शराब बंदी के बाद गांजा के धुएं में उड़ता बिहार

Share Button
Read Time:3 Minute, 19 Second

पटना। अप्रैल, 2016 में बिहार मे लागू हुई पूर्ण शराबबंदी के बाद स्‍मगलर्स की चांदी हो गई है। स्‍मगल कर दूसरे प्रांतों से लाई जा रही शराब की बोतलों की होम डिलेवरी तो मुंहमांगी कीमत पर चल ही रही है। इस बीच चौंकाने वाल खबर यह आ रही है कि शराबबंदी के कारण अवैध रुप से बिहार में बिकने वाले गांजा की कीमत भी बिहार में दोगुनी हो गई है।

गांजा की कीमत बिहार में डबल होने की जानकारी नारकोटिक्‍स कंट्रोल ब्‍यूरो (एनसीबी) को तब मिली, जब सर्विलांस पर लिए गए फोन पर गांजा का कारोबार करने वाले ने ताजा भाव बताया।
एनसीबी के बिहार व झारखंड के जोनल डायरेक्‍टर त्रिलोक नाथ सिंह मानते हैं कि बिहार में स्‍मगलर्स अभी गांजा की कीमत 7 हजार रुपये प्रति किलो लगा रहे हैं, जबकि यह भाव अगस्‍त माह तक 4 हजार रुपये प्रति किलो के आसपास था। पिछले साल तक तस्‍कर 2500 रुपये से 3000 रुपये प्रतिकिलो तक बेच रहे थे।

ganja1एनसीबी मानता है कि इधर के दिनों में शराबबंदी के बाद बिहार में गांजा की मांग बढ़ी है। फिर, ब्‍यूरो ने गांजा के कारोबार में लगे गिरोहों के धर-पकड़ की कार्रवाई बुहत तेज की है, इसलिए भी कीमत बढ़ गई है।

ganjaगांजा की खेती और व्‍यापार पूरे भारत में बैन है। फिर भी तस्‍कर में लगे गिरोह अभी उड़ीसा में इसे करीब 3500 रुपये प्रति किलो की दर से बेच रहे हैं।

नार्थ-ईस्‍ट के प्रदेशों में भाव 2500-3000 रुपये किलो का है। पश्चिम बंगाल में पिछले माह तक यह 4 हजार रुपये किलो बिकता रहा है।

एनआरबी यह भी दावा करता है कि भाव भले बढ़ गये हों, पर पिछले कुछ महीनों में बिहार में ड्रग और गांजा के अवैध कारोबार को रोकने में लगी सभी एजेंसियों ने अच्‍छा काम किया है। कई कामयाबी मिली है। कुछेक बड़े स्‍मगलर्स का खेप पकड़ा गया है। रोकथाम में लगी एजेंसियों में एनसीबी के साथ एसएसबी, बिहार की पुलिस, आर्थिक अपराध इकाई और डायरेक्‍ट्रेट आफ इंटेलीजेंस ब्‍यूरो (डीआआई) भी काम करता है।

सभी एजेंसियों में बेहतर समन्‍वय को बिहार के चीफ सेक्रेट्री अंजनी कुमार सिंह और डीजीपी पी के ठाकुर ने सोमवार को बैठक भी की थी। इसमें राज्‍य की पुलिस से कहा गया है कि वह गांजा की खेती को रोकने को कारगर कदम उठाए। गांजा की खेती अगले माह नवंबर में शुरु होती है। (साभारः लाइव पटना)

0 0
Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleppy
Sleppy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %
Share Button

Relate Newss:

सियासी सादगी का कोई आठवां अजूबा नहीं हैं केजरीवाल
पल्सर पल्सर पल्सर और पल्सर...
बसपा के अभद्र नारों की हो रही चौरतफ़ा आलोचना
खरमास के बाद भोंपू लेकर लालू बताएंगे भाजपा-आरएसएस का सच
रांची से शुरु हुआ मानवता को समर्पित “पा लो ना” अभियान
वरिष्ठ पत्रकार अरुण साथी सड़क हादसे में गंभीर रूप से जख्मी
WCH ropes in Star Cricketer as the Brand Ambassador
अब नहीं बचेंगे राजगीर मलमास मेला सैरात भूमि के अतिक्रमणकारी, मुक्त कराने की कार्रवाई शुरु
पटना बम ब्लास्ट को लेकर दोहरा मापदंड दिखा रही है बिहारी मीडिया
12 को उद्घाटित होगा ‘खबर मंथन’, विनायक विजेता होंगे प्रधान संपादक
नीतीश ने अपने फेसबुक का कवर पेज ब्लैक किया
भारतीय होने पर नाज, नहीं चाहिए किसी से देशभक्ति का सर्टिफिकेट :आमिर खान
मोदी राज में उद्योगपतियों के आए अच्छे दिन :अन्ना हजारे
हिलसा के एसडीओ अजीत कुमार सिंह ने न्याय को यूं नंगा कर दिया
मइया खर जितिया कइले हलो बप्पा, बच गइलियो
वरिष्ठ पत्रकार कृष्ण बिहारी मिश्र पर FIR को लेकर फेसबुक पर कड़ा विरोध जारी
दैनिक जागरण के पटना इनपुट और स्टेट हेड का तबादला, कई अन्य भी हुए इधर-उधर
सेलरी नहीं मिलने से क्षुब्ध ड्राइवर ने  'इंडिया न्यूज' चैनल के मालिक को 'ठोंक' दिया !
देखिए गुमला में पुलिस,पत्रकार,नौकरशाह की नंगई !
यहां होगी दो सौतन रानी के बीच चुनावी जंग
किशनगंजः निगरानी जांच में 6 शिक्षकों पर फर्जीवाड़े की पुष्टि
ओम थानवी बने केजरीवाल सरकार विज्ञापन निरानी समिति के अध्यक्ष
मुंडा’काज हो या ‘रघु’राज, नहीं बदल रहे वन विभाग के भ्रष्ट'साज !
अर्थव्यवस्था में नकदी भ्रष्टाचार और कालेधन का बड़ा स्रोत : पीएम मोदी
शाहरुख खान विज्ञापन वाली फेयर हैंडसम क्रीम कंपनी पर 15 लाख का जुर्माना

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...