सीएम रघुबर सा वेदर्द हाकिम हो तो पत्रकार क्या करे ?

Share Button
Read Time:1 Second

cm_engineerरांची से प्रकाशित हिन्दी दैनिक जागरण के प्रेस फोटोग्राफर मनोरंजन सिंह अपने उपर हुए जानलेवा हमले और गंभीर मारपीट की घटना के बाद पिछले एक सप्ताह से काफी सदमे में हैं। पिछले दिन उन्होंने मामले के जनक आरोपी अभियंता औऱ सीएम रघुवर दास के एक सरकारी वृक्षारोपण कार्यक्रम में साथ ताजा फोटो का प्रकाशन देखा है, उनकी चिंता और भी बढ़ गई गई है।

उल्लेखनीय है कि  भवन निर्माण विभाग विशेष कार्यप्रमंडल, रांची के कार्यपालक अभियंता प्रदीप कुमार सिंह एवं ठेकेदार सुनील पांडेय समेत उसके कई गुर्गो ने प्रेस फोटोग्राफर मनोरंजन सिंह की जम कर पिटाई कर दी। मनोरंजन अभियंता प्रदीप सिंह के कार्यालय में हो रहे टेंडर प्रक्रिया की तस्वीर लेने पहुंचा था।

इस घटना के बाद रांची के युवा पत्रकार आंदोलित हो उठे। इसके बाद इस पूरे मामले की मुख्‍यमंत्री रघुवर दास ने स्वंय जांच के आदेश दिये। उन्‍होंने कमीश्‍नर खंडेलवाल को 24 घंटे के अंदर जाच रिपोर्ट पेश करने का निर्देश दिया था।

सीएम ने आश्‍वासन दिया था कि दोषी लोगों के खिलाफ त्‍वरित सख्‍त कार्रवाई की जाएगी। लेकिन अब तक न तो कोई उच्चस्तरीय जांच की गई है औऱ न ही दोषियों के खिलाफ ठोस कार्रवाई के संकेत मिल रहे हैं। उल्टे दर्ज मामले के एक प्रमुख आरोपी अभियंता प्रदीप कुमार सिंह सीएम रघुवर दास के सरकारी कार्यक्रमों में बढ़-चढ़ कर हिस्सा लेते नजर आ रहे हैं।

manoranjanआज घटना के एक सप्ताह बाद राजनामा.कॉम के संपादक मुकेश भारतीय ने दैनिक जागरण के पीड़ित प्रेस फोटोग्राफर मनोरंजन सिंह से बातचीत की। बातचीत के दौरान कई तत्थ उभर कर सामने आए। उन तत्थों के आलोक में मन-मस्तिष्क में मात्र यही सबाल उठता है कि जब वेदर्द हाकिम हो तो फरियाद कहां करे। आज कल मीडिया हाउसों में जो आलम है, उसे देख कर यह नहीं लगता कि उसके आला करींदे ऐसी अमानवीय घटना के विरोध में सीएम और उनसे जुड़ी सरकारी कार्यक्रमों का वहिष्कार कर दे ताकि हर तरफ संदेश गहरी जाए।

बातचीत में मनोरंजन सिंह ने कहा कि उनके जान को खतरा है। उनके साथ कभी भी कुछ भी हो सकता है। उत्तर प्रदेश के बाद मध्य प्रदेश की घटना ने तो उसे अंदर तक डरा दिया है। उन्हें अब भी परोक्ष-अपरोक्ष रुप से तरह-तरह की धमकियां मिल रही है। आरोपी अभियंता-अधिकारी दबंग ठेकेदारों के पोषक हैं। वे एक अदद प्रेसकर्मी की पीड़ा को भी कुचलने का हरसंभव प्रयास करेगें।

इस घटना में मनोरंजन सिंह ने अपने उपर हुए हमले में वर्तमान एसडीओ अमित कुमार और उनके ठेकेदार भाई विनित कुमार का भी नाम लिया था। उन दोनों पर भी कोई कार्रवाई होने की बू तक नहीं आ रही है।

0 0
Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleppy
Sleppy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %
Share Button

Relate Newss:

रिटायर्ड फौजी को ब्लैकमेल करने के आरोप में टाइम्स नाऊ और सहारा समय का स्ट्रिंगर धराया, एएनआई का स्ट्...
गुजराती मोदी को बिहारी मोदी पर नहीं है भरोसा ?
अंततः सरायकेला पुलिस ने पत्रकार वीरेंद्र मंडल को जेल में डाल ही दिया !
जमशेदपुर प्रेस क्लब का चुनाव हास्यास्पद ,बली का बकरा बने श्रीनिवास
टीएन शेषण के निधन की उड़ी अफवाह, 2 केन्द्रीय मंत्री ने दे डाली श्रद्धांजलि  
पीएम के ‘मन की बात' के जवाब में राजद का ‘काम की बात' !
कहाँ से लावुं मैं हाथी का अंडा ?
इस प्रक्रिया से अखबार की आड़ में अब नहीं चलेगा गोरखधंधा
IANS न्यूज एजेंसी  ने जारी न्यूज में नरेंद्र मोदी को ‘बकचोद’ लिखा, गई कइयों की नौकरी
'ईटीवी' की रिलाचिंग की तैयारी, 'ईटीवी भारत' होगा सेटेलाइट चैनल
ईटीवी ग्रुप ने लॉन्‍च किए चार नए मनोरंजन चैनल
राजगीर एसडीओ की यह लापरवाही या मिलीभगत? है फौरिक जांच का विषय
'साहित्य सम्मेलन शताब्दी समारोह' में सम्मानित हुए साहित्यकार मुकेश 
जरुरी है पत्रकार वीरेन्द्र मडंल से जुड़े मामलों की उच्चस्तरीय जांच
पीटीआई और भाषा में हर साल करोड़ों का घपला !
मुख्यमंत्री जनसंवाद 181 ने भी नहीं ली इस अमानवीयता की सुध !
जुबान नही,कलम बोलनी चाहिए पत्रकार की
प्रभात खबर के आरा ब्यूरो चीफ के तबादले पर सुप्रीम कोर्ट की रोक
स्वंय प्रकाश सरीखे चरणपोछु संपादक हो सकते हैं, पत्रकार नहीं
दिव्यांग के हिम्मत के बल धराए एटीएम कार्ड उडाने वाले गिरोह के दो अपराधी
कोल ब्लॉक घोटाला: जिंदल व कोड़ा समेत सबको जमानत !

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...
mgid.com, 259359, DIRECT, d4c29acad76ce94f
Close
error: Content is protected ! www.raznama.com: मीडिया पर नज़र, सबकी खबर।