JUJ ने राजभवन का घेराव कर दिया एकदिवसीय धरना

Share Button

झारखंड में पत्रकारों की हो रही हत्या, उनपर बढ़ते हमले, फ़र्ज़ी मुकदमों में फंसाने की कोशिश और अन्य समस्याओं के साथ-साथ पत्रकारिता हितों की रक्षा को लेकर झारखंड यूनियन ऑफ जर्नलिस्ट(जेयूजे) के तत्वाधान में राजभवन का घेराव और एकदिवसीय धरना का आयोजन किया गया।

धरना का उद्देश्य, गिरिडीह पत्रकार की मौत की न्यायिक जांच कराने, हिंदुस्तान न्यूज़ पेपर के ललन पांडेय को फर्जी मुकदमे में फंसाने, पाकुड़ के दैनिक जागरण के पत्रकार पर जानलेवा हमला उनकी बाइक को तोड़ देने सहित पत्रकारों के लिए कल्याणकारी योजनाओं का सूबे में संचालन की मांगें शामिल थी।

शहरी और ग्रामीण इलाकों के तमाम पत्रकार हर चुनौतियों के बीच संघर्ष कर के खबरों के सम्प्रेषण का काम करते हैं। ऐसे में उनके लिए सूबे उत्पन्न हुआ हालात किसी तुषारापात से कम नही है।

आज के कार्यक्रम की अध्यक्षता प्रदेश अध्यक्ष डॉ रजत गुप्ता ने और संचालन संगठन के प्रदेश महासचिव शिव अग्रवाल और प्रदेश प्रवक्ता अरविंद प्रताप ने किया। इस मौके पर झारखंड यूनियन ऑफ़ जर्नलिस्ट के सपोर्ट में राष्ट्रीय सरना समिति और पूर्व केंद्रीय मंत्री सुबोध कांत सहाय भी धरने में शामिल हुए।

पूर्व केंद्रीय मंत्री सुबोधकांत सहाय ने कहा कि राज्य में पत्रकारों पर बढ़े हमलों ने सरकार की विश्वसनीयता को कठघरे में खड़ा कर दिया है। जिस राज्य में पत्रकारों को अपने हक के लिए सड़क पर उतरनी पड़ जाए उसका भगवान मालिक है।

प्रदेश अध्यक्ष रजत गुप्ता ने कहा कि सूबे में पुलिस की कार्यशैली पर कई सवाल उठ रहे हैं, पत्रकारों पर पुलिसिया जुल्म बढा है प्रदेश अध्यक्ष ने मांडर के थाना प्रभारी को लालन पांडेय मामले में आड़े हाथों लिया।

प्रदेश महासचिव शिव अग्रवाल ने कहा कि पत्रकारों की एकता अटूट है और संगठन पत्रकारहित में लड़ने को तत्पर है श्री अग्रवाल ने राजभवन के अधिकारियों के कार्य शैली पर कई सवाल खड़े किए।

इस मौके पर झारखंड के समौरन ज़िलों से लगभग एक हज़ार पत्रकार मौजूद थे। कार्यक्रम में मुख्य रूप से धन्यवाद ज्ञापन यूनियन के नवमनोनीत प्रवक्ता अरविंद प्रताप ने किया।

धरने में वरिष्ठ पत्रकार चंदन मिश्र, मुकेश भारतीय, संजय रंजन, राजेश कृष्ण, चंदन वर्मा, सुबोध कुमार, संजय समर, अमित अखौरी, ललन पांडेय, अमरनाथ पाठक, अजीत जायसवाल, प्रदीप बर्मन, जीतेंद्र कुमार, जयप्रकाश, जयंत कुमार, प्रभात जैसवाल, रूपेंद्र जैसवाल, मनोज कुमार झुन्नू, विनय कटियार, अरविंद कुमार, कैलाश यादव, प्रताप सिंह, रंगनाथ चौबे, ओमप्रकाश, अरविंद स्वर्णकार, तारकेश्वर प्रसाद, नीलू चौबे, राधेरमन चौबे, गौरी शंकर झा , दिलीप बनर्जी ,सुधीर गौरैया ,वसंत साहू ,प्रदीप अग्रवाल ,विश्व स्वरूप पन्डे ,राजेश पंड्या ,परमानंद वर्णवाल ,अरविन्द स्वर्णकार ,रणधीर निधि ,अमित साहू लोग मौजूद थे।

Share Button

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.