स्पेनिश अखबार ‘लॉ रेजां’ ने भारतीय मूल के सिख लेखक को यूं बना दिया आतंकी

Share Button
Read Time:3 Minute, 26 Second

veerendraस्पेन के सबसे प्रतिष्ठित अखबार ‘लॉ रेजां’ ने कनाडा स्थित भारतीय मूल के एक सिख को पेरिस अटैक में शामिल आतंकी बता दिया। हालांकि, बाद में अखबार को जैसे ही इस गलती का पता चला तो उसने माफी मांग ली।

वीरेंदर जुबाल नाम का यह सिख एक लेखक और एक्टिविस्टा है। भारतीय मूल के जुबाल कनाडा में रहते हैं और कभी पेरिस नहीं गए।

इसके बाद भी स्पेबन के सबसे प्रतिष्ठित अखबार ने फ्रंट पेज पर उनका फोटो छापा और पेरिस हमले में शामिल बताया।

दरअसल, ‘लॉ रेजां’ ने शनिवार को कनाडा के रहने वाले सिख वीरेंदर जुबाल की तस्वीर छापी।

इसमें कैप्शन दिया गया, ‘पेरिस के हमलावरों में शामिल एक आतंकी’। यह अखबार मैड्रिड से पब्लिश होता है।

अखबार ने आगे लिखा, ‘आतंकी तीन टीमें बनाकर फ्रांस में घुसे, जिनमें से एक सीरियन रिफ्यूजी के तौर पर तुर्की पहुंचा था। आतंकियों की उम्र 15 से 18 साल के बीच है।’

हैरानी की बात यह है कि वीरेंदर की तस्वीर के साथ छेड़छाड़ कर उसे छापा गया। तस्वीर में जुबाल के हाथ में कुरान दिखाई दे रही है और पीठ पर सुसाइड जैकेट बंधी हुई दिख रही है।

फोटो में कुरान और सुसाइड जैकेट को फोटोशॉप के जरिये डाला गया है।

आपको जानकर हैरानी होगी कि जुबाल के हाथ में आईपैड था, जिसे फोटोशॉप के जरिए कुरान बना दिया गया।

हालांकि, बाद में अखबार को समझ आ गया कि उसे गलत जानकारी मिली है और उसने माफी भी मांगी।

वीरेंदर जुबाल को आतंकी बताने वाली झूठी खबर को सोशल मीडिया पर वायरल हो गई थी। कई वेबसाइट्स ने भी इस खबर को पोस्ट किया।

वैसे जुबाल खुद सोशल मीडिया पर काफी सक्रिय हैं। टि्वटर पर उनके करीब 10,000 फॉलोअर्स हैं।

जैसे ही वीरेंदर की यह तस्वीर वायरल हुई तो उन्होने अपनी ओरिजिनल फोटो सोशल साइट्स पर डालीं।

जुबाल ने लिखा कि उनका पेरिस आतंकी हमलों से कुछ भी लेना-देना नहीं है।

उन्होंहने इस संबंध में एक अन्य ट्वीट में कहा, ‘फोटोशॉप इमेज के कारण मैं वायरल हो गया, इसमें मुझे आतंकवादी बताया जा रहा है।’

उन्होंने आगे लिखा, ‘मेरी यह तस्वीर स्पेन के एक बड़े अखबार में छपी है, जिसमें मुझे पेरिस हमले में शामिल आतंकी बताया गया है।’

वैसे स्पेनिश अखबार ने जुबाल से टि्वटर पर माफी मांग ली है, लेकिन उनसे संबंधित यह खबर इटली समेत कई यूरोपियन साइट्स पर अब भी चल रही है।

0 0
Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleppy
Sleppy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %
Share Button

Relate Newss:

पिंजड़ा बंद हुआ 'तोता', मधु कोड़ा कुनबा को मिला 'क्लीन चिट'
सुनियोजित प्रतीत होता है जंतर-मंतर का हादसा
यहां टेंडर मैनेज कराने वाले सीएम क्या रोकेगें भ्रष्टाचार : बाबू लाल मरांडी
संजीत के ऐसी ‘संदिग्ध मौत’ के बाद बाइलाइन छापने वाला दैनिक प्रभात खबर ने नहीं माना पत्रकार
आरक्षित वर्गो के गले की हड्डी ना बन जाये यह निर्णय
राहुल गांधी ने टटोली झारखंड में राजनीति की नब्ज
......तो अब दारु छोड़ देंगे भड़ास वाले यशवंत !
शिव सेना का पोस्टर अटैक, मोदी को बताया ढोंगी
अरविंद केजरीवाल की ईमानदारी पर NDTV के रवीश का जवाब
ब्‍वॉयफ्रेंड बंटी सचदेवा के साथ फिर देखी गई सोनाक्षी सिन्‍हा !
रांची पुलिस की गुंडई, देखिये फोटोग्राफर के बाईक को कैसे तोड़ा!
यहां होगी दो सौतन रानी के बीच चुनावी जंग
रघुवर सरकार से बिल्कुल मायूस  हूं, अफसरों की चल रही मनमानी
भाजपा सांसद गिरिराज सिंह गायब, नवादा के चौक-चौराहे पर चिपके पोस्टर
स्मृति ईरानी की शिक्षा लीक करने वाले 5 डीयूकर्मी निलंबित
झारखंडी आदिवासी का असली दुश्मन
पूर्व मुखिया ने दो पत्रकार को स्कार्पियो से रौंद कर मार डाला
जर्नलिस्ट रवीश कुमार को मिला 'रैमॉन मैगसेसे' अवार्ड’2019
हाँ मैं झारखण्ड हूँ
अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा का कठिन जापान दौरा
मौजूदा पत्रकारिता के दौर में खोजी खबरों का खेल
सिद्धू ने हमारे साथ बड़ा धोखा किया :स्टार इंडिया
63 साल में नहीं हुआ, मोदी जी ने 2 साल में कर दिखाया : नरेन्द्र सिंह तोमर
हे आर्य, तेनु काला चसमा सजदा हे देव जँचता जी रुखड़े मुखड़े पे
सूचनायुक्तों की बहाली प्रक्रिया को जान बूझ लटका रखी है रघुबर सरकार

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...