सीएम रघुबर सा वेदर्द हाकिम हो तो पत्रकार क्या करे ?

Share Button

cm_engineerरांची से प्रकाशित हिन्दी दैनिक जागरण के प्रेस फोटोग्राफर मनोरंजन सिंह अपने उपर हुए जानलेवा हमले और गंभीर मारपीट की घटना के बाद पिछले एक सप्ताह से काफी सदमे में हैं। पिछले दिन उन्होंने मामले के जनक आरोपी अभियंता औऱ सीएम रघुवर दास के एक सरकारी वृक्षारोपण कार्यक्रम में साथ ताजा फोटो का प्रकाशन देखा है, उनकी चिंता और भी बढ़ गई गई है।

उल्लेखनीय है कि  भवन निर्माण विभाग विशेष कार्यप्रमंडल, रांची के कार्यपालक अभियंता प्रदीप कुमार सिंह एवं ठेकेदार सुनील पांडेय समेत उसके कई गुर्गो ने प्रेस फोटोग्राफर मनोरंजन सिंह की जम कर पिटाई कर दी। मनोरंजन अभियंता प्रदीप सिंह के कार्यालय में हो रहे टेंडर प्रक्रिया की तस्वीर लेने पहुंचा था।

इस घटना के बाद रांची के युवा पत्रकार आंदोलित हो उठे। इसके बाद इस पूरे मामले की मुख्‍यमंत्री रघुवर दास ने स्वंय जांच के आदेश दिये। उन्‍होंने कमीश्‍नर खंडेलवाल को 24 घंटे के अंदर जाच रिपोर्ट पेश करने का निर्देश दिया था।

सीएम ने आश्‍वासन दिया था कि दोषी लोगों के खिलाफ त्‍वरित सख्‍त कार्रवाई की जाएगी। लेकिन अब तक न तो कोई उच्चस्तरीय जांच की गई है औऱ न ही दोषियों के खिलाफ ठोस कार्रवाई के संकेत मिल रहे हैं। उल्टे दर्ज मामले के एक प्रमुख आरोपी अभियंता प्रदीप कुमार सिंह सीएम रघुवर दास के सरकारी कार्यक्रमों में बढ़-चढ़ कर हिस्सा लेते नजर आ रहे हैं।

manoranjanआज घटना के एक सप्ताह बाद राजनामा.कॉम के संपादक मुकेश भारतीय ने दैनिक जागरण के पीड़ित प्रेस फोटोग्राफर मनोरंजन सिंह से बातचीत की। बातचीत के दौरान कई तत्थ उभर कर सामने आए। उन तत्थों के आलोक में मन-मस्तिष्क में मात्र यही सबाल उठता है कि जब वेदर्द हाकिम हो तो फरियाद कहां करे। आज कल मीडिया हाउसों में जो आलम है, उसे देख कर यह नहीं लगता कि उसके आला करींदे ऐसी अमानवीय घटना के विरोध में सीएम और उनसे जुड़ी सरकारी कार्यक्रमों का वहिष्कार कर दे ताकि हर तरफ संदेश गहरी जाए।

बातचीत में मनोरंजन सिंह ने कहा कि उनके जान को खतरा है। उनके साथ कभी भी कुछ भी हो सकता है। उत्तर प्रदेश के बाद मध्य प्रदेश की घटना ने तो उसे अंदर तक डरा दिया है। उन्हें अब भी परोक्ष-अपरोक्ष रुप से तरह-तरह की धमकियां मिल रही है। आरोपी अभियंता-अधिकारी दबंग ठेकेदारों के पोषक हैं। वे एक अदद प्रेसकर्मी की पीड़ा को भी कुचलने का हरसंभव प्रयास करेगें।

इस घटना में मनोरंजन सिंह ने अपने उपर हुए हमले में वर्तमान एसडीओ अमित कुमार और उनके ठेकेदार भाई विनित कुमार का भी नाम लिया था। उन दोनों पर भी कोई कार्रवाई होने की बू तक नहीं आ रही है।

Share Button

Relate Newss:

ABC ने समाचार पत्र-पत्रिकाओं भेजे ये कड़े निर्देश
‘मधु कोड़ा लूट राज’ के हवाला कारोबारी को कोर्ट ने दिलाई चप्पल
डिजीटल ‘वायर' में फंसे भाजपा के 'शाह'
अर्नब गोस्वामी पर 500 करोड़ के मानहानि का दावा
रिपोर्टिंग के दौरान ट्रॉमा के ख़तरे से बचने के लिए कुछ परामर्श
इधर आमरण अनशन पर बैठे पत्रकार की हालत बिगड़ी, उधर राजनीति करने में जुटी पुलिस-संगठन
एडीएम ने महिला सहायक को फेसबुक-ईमेल से लगातार भेजे अश्लील फोटो, FIR दर्ज
शुक्राचार्य जायेंगे जेल, आयकर विभाग ने कसा शिकंजा
शत्रुघ्न सिन्हा का चुनाव प्रचार से दूर रखने का छलका का दर्द
प्रेस क्लब रांची के नवांतुकों पर अतीत से सीख भविष्य संवारने की बड़ी जिम्मेवारी
अपनी राख से जी उठने वाला फीनिक्स पक्षी हैं लालू !
हत्यारा या शाजिश के शिकार हैं एनोस एक्का
मैं न होता तो बिपीन मिश्रा रात में ही टपक जाताः श्वेताभ सुमन
कोल ब्लॉक घोटाला: जिंदल व कोड़ा समेत सबको जमानत !
सीएनटी-एसपीटी में संशोधन पर पुनर्विचार करेगी भाजपा !

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...
loading...