रिटायर्ड सिपाही का बेटा लेफ्टिनेंट बन नगरनौसा का नाम किया रौशन

Share Button

नगरनौसा, नालंदा (अजनबी भारती)। हर पिता का ख्वाब होता है कि उसका बेटा बड़े होकर उच्च अधिकारी बन देश की सेवा करें।लेकिन बहुत ही कम बच्चे बड़े होकर अपने माता-पिता के ख्वाब को पूरा कर पाते हैं। माँ-बाप अपनी समस्त आकांक्षाओं को कुर्बान करते हुए अपने बच्चों के उज्वल भविष्य बनाने को लेकर दिन-रात मेहनत कर दो बक्त की रोटी भी अपने वच्चों के उज्बल भविष्य बनाने में लगा देते हैं। अधिकांश लोग कुछ बर्षो की तंगहाली झेल कर ही अपने इरादों से विचलित हो जाते हैं लेकिन, प्रखंड क्षेत्र के खजुरा पंचायत अंतर्गत बिशुनपुर गांव निवासी सेना के रिटायर्ड सिपाही राजेश कुमार के बड़े पुत्र अविनाश कुमार ने सेना में लेफ्टिनेंट पद हासिल कर अपने प्रबल इच्छा शक्ति का डंका बजाते हुए अपने माता-पिता के आकांक्षाओं को पूरा करते हुए नगरनौसा प्रखंड क्षेत्र का नाम रौशन कर दिया है।

अविनाश कुमार ने अपने सफलता का श्रेय माता-पिता, दादा-दादी को दिया। अविनाश कुमार ने बताया कि आज वे जो भी कुछ बन पाये हैं, उसमे पूरा योगदान उनके माता निर्मला सिन्हा, पिता राजेश कुमार और दादी शांति देवी, दादा स्वर्गीय लक्ष्मी नारायण सिंह ( राजस्व कर्मचारी) रहा हैं।  मेरे विकट परिस्थितियों में भी मेरे माता-पिता ने मेरा हौसला नही टूटने दिए।

अविनाश के पिता  राजेेेश कुमार ने बताया कि वह पिछले 10 जून को भारतीय सैन्य अकादमी देहरादून से पास आउट हुआ है। भारतीय सैन्य अकादमी देहरादून से पास आउट परेड़ के बाद पिपिग समारोह में कन्धों पर सितारे लगाया गया और भारतीय सस्त्र सेना में लेफ्टिनेंट पद से नवाजा गया।

अविनाश बचपन से पढ़ाई में मेधावी रहा है। मैट्रिक की पढ़ाई सैनिक स्कूल नालंदा से 2008 में प्रथम श्रेणी से 91.4 प्रतिशत के साथ उतीर्ण हुआ। इंटरमीडिएट की पढ़ाई भी वही से कर 73 प्रतिशत अंकों से उतीर्ण हुआ। स्नातक की पढ़ाई दिल्ली विश्वविद्यालय से भूगोल ऑनर्स के साथ 78 प्रतिशत लाकर अपनी स्नातक की पढ़ाई पूरा किया है।

अविनाश के माता निर्मला सिन्हा ने बताया कि अविनाश बचपन से ही पढ़ाई में काफ़ी तेज था। आज उसी का नतीजा है कि आज भारतीय सेना में लेफ्टिनेंट का पद पाया है।आज मेरी बर्षो का तपस्या पूर्ण हो गया।

अविनाश के दादी शांति देवी ने बताया कि दादा के सपना को आज अविनाश ने पूरा किया।उनकी इच्छा था कि मेरा पोता भारतीय सस्त्र सेना में कोई उच्य अधिकारी बनें।क्योकि अविनाश के पिता सेना में सिपाही रह चुके है।अगर आज अविनाश के दादा ज़िंदा होते तो कितना खुश होते।

इधर भारतीय जनता पार्टी के प्रखंड अध्यक्ष सतीश कुमार ने कहा कि यह गौरव की बात है कि आज प्रखंड के सुदूरवर्ती ग्रामीण इलाकों से सम्बंध रखने वाले अविनाश कुमार भारतीय सस्त्र सेना में लेफ्टिनेंट का पद पा अपने माता-पिता के साथ पूरा गांव प्रखंड का नाम रौशन किया है। वह कामना करते हैं कि आगे भी अविनाश नित्य नई ऊंचाई छुए और अपने माता-पिता के साथ पूरा प्रखंड का नाम रौशन करते रहें।

पंचायत के मुखिया महेंद्र सिंह व जिला लोजपा उपाध्यक्ष उपेन्द्र कुमार सिंह ने भी अविनाश को बधाई देते हुए उज्बल भविष्य की कामना की है।

Share Button

Relate Newss:

पत्रकारों ने मांगी छुट्टी तो हिन्दुस्तान के संपादक दिनेश मिश्रा ने दी गालियां !
उज्जैन शिप्रा तट पर गधों के मेले में अव्वल लालू-नीतीश की जोड़ी
भस्मासूर बने मांझी, मिली पार्टी से निष्कासन की चेतावनी
केंद्रीय मंत्री वेंकैया नायडू ने कहा, पत्रकार बिरादरी में भी फैल रहा है भ्रष्टाचार
आग की खबर कवरेज के दौरान पत्रकारों से मारपीट, जान से मारने की धमकी
राज्यसभा की सदस्यता मुबारक हो हरिवंश जी
गुजरात में पक्षियों के उड़ने का मौलिक अधिकार है या नहीं- अब सुप्रीम कोर्ट तय करेगा
IAS एसोसिएशन के खिलाफ पटना हाई कोर्ट में जनहित याचिका
यही है नीतीश का बिहार और बिहारी प्रेम
एनएचएआई ने सड़क किनारे बना रखा है मौत का गढ्ढा
भारतीय क्रिकेट की No.1 रैंकिंग भी ले उड़ा तूफान ‘हुदहुद’ !
आजसू नेत्री हेमलता की मुश्किलें बढ़ी, पटना डीएसपी ने सही ठहराया आरोप
मुखिया और पूर्व प्रमुख के बीच मारपीट में महिला सहित एक दर्जन जख्मी
रांची से शुरु हुआ मानवता को समर्पित “पा लो ना” अभियान
नालंदा में शिक्षा माफियाओं का बड़ा रैकेट, भारी संख्या में यूं बहाल हो गये फर्जी शिक्षक

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...
loading...