साधना न्यूज़ के बंद ऑफिस में मिली सगे भाई की लाश, बकाया राशि मांगने पर हत्या की आशंका

Share Button

“झारखंड की राजधानी रांची की मीडया से जुड़ी एक बड़ी अपराधिक घटना सामने आई है।  यहां साधना न्यूज नामक एक निजी न्यूज़ चैनल के ऑफिस में मिली दो सगे भाइयों की लाश मिली है। दोनों की हत्या की बात सामने आ रही है……”

एक्सपर्ट मीडिया न्यूज। झारखंड की राजधानी रांची के वीआईपी ईलाके अशोक नगर स्थित साधना निजी न्यूज़ चैनल के ऑफिस में दो लाश मिली है।

बताया जा रहा है कि यह लाश लापता दो सगे भाइयों की है। रांची के ही एक बंद पड़े न्यूज चैनल के दफ्तर से शव बरामद किया गया है। विश्वस्त सूत्रों के अनुसार इस बंद चैनल को लांच करने के पिछे दो टीवी जर्नलिस्ट का हाथ रहा है। इसका सूत्रधार कोई लोकेश चौधरी बताया जा रहा है।

 इस न्यूज चैनल का ऑफिस अशोक नगर में है। शव मिलने की सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंच गई है। 

बताया जा रहा है कि दोनों भाई धनबाद के रहने वाले हैं। दोनों कल से लापता थे। जिनके लापता का मामला भी थाने में दर्ज कराया गया था।

दोनों आपस में सगे भाई हैं और उनका नाम है महेंद्र और हेमंत अग्रवाल है। इधर, सूचना मिलते ही एसपी, डीएसपी दल बल के साथ मौके पर पहुंच चुके हैं।

दो भाई महेंद्र अग्रवाल और हेमन्त अग्रवाल की हत्या किए जाने की बात सामने आ रही है। कहा जाता है कि साधना न्यूज चैनल के इस बंद ऑफिस में बकाया पैसा मांगने आए थे। इधर ऑफिस के सारे कर्मचारी घटना के बाद फरार हो गए हैं।

मौके पर सिटी एसपी, सिटी डीएसपी, हटिया डीएसपी मौके पर मौजूद हैं। कल शाम से दोनो भाई गायब था।

Share Button

Relate Newss:

महागठबंधन के हाथों मिली करारी हार के बाद ब्रिटेन में लगे पोस्टर 'मोदी नॉट वेलकम '
देखिए आज तक की डिस्क्लेमर हद, रिजल्ट पूर्व नीतिश-मोदी के विजयी भाषण तक गढ़ डाले
नीतीश-लालू का खूंटा उखाड़ने के फेर में दांव लगे मोदी
एक अनुबंधित शिक्षिका के बपौती रौब ने समूचे माहौल को गंदा कर डाला
राजस्थान पत्रिका समूह के सलाहकार संपादक बने ओम थानवी
मौजूदा पत्रकारिता के दौर में खोजी खबरों का खेल
सितंबर-अक्तूबर के महीने में होंगे बिहार विधानसभा चुनाव
स्वायतत्ता की बात करने वाले शायद अपरिपक्व हैं !
नई दिल्ली डीएवीपी और पटना सूचना जनसम्पर्क विभाग के अफसर अरेस्ट होंगे!
झारखंड में अब भाजपा का रघुवर'राज
अमृता के डांस कांसेप्ट से वेडिंग और कार्पोरेट इवेंट्स में मस्ती का डबल डोज
नालंदाः मदरसे में लड़कियों की प्रवेश-पढ़ाई पर तालिबानी रोक !
भुमिहारों को बेवकूफ़ बना रही है भाजपा
बिहार डीजीपी से सीधी बात के बाद पीड़ित पत्रकार ने यूं तोड़ा आमरण अनशन
जब डॉ. मिश्र ने महज इंदिरा जी को खुश करने के लिए इस बिल से देश में मचा दिया था तूफान

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...
loading...