है कोई इस मनमानी को देखने-रोकने वाला ?

Share Button

झारखंड की राजधानी रांची शहर के नेवरी (विकास) से बरही (हजारीबाग) तक एन.एच.-33 का फोरलेनिंग का काम जारी। लेकिन हर तरफ सिर्फ मनमानी ही मनमानी । कहीं इस रोड का नक्शा बनाने में मनमानी तो कहीं रोड का नक्शा पास करने में मनमानी। कहीं भू- मकान अधिग्रहण में मनमानी तो कहीं उसके मुआवजे में मनमानी । और अब  कहीं सड़क निर्माण में मनमानी तो कहीं सड़क किनारे बिजली के खंभे गाड़ने में मनमानी। कहीं सड़क की चौड़ाई कुछ तो कहीं कुछ। कहीं सड़क से बिजली के खंभे की दूरी कुछ तो कहीं कुछ।

यदि आप इस सड़क के निर्माण कार्य का मुल्यांकण करेगें तो प्रायः हर जगह सड़क निर्माण कार्य में लगे ठेकेदार, विभागीय अधिकारी और स्थानीय प्रशासन की मनमानी ही पायेगें। कहीं कोई यह बताने वाला नहीं है कि भारत सरकार ने किस अंधे अभियंता के नक्शे के मद्देनजर भू-अर्जन का गजट जारी किया है और किस आंख वाले अभियंता के नक्शे को दिमाग में रख कर इस सड़क का फोरलेनिंग ( चौड़ीकरण ) हो रहा है। रसुखदारों के लिये आखिर किसने गजट में संशोधन कर दिया और लाचारों को जबरिया बे-घर किया जा रहा है। 

बहरहाल, उदाहरणार्थ इन चित्रों को देखिये। आप स्वंय महसूस करेंगे कि जहां का नेतृत्व स्वार्थी और मीडिया निकम्मी व बिकाऊ होते हैं , वहां ऐसे ही मनमानी का आलम नजर आते हैं।  …..मुकेश भारतीय

Share Button

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...