रघुवर सरकार से बिल्कुल मायूस  हूं, अफसरों की चल रही मनमानी

Share Button
Read Time:2 Minute, 57 Second

amit kumar silli mla jmmमुकेश भारतीय

रांची। रघुवर सरकार ने स्थानीय नीति को काफी गलत तरीके से बनवाया और उसे लागू करवाया है। अंतिम सर्वे सेटलमेंट के स्वरुप के बिना इसे राज्य के 90 फीसदी लोग स्वीकारने के पक्ष में नहीं हैं। सरकार को इमें संशोधन करके लागू करनी चाहिए।

उक्त बातें सिल्ली के झामुमो विधायक अमित कुमार ने  कही।

उन्होंने कहा कि अब तक हमने अपनी बातों को लोकतांत्रिक तरीकों से रखने का काम किया है। हमने कुछ दिनों के भीतर प्रखंड स्तर से जिला स्तर तक धरना प्रदर्शन कार्यक्रम चलाया है। लेकिन यह बड़े दुर्भाग्य की बात है कि सरकार की ओर से इस दिशा में अब तक कोई पहल नहीं किया गया है।

उन्होंने बताया कि आगामी 13 मई को गांव-गांव, शहर-शहर मशाल जुलूस निकाला जाएगा औऱ 14 मई को पूरा झारखंड बंद रहेगा।

उन्होनें एक सबाल के जबाब में कहा की सरकार ने अब तक कोई ऐसा काम नहीं किया है कि उस पर कोई नजरिया प्रकट की जाए। कहीं कोई कार्य नहीं। कहीं कोई विकास नहीं। हमारे द्वारा अनुशंशित जो भी योजनाएं दिए जा रहे हैं, उन पर कोई काम नहीं हो रहे हैं। हमारे क्षेत्र में रोड की बातें हो या तालाब की बाते हों या फिर पुल-पुलिया की बात करें या फिर अन्य योजनाएं, जो भी हैं। हमारे पास इसके पक्के दस्तावेज हैं। किसी पर भी कहीं से अमल नहीं किया गया। आलावे सीधे सरकार के द्वारा जो य़ोजनाएं संचालित होते हैं, वे भी यहां सही ढंग से धरातल पर नहीं उतर रही है। प्रखंड मुख्यालयों में सिर्फ अफसरों की मनमानी है।

उन्होंने कहा कि रघुबर सरकार सर्वमान्य हैं, उन्हें सबों के साथ एक नजरिया रखनी चाहिए। सरकार को चाहिए कि वह हर क्षेत्र के सर्वांगिन विकास के लिए निष्पक्ष तरीके से आगे आएं। योजनाओं को धरातल पर उतारें। जो कहती है, वो करे। सरकार कहती बहुत कुछ है और करती कुछ भी नहीं हैं। हम इस सरकार से बिल्कुल मायुस हैं।

उन्होनें सीएनटीएक्ट में हालिया बदलाव की बाबत कहा कि झारखंड के विकास में आदिवासी हितो की अनदेखी नहीं होनी चाहिए। जो भी हुआ है, बिल्कुल गलत हुआ है।

0 0
Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleppy
Sleppy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %
Share Button

Relate Newss:

इस प्रक्रिया से अखबार की आड़ में अब नहीं चलेगा गोरखधंधा
क्या कहेंगे अपने राजनेताओं के इस अल्प ज्ञान को !
गोड़ा पुलिस की वाहन चेकिंग से डीटीओ अनजान !
सीएम रघुबर सा वेदर्द हाकिम हो तो पत्रकार क्या करे ?
13 अक्टूबर को रजत जयंती समारोह मनाएगा पटना दूरदर्शन केन्द्र
भोजपुरी गायक पवन सिंह की पत्नी ने खुदकुशी की
मोदी जी का कश्मीर दौरा और उठते राजनीतिक सवाल
चुनाव से पहले अब झारखण्ड में दंगा !
एण्ड्रॉयड/स्मार्ट फोन या ‘बेगिंग बाउल’ 
JUJ ने राजभवन का घेराव कर दिया एकदिवसीय धरना
ऐसी नौटंकी से क्या दूर होगा बाल विवाह और दहेज की कुप्रथा !
सामंतवादी दबंगों का अमानवीय कहर
पत्रकार पुण्य प्रसून बाजपेयी ने लिखा- भाजपा को राजनीति का ककहरा सिखा दिया बिहार के जनादेश ने
बिहार में निष्पक्ष और निर्भीक पत्रकारिता की आवश्यकता : मंत्री प्रेम कुमार
दो लड़कियों ने की ऑटो ड्राइवर से रेप की कोशिश !
मंगनीलाल मंडल पर कार्रवाई, रामविलास पर क्यों नही !
न्यूज चैनलों के लिए वीडियो रिपोर्टिंग के कारगर नुस्ख़े
जब लाइव डिबेट में अर्णब के सामने आशुतोष हुए शर्मसार !
मजीठिया‬ वेज बोर्ड को लेकर सुप्रीम कोर्ट नाराज, 15 दिन के भीतर मांगी रिपोर्ट
भगवान बिरसा जैविक उद्दान के निदेशक ने कहा, ऑब्जेक्शन के साथ हुई बहाली
मौन है लखनऊ के दल्ले पत्रकारों की कलम !
मोदी के खिलाफ 77, समझें क्या है खेल ?
एक व्यक्ति नहीं, संस्था थे रमेशजी : शिवराज सिंह चौहान
पुलिस ने मुरहू के एटकेडीह में अफीम की फसल नष्ट की
और संजय सहाय 'हंस' के संपादक बन गये

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...