मुंडाजी आप मुख्यमंत्री थे तब क्या किया?

अब बरसात आ गया। बाजार में कोयले की मांग कम होने लगी है।अवैध खदानों में पानी भरने लगा है तो रामगढ प्रसासन जाबाज़ी दिखाने लगा है। ताकि भविस्य में कोई जांच एजेंसी उनकी गर्दन नहीं पकड़ने सके। लेकिन उनकी मंशा साफ़ झलक रही है। किसी भी बड़े फैक्ट्री में छापामारी नहीं हो रही है। किसी बड़े तस्कर के नाम से केस दर्ज़ नहीं हो रहा है। सब दिखावे के लिए हो रहा है। इसी बहती गंगा में अर्जुन मुंडा ने भी हाथ धो दिया। लिखकर राजनाथ सिंह को दिया है कि कोयला तस्करी हो रही है। उन्होनें तब दिया जब बरसात […]

Read more

अजब झारखंड की एक और गजब कथा !

लूट की ऐसी कहानी बहुत काम देखने सुनने को मिलती है। झारखण्ड में १४ साल के लूटतंत्र को देखेंगे तो भ्रष्टाचारी भी मात खा जाए। यहाँ ऐसी कोई सरकार नहीं बनी है जिनके हाथ लूटतंत्र में शामिल न हो। मंत्री से संत्री तक इस प्रदेश को लूटते रहे है। एक ताजा लूट की कहानी सामने आयी है जिसे राजनितिक भ्रष्टाचारी भी बाप बाप चिल्ला रहे है। एक प्लेसमेंट ऑफिस के जरिये अरबो की लूट की गयी। इस ऑफिस के जरिये ५१४ लड़को से नौकरी दिलाने के लिए पैसे लिए गए। सबको सिपाही या फिर किसी फ़ोर्स में भेजने की बात हुयी। […]

Read more

मजलूमों के सपने को साकार करने में सक्षम है राजद

बिहार प्रदेश के करोड़ों लोगों के लिए 5 जुलाई का दिन विशेष महत्व रखता है क्योंकि 1997 को आज ही के दिन उस समय के जनता दल के अनेकों वरिष्ठ साथियों के साथ मिलकर हमने गरीबों, शोषितों, दबे कुचले वर्गों एवं अकलियतों के हक़ों और अधिकारों की प्राप्ति के लिए राष्ट्रीय जनता दल की स्थापना की थी । यह कोई साधारण दिन नहीं है। इस दिन बिहार एवं देश की राजनीति की दशा एवं दिशा का कायापलट हुआ था। राष्ट्रीय जनता दल द्वारा गरीबों, शोषितो एवं आम जनमानस की भलाई के लिए किये गए संघर्ष, त्याग एवं बलिदानों के बारे में […]

Read more

धारा 498-ए : सुप्रीम कोर्ट का निर्णय बेअसर!

हमारी बहन-बेटियों को दहेज उत्पीड़न के सामाजिक अभिशाप से कानूनी तरीके से बचाने और दहेज उत्पीड़कों को कठोर सजा दिलाने के मकसद से संसद द्वारा सम्बंधित कानूनी प्रावधानों में संशोधनों के साथ भारतीय दण्ड संहिता में धारा 498-ए जोड़ी गयी थी। मगर किसी भी इकतरफा कठोर कानून की भांति इस कानून का भी प्रारम्भ से ही दुरुपयोग शुरू हो गया। जिसको लेकर कानूनविदों में लगातार विवाद रहा है और इस धारा को समाप्त या संशोधित करने की लगातार मांग की जाती रही है। इस धारा के दुरुपयोग के सम्बन्ध में समय-समय पर अनेक प्रकार की गम्भीर टिप्पणियॉं और विचार सामने आते रहे हैं। जिनमें से कुछ यहॉं प्रस्तुत हैं :- 1. 19 […]

Read more

पत्रकारिता को कलंकित करता पत्रकार !

आजकल एक अखबार का हजारीबाग ब्यूरो चीफ जो पत्रकारिता कम ठगी और दलाली का बड़ा उस्ताद है, जो काफी परेशान चल रहा है । वह हजारीबाग मे ब्यूरो चीफ कम ब्यूरो ऑफ ठग-दलाल से ज्यादा चर्चित है । उसके ठगी के शिकार लोग उसे ढूंढते फिर रहे है । यही कारण है कि उसके अखबारी कार्यालय मे प्रेस विज्ञप्ति कम तगादा करने अधिक लोग ज्यादा पहुँच रहे है। जिसके कारण वह कार्यालय आना लगभग बंद सा कर दिया है।  जब कभी पहुंचता भी है तो दुसरे कमरे मे बाहर से ताला लगवा लेता है । हालाँकि तगादा करने आने वाले लोगों […]

Read more

आखिर ये नेता क्या कहना चाहते हैं ?

 * संजय सिंह (प्रदेश प्रवक्ता, जदयू):   सुशील कुमार मोदी को शिजोफ्रेनिया है। इस बीमारी में बीमार को सोचने-समझने की क्षमता समाप्त हो जाती है। इस बीमारी की छाप भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष मंगल पांडेय पर भी है। मंगल पांडेय पागल, मवाली और सड़क छाप है। इनका इलाज रांची के पागलखाना में होना चाहिए। * गिरिराज सिंह (सांसद, भाजपा):   लालू प्रसाद और नीतीश कुमार, संता-बंता की जोड़ी हैं। नीतीश कुमार में लालू प्रसाद की आत्मा घुस गयी है। अगर जदयू के छुटभैये नेताओं ने अशोभनीय भाषा का प्रयोग करना बंद नहीं किया, तो हम उनका इलाज कोइलवर के मानसिक रोग अस्पताल में ही […]

Read more

या खुदा! इन्हें दोजख भी नसीब न करना

यह तस्वीर है हिंसाग्रस्त इराक के एक प्रांत की जहां शिया संप्रदाय से आने वाले इस मासूम बच्चे के परिजनों का कत्ल करने के बाद शुन्नी संप्रदाय के अलगाववादी आतंकी इस मासूम के कत्ल की तैयारी कर रहे हैं। अपने माथे पर चारो ओर से सटे हथियारों की नली को यह ढार्ठ वर्ष का मासूम ऐसे निहार रहा है जैसे वह कोई खिलौना हो। बाद में इराकी चरमपंथी आईएसआईएस के आतंकियों ने इस बचचे पर भी कोई रहम न कर उसकी इस तरह से बेदर्दी से हत्या कर दी, जिसे देख हैवानियत भी शर्मसार हो जाए। यूट्यूब पर इस हैवानियत की […]

Read more
1 17 18 19 20 21 32