राष्ट्रीय महत्व के स्थल की अनदेखी कर रही है सरकार

Share Button
Read Time:5 Minute, 14 Second

पलामू  के हुसैनाबाद अनुमंडल मुख्यालय से करीब दस किमी दूर अवस्थित कबरा कला गांव के गर्भ में लगभग 3500 वर्ष पुरानी सभ्यता के अवशेष छुपे हुए हैं। इस कारण पुरातत्वविदों ने इस गांव को राष्ट्रीय महत्व के ऐतिहासिक स्थल के रुप में चिन्हित किया है। किन्तु राष्ट्रीय महत्व के इस स्थल की मापी आज तक नहीं की गई।

husainabad_palamu (1)भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण विभाग के रांची अंचल का मानना है कि कबरा कला का उक्त स्थल इतिहास की मुख्यधारा में मौर्यकालीन झारखंड की स्थापना करेगा। इसकी महता को देखते हुए ए.एस.आई.रांची सर्किल के अधीक्षण पुरातत्वविद ओंकार नाथ चौहान ने वर्ष 2003 में उक्त स्थल के संरक्षण के लिए पहल शुरू किया था।

इसके तहत श्री चौहान ने पलामू के उपायुक्त, हुसैनाबाद के अनुमंडलाधिकारी एवं अंचलाधिकारी को नवंबर 2003 के प्रथम सप्ताह में पत्र लिखा था। किन्तु इस पत्र के प्रति यहां के अनुमंडलाधिकारी एवं अंचलाधिकारी ने कोई दिलचस्पी नहीं ली। इस कारण अबतक उक्त पत्र के आलोक में कोई पहल नहीं की गई।

पत्र मे कहा गया था कि हुसैनाबाद का कबरा कला, बहेरा, पंसा, सहार बिहरा एवं जपला का सूर्य मंदिर प्राचीन ऐतिहासिक धरोहर हैं। विभाग ने इन स्थलों की पहचान राष्ट्रीय महत्वपूर्ण स्थल के रुप में की है। पत्र के द्वारा श्री चौहान ने उक्त स्थलों के संरक्षण एवं विकास के लिए उनका कार्यस्थल योजना(साइट प्लान) तथा राजस्व की मांग की थी।

husainabad_palamu (3)ए.एस.आई.रांची अंचल ने अंचलाधिकारी को लिखे पत्र में रिपोर्ट से संबंधित विहित प्रपत्र साथ में संलग्न कर दिया था,ताकि अंचल को कोई परेषानी न हो। किन्तु गौरतलब बात तो यह है कि अति आवष्यक उक्त पत्र के आलोक में दस वर्श बीत जाने के बाद भी कोई रिपोर्ट पुरातत्व विभाग को नहीं भेजा गया।

कबरा कला गांव के गर्भ में अनेक महत्वपूर्ण एवं ऐतिहासिक तथ्य छुपे हुए हैं। यहां से प्राप्त खिलौने, मृदभांड के टुकड़े, चांदी के पंच तारांकित सिक्के एवं मणके आदि कई महत्वपूर्ण अवषेश हैं, जो मौर्यकालीन हैं।

इस स्थल को विकसित कराने एवं यहां से प्राप्त प्राचीन अवषेशों को संरक्षित कर अभी तक बचाये रखने में सोनघाटी परातत्व परिषद, जपला के सचिव तापस कुमार डे तथा कबरा कला के ललन कुमार, शालीग्राम चौधरी एवं विष्वनाथ पाल का काफी महत्वपूर्ण योगदान रहा है।

husainabad_palamu (4)परिषद से जुड़े इन लोगों के सक्रिय सहयोग एवं अथक प्रयास का प्रतिफल है कि कबरा कला से प्राप्त अवषेश अभी भी ग्रामीणों के पास सुरक्षित है और लोग उन अवषेशों के संरक्षण के प्रति काफी सजग एवं सचेत हैं। परिषद के सचिव तापस कुमार डे के प्रयास से कबरा कला का मामला देष के संसद भवन में भी गूंजा और यह गांव काफी सुर्खियों में कुछ दिनों तक रहा।

