शर्मनाकः नालंदा में रिपोर्टरों के पैसे लेते वीडियो वायरल, बौखलाए दलालों ने रजनीश को पीटा

Share Button

एक्सपर्ट मीडिया न्यूज नेटवर्क।  बिहार के नालंदा  जिले में मीडिया को शर्मसार करता एक वीडियो वायरल हुआ है। जिसमें नालंदा के कुछ पत्रकारों के द्वारा पैसे लेते दिखाया जा रहा है।

इस वायरल वीडियो से गुस्साए पत्रकारों के एक गुट ने एक पत्रकार को पीटा और उसके साथ गाली-गलौज करते हुए खूब डराया तथा देख लेने की धमकी तक दे डाली।

इस वायरल वीडियो की चर्चा पूरे जिले में चल रही है। बुद्धिजीवी वर्ग इस घटना की निंदा कर रहे हैं।

वायरल वीडियो के संबंध में बताया जा रहा है कि नालंदा के पत्रकार रजनीश किरण पिछले कई माह से सोशल मीडिया पर जिले के कुछ पत्रकारों द्वारा आए दिन खबर के नाम पर पैसे ऐठनें का खुलासा करते आ रहे है।

इसी खबर को पुख्ता सबूत देने के लिए उन्होंने एक व्यक्ति से पैसे लेते हुए पत्रकारों का ही ‘स्टिंग’ कर दिया। उन्होंने इस वीडियो को सोशल साइट पर डाल दिया। जिसमें साफ दिख रहा है कि जिले के कई पत्रकारों को एक व्यक्ति पैसे दे रहा है।

पत्रकारों में खड़ा एक लिस्ट पढ़कर नाम लेता है, उसके बाद कुर्सी पर बैठा व्यक्ति पत्रकारों को पांच सौ,  हजार रूपये  देते दिख रहा है। वीडियो वायल होते ही खलबली सी मच गई।

अपनी पोल खुलता देख पत्रकारों का एक गुट गुस्से में आ गया। वीडियो वायरल करने वाले पत्रकार रजनीश किरण के साथ दुर्व्यवहार तथा मारपीट की। इतना ही नहीं उन्हें गाली-गलौज करते हुए देख लेने की भी धमकी दी।

पत्रकारों के दबंगई से डरे सहमे पीड़ित पत्रकार रजनीश किरण ने फिलहाल इस घटना की शिकायत कहीं दर्ज नहीं करायी है। लेकिन उनके साथ रहे एक इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के पत्रकार ने इसकी सूचना नालंदा एसपी को दी है। जिसमें एसपी ने मामले की जांच का आश्वासन दिया है।

वैसे देखा जाए तो वर्तमान में पत्रकारिता संक्रमण के दौर से गुजर रही है। पत्रकारिता के मापदंड खत्म हो चुके हैं। लोग अमर्यादित पत्रकारिता कर रहे है। साथ ही देशहित समाज हित सर्वोपरि की अवधारणा खत्म होकर अब जेब हित की पत्रकारिता हो चली है।

साथ ही संगठनात्मक संरक्षण में पलते ब्लेकमेलर भी पत्रकार कहलाने लगे हैं। बिना किसी मापदण्ड के चल रहे इस धंधे में (जी हाँ इसे अब धंधा ही कहना पड़ेगा) उतरना हर किसी के लिए आसान हो गया है।

फिलहाल नालंदा की यह वायरल वीडियो बहुत कुछ कहती है। लगता है कि आजकल कुछ लोग पत्रकारिता पेशे में घुसपैठ सिर्फ भया दोहन कर सिर्फ रुपया कमाने की नियत से कर रहे हैं।

ऐसे लोगों को पत्रकारिता के उद्देश से कोई मतलब नहीं है। ऐसे लोगों की वजह से ही ईमानदार पत्रकार भी लपेटे में आ जा रहे हैं। लोगों का मीडिया पर से विश्वास उठता जा रहा है।

देखिए वायरल वीडियो….

Share Button

Relate Newss:

भला-चंगा आदमी अस्पताल में भर्ती होकर खबर छपवा लिया !
बाहुबली डीपी यादव की पटना में है करोड़ों की संपत्ति
बिहार के पूर्व गवर्नर के बेटे ने मुंबई में खरीदी 100 करोड़ की प्रॉपर्टी
'इकोनॉमिस्ट' ने नोटबंदी को बताया अधकचरा कदम
कोल्हान में फर्जी पत्रकारों की बाढ़, यूं एक और सरगना आया सामने!
बेतुके नहीं, बेहुदे हैं बिहार के सीएम जीतन राम मांझी के ऐसे बयान !
पत्रकार सुरक्षा कानून एवं आवास योजना की आवाज लोकसभा में उठायेंगे गिलुवा
हिंदी पायनियर का हालः न नियुक्ति पत्र न सेलरी स्लिप!
रांची मीडिया कप में दिखी दैनिक भास्कर टीम की दबंगई
फेकऑफ से पता लगाएं कि फेसबुक पर हैं आपके कितने फर्जी दोस्त
अश्लील चुटकुलों से अजीज, अब शुगली-जुगली के नाम से जाने जाएंगे संता बंता
जो जितना बड़ा चोर, उतना बड़ा सीनाजोर
रघुवर सरकार में मंत्री बने शमरेश सिंह के बौराये 'बाउरी ' !
अखबारों और चैनलों के सीले होठ और चूं-चूं का मुरब्बा बना झारखंड सीएम जनसंवाद केन्द्र
तेजस्वी यादव ने फेसबुक पर लिखा- बिहार में है थू-शासन

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...
loading...