संसद को लेकर आडवाणी व्यथित, बोले- इस्तीफा देने को मन कर रहा है

Share Button

नयी दिल्ली। लोकसभा में पिछले करीब तीन सप्ताह से जारी गतिरोध पर वरिष्ठ भाजपा नेता लालकृष्ण आडवाणी का आक्रोश आज फिर से फूट पड़ा और उन्होंने कहा कि उनका तो इस्तीफा देने का मन कर रहा है।

आडवाणी ने इसके साथ ही व्यथित स्वर में कहा कि नोटबंदी के मुद्दे पर चर्चा किए बिना यदि कल लोकसभा अनिश्चितकाल के लिए स्थगित हो गयी तो संसद हार जाएगी और हम सब की बहुत बदनामी होगी।

आडवाणी ने हंगामे के कारण सदन की कार्यवाही दिनभर के लिए स्थगित होने के बाद आक्रोश जताते हुए कुछ अन्य दलों के सदस्यों के साथ बातचीत में कहा कि उनका  मन कर रहा है कि इस्तीफा दे दूं।

न्होंने कहा कि सदन में नोटबंदी के मुद्दे पर चर्चा जरूर होनी चाहिए।  सदन के दिन भर के लिए स्थगित होने से पूर्व आडवाणी ने पहले केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी से अपनी भावनाएं साझा कीं जिन्होंने इसके बाद समीप खड़े गृह मंत्री राजनाथ सिंह से कुछ कहा। सिंह ने आडवाणी की बात तो सुनी लेकिन कोई प्रतिक्रिया देते वह नहीं दिखे। आडवाणी राजनाथ सिंह को यह कहते हुए सुने गए कि वह स्पीकर से कल सुचारू रूप से सदन चलाने और नोटबंदी पर चर्चा सुनिश्चित करने को कहें।

नोटबंदी के मुद्दे को लेकर कांग्रेस और केंद्र सरकार द्वारा एक दूसरे पर सदन में चर्चा से भागने का आरोप लगाए जाने की पृष्ठभूमि में भाजपा के वरिष्ठ नेता ने कहा कि चर्चा जरूर करें और कल चर्चा कर शांति से सदन को स्थगित कर दें। बिना किसी जीत हार के।।

 उन्होंने कहा कि सब को लगी है, हम जीतें, हम जीतें…लेकिन यदि कल भी ऐसे ही हंगामे के बीच सदन स्थगित हो गया तो संसद हार जाएगी और हम सब की बहुत बदनामी होगी।

 विमुद्रीकरण के मुद्दे पर विपक्ष और सत्ता पक्ष के सदस्यों के भारी हंगामे के कारण सदन की कार्यवाही करीब सवा 12 बजे स्थगित होने के बाद भी आडवाणी सदन में करीब 20 मिनट तक गंभीर चिंतन की मुद्रा में बैठे रहे।

सदन स्थगित होने पर तृणमूल कांग्रेस के इदरिस अली उनकी सीट पर गए और उन्हें प्रणाम किया। इस बीच विपक्ष के कुछ ओर सदस्य भी आडवाणी की सीट के पास आ गए।

मीडिया गैलरी में मौजूद पत्रकारों ने आडवाणी को इदरिस अली के साथ बातचीत में यह कहते हुए सुना कि उन्होंने गृह मंत्री राजनाथ सिंह से कहा था कि मेरा नाम लेकर लोकसभा अध्यक्ष से कहिए कि सत्ता पक्ष और कांग्रेस की ओर से किसी नेता को आज बुला लें और यह तय कर लें कि कल सदन चले।

Share Button

Relate Newss:

समलैंगिक विवाह को स्वीकारने वाला पहला देश बना आयरलैंड
‘दुर्ग’ केस में गंभीर हुये सीएम नीतीश, जोनल आईजी करेंगे विशेष जांच
सोशल मीडिया को लेकर यूं गंभीर हुये नालंदा के डीएम-एसपी
बोकारो मेें नक्सलियों ने रेल पटरी उड़ाई !
अभिनेत्री से 'अम्मा' बनी जयललिता की हालत नाजुक
समाज के लिए खतरा है ऐसे वेबसाइट-पत्रकार
मेरी लाश पर लागू होगा मोदी का कानून: ममता बनर्जी
पत्रकार बताकर अवैध वसूली करने के आरोप में 4 लोग गए जेल
.....तो 2015 के चुनाव में नहीं मांगेगें वोट :नीतिश कुमार
फूड प्लाजा को लेकर सरकार के निशाने पर बन्ना गुप्ता
वरिष्ठ पत्रकार रजनीश कुमार झा संग एक ‘गुंडा छाप’ ने की गाली-गलौज, दी सरेआम जान मारने की धमकी
मंदिर में कंडोम का प्रमोशन करने पर सनी लियोन पर हुई FIR
मशहुर टीवी जर्नलिस्ट रवीश कुमार ने लिखा- हम फ़कीर नहीं हैं कि झोला लेकर चल देंगे
रघु’राज में झारखंडी मीडिया को धिक्कार, कोई नहीं समझता बिटियों की पीड़ा
मरांडी जी ने किया था 50 करोड़ रु. माफ

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...
loading...