विधायक अमित महतो ने फेसबुक पर निकाली जर्जर सड़क की खीज

Share Button

रांची (मुकेश भारतीय)। वेशक खराब सड़कें किसी भी क्षेत्र के विकास में सबसे बड़ी बाधा है। आम जनता अपने जनप्रतिनिधियों से उम्मीद रखती है कि वे उनकी इस समस्या से जल्द निजात दिलाएं। कुछ जनप्रतिनिधि जनता के दर्द के प्रति वेदर्द हो जाते हैं तो कुछ संवेदनशील। इस दिशा में सरकार का दोहरा मापदंड नैतिकता की कसौटी पर कभी खरा नहीं उतर सकता।

इन दिनों राजधानी रांची से सटे सिल्ली विधानसभा क्षेत्र के झामुमो विधायक अमित कुमार महतो अपने फेसबुक वाल पर जिस तरह की पीड़ा उकेर रहे हैं, वह किसी भी सरकार के लिये शर्म की बात है। जब एक जनप्रतिधि के प्रति सरकार या उसके मुखिया कोई संज्ञान न लें तो वह विधि द्वारा स्थापित संविधान की मूल भावना कि वह किसी द्वेष भावना से काम नहीं करेगी, उस शपथ का खुला उलंघन हैं।

silli mla amit kumar mahtoसिल्ली विधायक ने अपने फेसबुक वाल पर लिखा है कि सिल्ली टिकर रोड है, जो सिल्ली को बुंडू से जोडती है, यह सड़क विधानसभा क्षेत्र की मुख्य सड़क है व NH 33 से जोड़ने का काम करती है, जिसकी हालत बहुत ही खराब व जर्जर हो चुकी है, जिससे आए दिन दुर्घटनाएं हो रही है और क्षेत्र के लोगों को परेशानियों का सामना करना पड रहा है, जो बहुत ही दुर्भाग्यपूर्ण बात है।

उन्होंने आगे लिखा है कि माननीय मुख्यमंत्री रघुवर दास जी से इस संबंध में पत्राचार भी कर चुका हूँ और श्रीमान से पुनः विशेष आग्रह है कि जनहित की आकांक्षाओं को ध्यान में रखते हुए  इस अतिमहत्वपूर्ण विषय पर कार्रवाई हेतु आवश्यक पहल की जाय।

झामुमो विधायक ने किसी सुमित जी के एक कमेंट के जबाब में यहां तक कह डाला है कि विधानसभा में आवाज उठाने से लेकर माननीय मुख्यमंत्री महोदय को सड़क की जर्जर स्थिति से पत्राचार कर अवगत करवा चुका हूं।

जाहिर है कि अमित कुमार महतो जैसे युवा विधायक सरकार की अनसुनी रवैये से खीज कर ही सोशल साइट का सहारा ले रहे हैं और एक जनप्रतिनिधि के खीज के बीज किसी भी सरकार की छवि अधिक धुमिल करती है।

 

Share Button

Relate Newss:

मोदी सरकार ने नीतिश को नेपाल जाने से रोका !
सप्ताह भर पहले ही झारखंड की शिक्षा मंत्री ने दे दी थी श्रद्धांजलि !
पत्रकार रंजन हत्याकांड के आरोपी को सीबीआई कोर्ट से जमानत
राजगीर में बना फर्जी पत्रकार संघ, नियोजित शिक्षक बना कोषाध्यक्ष
कलेक्ट्रिएट में चल रहा एनजीओ परिहार- ‘इट्स हेपेन्ड ओनली इन बिहार’
पत्रकारिता के जरिए पहाड़ ढाहने का दंभ भरने वाले भाइयों के लिए -2
दैनिक हिन्दुस्तान में एसपी-डीएसपी के तबादले की 'फेक खबर' से नालंदा में सनसनी
मैं न होता तो बिपीन मिश्रा रात में ही टपक जाताः श्वेताभ सुमन
काफी आहत हैं PGI लखनऊ में भर्ती देवघर के कैंसर पीड़ित पत्रकार आलोक संतोषी
ABC ने समाचार पत्र-पत्रिकाओं भेजे ये कड़े निर्देश

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Loading...