निदेशक जेपी झा ने कहा कि पहले के लोग अशिक्षित  लेकिन वेबकूफ नहीं। आज भी हमारे बुजुर्ग शिक्षित लोगों से ज्यादा अनुभवी हैं।

उन्होंने कई उदाहरण के माध्यम से कैशलेस ट्रांजिक्सन के महत्व पर प्रकाश डालते हुये कहा कि 1984 से पूर्व भारत में किसी के पास मोबाईल नहीं थे। अपग्रेड होने के लिये किसी डिग्री की नहीं बल्कि आत्मविश्वास के साथ कदम बढ़ाने की जरुरत है।

इस मौके पर सर्ड की प्रशिक्षिका मीनी शर्मा, ओरमांझी प्रखंड प्रभारी प्रमुख जयगोविंद साहु आदि लोग उपस्थित थे।

0 0
Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleppy
Sleppy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %
Share Button

Relate Newss:

क्या इस चक्रव्यूह से निकल पाएगें लालू जी के दोनों लाल
'11 जुलाई तक राजगीर मलमास मेला सैरात भूमि से हटायें अतिक्रमण'
बिहार में बच्चों की मौत पर रिपोर्टिंग करती टीवी पत्रकारिता को टेटनस हो गया है, टेटभैक का इंजेक्शन भी...
आरटीसी इंजीनियरिंग कॉलेजः घटिया भोजन-पानी को लेकर छात्रों ने की तालाबंदी
रिपोर्टर ने पुलिस से मांगी ‘परबी’ तो उलझ पड़े अखबार के मालिक और संपादक!
वाट्सएप की दो टूकः नहीं कर सकते प्रायवेसी का उल्लंघन
आखिर कौन है गुमला DDC अजनी कुमार का दुलरुआ !
सुशासन बाबू ने फर्जी डिग्रीधारी गुप्तेश्वर पाण्डेय को बनाया डीजी
पत्रकारों के लिये सबक प्रतीत है दिवंगत रिपोर्टर हरिप्रकाश का मामला
घबराहट-बौखलाहट में बिहार डायरी-2019 से हटाये गए प्रायः सभी न्यूज पोर्टल 
एक साल में चार वर्षों की दिशा तय की :रघुवर दास
20 साल छोटे बॉय फ्रेंड को लेकर फिर सुर्खियों में तस्लीमा
शिक्षा मंत्री ने कोडरमा डीडीसी को कहा- ‘बेवकूफ कहीं के...अंदर जाओगे’   
'राजगीर मलमास मेला सैरात भूमि से SDO-DSP हटायेगें अतिक्रमण और DM-SP करेंगे मॉनेटरिंग'
दैनिक भास्कर के बोकारो ब्यूरो चीफ की दबंगई से रोष
BBC Hindi: निष्पक्ष पत्रकारिता के 75 वर्ष !
जमशेदपुर प्रेस क्लब दो फाड़, पत्रकारों के बीच अस्तित्व की जंग शुरु
रांची प्रेस क्लब कोर कमेटी के निर्णयों से पत्रकारों में आक्रोश
बिल्डर अनिल सिंह का सहयोगी फिल्म पीआरओ रंजन सिन्हा  गिरफ्तार
आस्ट्रेलिया में 30 नवंबर से खुलेगा सबसे बड़े दुर्गा मंदिर का पट
नोटबंदी एक घोटाला, हो जेपीसी जांच: राहुल गांधी
भाजपा के बुजुर्गों के जरिये आरएसएस का मोदी-शाह की नकेल कसने की तैयारी
नालंदा में खुलेगी चाणक्य आईएएस एकेडमी की शाखा
हिन्दुत्व की आड़ में धंधेबाजी करने वाले सुदर्शन न्यूज चैनल को राज्यसभा की नोटिस
अनारकली बनीं स्वरा जगा रही उम्मीदें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...