हाई कोर्ट ने सरकार से पूछा- MBBS छात्राओं संग पुलिस ने क्यूं की ऐसी बर्बरता

Share Button

(जबलपुर). मध्य प्रदेश हाई कोर्ट ने राज्य में पदस्थ भाजपा की शिवराज सरकार से पूछा है कि शांतिपूर्वक प्रदर्शन कर रही एमबीबीएस की छात्राओं पर नियम विरुद्ध पुरुष पुलिस कर्मियों ने बर्बरता पूर्वक क्यों खदेड़ा।

एक जनहित याचिका पर चीफ जस्टिस हेमंत गुप्ता और जस्टिस विजय शुक्ला की खंडपीठ ने सरकार को 4 सप्ताह में जवाब पेश करने के निर्देश दिए।

व्यापमं के व्हिसल ब्लोअर डॉ. आनंद राय ने याचिका दायर कर बताया कि सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बावजूद आरकेडीएफ कॉलेज के छात्रों को अन्य मेडिकल कॉलेज में स्थानांतरित नहीं किए जाने के विरोध में 19 जनवरी 2018 को छात्राओं ने प्रदर्शन किया।

प्रदर्शनकारी एमबीबीएस छात्राओं को पुरुष पुलिस कर्मियों द्वारा बाल खींचकर खदेड़ा गया और अभद्र भाषा का उपयोग किया गया।

याचिकाकर्ता की ओर से अधिवक्ता आदित्य संघी ने कहा कि पुलिस कर्मियों का यह बर्ताव दंड प्रक्रिया संहिता की धारा 46 की उप धारा 2 का खुला उल्लंघन है। इसके तहत किसी भी महिला को पुरुष पुलिस कर्मी द्वारा शारीरिक रूप से छूना या पकड़ना प्रतिबंध है।

Share Button

Relate Newss:

इधर मौत पर मातम, उधर इन्साफ पर मातम !
अन्ना- ऋषि को दीनानाथ मंगेशकर पुरस्कार
पत्रकारिता-समाज सेवा सीखनी हो तो मुजफ्फरपुर में आनंद दत्ता से सीखिए !
हे मां लक्ष्मी🙏  इस धनतेरस व दिवाली को मेरे घर मत आना✍
छाई रही बीबीसी की "निर्भया डॉक्यूमेंट्री"
मीडिया को अपने चश्मे का रंग बदलना होगा
सुशासन बाबू के कुशासित नालंदा में यूं 'कैद' हुआ जमशेदपुर का टीवी रिपोर्टर
प्रोपगंडा है मोदी की ईमानदारी और विकास का दावाः विकिलीक्स
पीएम मोदी के खिलाफ तिरंगा के अपमान का मामला दर्ज
रघु'राज में गरगा पुल से मिली जनजीवन को नई रफ्तार
PCI के आदेश पर DAVP ने जागरण,टाइम्स ऑफ इंडिया समेत इन 51 अखबारों पर की बड़ी कार्रवाई
उत्तराखंड सीएम ने पत्रकारों को बांटे ‘दिवाली बोनस’
मोदी राज के किसान क्यों कर रहे हैं आत्महत्या?
जरुरत है Brand Bihar को बेहद सशक्त करने की
दैनिक भास्कर टीम की इस ठगी को लेकर आक्रोश, उठी कार्रवाई की मांग

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...
loading...