परन्तु खेद की बात है कि राष्ट्रीय महत्व के इस कार्य के प्रति झारखंड सरकार कभी गंभीर नहीं हुई। राज्य सरकार की उदासीनता के कारण कबरा कला का मामला फिलहाल ठंढे़ बस्ते में है,जबकि परिशद के सचिव तापस कुमार डे ने पांच जून 2004 को कबरा कला से संबंधित सारे कागजात मुख्यमंत्री सचिवालय में फैक्स के माध्यम से भेज दिया था।

वर्तमान मुख्यमंत्री माननीय रघुवर दास ने इटखोरी से जुड़े एक कार्यक्रम में घोशणा की है कि राज्य सरकार पुरातात्विक महत्व के स्थलों का संरक्षण करेगी। अब सोनघाटी पुरातत्व परिषद, जपला के सचिव तापस कुमार डे एवं कबरा कला गांव के लोगों को मुख्यमंत्री श्री दास से काफी उम्मीदें हैं।  ………हुसैनाबाद, पलामू से जफर हुसैन की रिपोर्ट       

0 0
Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleppy
Sleppy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %
Share Button

Relate Newss:

नहीं पकड़ा गया ‘रागांग्रावियो घोटाले’ का सरगना
रघु’राज एक सचः सुशासन का दंभ और नकारा पुलिस तंत्र
नीतिश के लिए काल बन सकते हैं मोदी के प्रशांत !
पत्रकार पुण्य प्रसून बाजपेयी ने लिखा- भाजपा को राजनीति का ककहरा सिखा दिया बिहार के जनादेश ने
शिव सेना का पोस्टर अटैक, मोदी को बताया ढोंगी
बिहार चुनाव हार के बाद मोदी सरकार का बड़ा फैसला, मीडिया में 26 कीजगह 49 फीसदी होगा विदेशी निवेश
सुर्खियों में हैं बिहार कैडर के IPS अमित लोढा की पुस्तक ‘बिहार डायरीज’
शोसल मीडिया पर तेजप्रताप की ‘फुनुआ’ की खूब हो रही चर्चा
आलोक कुमार बनाये गये Etv बिहार के ब्यूरो हेड
गिरियक के पत्रकार निसार अहमद के घर बम फेंका, सूचना के 12 घंटे बाद भी नहीं पहुंची थाना पुलिस
नालंदाः पुलिस और पत्रकार के बीच मारपीट, यह रहा सच
मैग्सेस पुरस्कार पाने वाले 11वें भारतीय हैं रवीश कुमार
मीडिया के चतुर सयानों की सूचना को अब राज़नामा नहीं लेगी संज्ञान
व्हाट्सअप ने किया पत्रकारों को एकजुट, घेर लिय सीएम आवास
कोबरा पोस्ट स्टिंग से खुद की लाज बचाने में जुटे नामचीन मीडिया हाउस
अब सोनी टीवी पर प्रसारित ‘कॉमेडी नाइट विद कपिल’ !
देवी की दिव्य माहवारी, हमारे लिए बीमारी !
 जिन्दगी झण्ड बा....फिर भी घमण्ड बा....
नीतीश कुमार को अपने ही रिकार्ड को तोड़ने की होगी चुनौती
बिहार के पूर्व गवर्नर के बेटे ने मुंबई में खरीदी 100 करोड़ की प्रॉपर्टी
40 के दशक में दुनिया का सबसे शक्तिशाली देश होगा भारत : भटकर
रघु'राज के सलाहकार योगेश-अजय प्रक्ररण का स्वागत होनी चाहिेये
प्रबंधन की विशाल असफलता है नोटबंदी :मनमोहन सिंह
शर्मसार नालंदा, गुरु'घंटाल' लोग डकार गये बच्चों का निवाला
बिहारी बाबू ने पीएम मोदी को दी सलाह, न छेड़ें बिहारी अस्मिता

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...