समूचे बिहार में जारी है शराब रैकेट, सीएम का गृह जिला नालंदा अव्वल !

Share Button

नालंदा(जयप्रकाश नवीन )। सीएम नीतीश कुमार ने बिहार विधानसभा चुनाव से पहले एक ऐतिहासिक चुनावी वादा किया था, जब उनकी फिर से सरकार बनेगी तो बिहार में शराब की बिक्री पर बैन लगेगा। यानि पूर्ण शराब बंदी की घोषणा की थी। नीतीश कुमार एक बार फिर सीएम बनें और उन्होंने सता संभालते ही छह महीने में पूर्ण शराब बंदी की घोषणा 5 अप्रैल 2016 को की थी। तब से बिहार मे पूर्ण शराब बंदी कानून लागू है। देशी -विदेशी शराब की सभी दुकानों पर ताला लटका हुआ है। यहां तक कि गांव देहात में मिलने वाली देसी ठरे पर भी पुलिस की ताबड तोड़ छापेमारी चल रही है।

भले ही राज्य में शराब पर बैन हो लेकिन शराब बिकनी बंद नहीं हुई है। आए दिन राज्य में शराब पकड़े जाने की खबर मिल रही है। लेकिन सबसे ज्यादा शराब पकड़े जाने का सिलसिला नालंदा में जारी है। यहां झारखंड के अलावा हरियाणा से भी शराब की खेप आ रही है।

सीएम नीतीश कुमार के गृह जिला नालंदा की हाल पुछें तो यहां शराब की बहार है। जिले के दीपनगर, इस्लाम पुर, सरमेरा, हिलसा,  थरथरी, नगरनौसा, चंडी सहित कई थाना क्षेत्र में शराब मिलने का सिलसिला जारी है। इसी कड़ी में नालंदा पुलिस को क्रिसमस की रात एक बड़ी कामयाबी हाथ लगी। पुलिस ने एक ट्रक से 121कार्टन में 2052 शराब की बोतल बरामद की। पुलिस ने एक बोलेरो वाहन के साथ चार लोगों को गिरफ्तार भी किया। यह ट्रक हरियाणा से शराब की एक बड़ी खेप लेकर आ रही थी।बची शराब को नालंदा के कई धंधेबाजो को मुहैया कराना था। इससे पहले ही पुलिस ने उनके मंसूबे पर पानी फेर डाला।

नालंदा के भागनविगहा ओपी पुलिस को एक गुप्त सूचना मिलती है कि झारखंड से चली एक ट्रक (HR-38J88157) हरियाणा से शराब लेकर नालंदा जा रही है। थानाध्यक्ष विंध्याचंद ने इसकी सूचना एसपी को दी। एसपी के निर्देश पर एसटीएफ टीम का गठन किया गया। पुलिस ने एनएच 31 रहूई के पतासंग टाटा मोटर्स के पास ट्रक को पकड़ने के लिए जाल बिछाया।

पुलिस को मिली सूचना पर उस समय मुहर लगा दिखा जब उक्त नम्बर का ट्रक आता दिख गया। पुलिस ने राहगीर बन उस ट्रक को रूकवाया। पुलिस ने जब उस ट्रक की तलाशी ली तो कार्टन में रखी शराब मिली। पुलिस ने ट्रक को अपने कब्जे में ले लिया। पुलिस ने कोडरमा निवासी ट्रक चालक प्रभात प्रकाश तिवारी के साथ रहूई के रौशन कुमार को गिरफ्तार किया। गिरफ्तार लोगों की निशानदेही पर कोडरमा के ही अखिलेश कुमार तथा राकेश कुमार को बोलेरो वाहन के साथ गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की।

पुलिस ने ट्रक से 121 कार्टन में रखी 2054 शराब की बोतल बरामद की, जिनमें 750 एमएल के 91 कार्टन, 375 एमएल के 20 तथा 180 एमएल के 10 कार्टन शराब शामिल थी।

नालंदा में इतनी बड़ी शराब बरामदगी का यह कोई पहला मामला नहीं है। इससे पहले भी शराब बरामद होती रही है और हो भी रही है। नालंदा के प्रायः इलाकों में चोरी-छिपे शराब मिल भी रहा है। यहां तक कि चंडी के एक लाइन होटल में भी शराब आसानी से उपलब्ध हो जाती है।

कहने को तो शराब बैन है, लेकिन यह कैसी पाबंदी कि शराब बाईक के माध्यम से लेकर होम डिलेवरी तक हो जाती है। यह अलग बात है कि शराब की बोतल 1200 से लेकर 1600 रूपये तक मिल रही है। कहीं  राज्य में पूर्ण शराब बंदी कानून एक सपना न रह जाए।

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *