मीडिया पर अमित शाह का दिखा खौफ, यूं हटा लिया खबर

Share Button

वाकई ये चौंकाने वाली खबर है कि एक साधारण सी खबर, जिसमें भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष राज्यसभा चुनाव के लिए अपनी संपत्ति का खुलासा करते हैं और पिछले विधानसभा चुनाव अर्थात बस पांच साल में संपत्ति में बढ़ोत्तरी तीन सौ गुना की घोषणा भी की जाती है।

सवाल है कि जब खुद अमित शाह अपनी संपत्ति का ब्यौरा जारी करते हैं तो पुराने आंकड़ों के आधार पर मीडिया (वेब वर्जन) ने इस खबर को प्रमुखता से प्रकाशित किया तो क्या वजह रही कि वह खबर छपने के बस चंद लम्हों बाद ही हटा ली जाती है।

ख़बरों के गुनाहगार हमारी मीडिया इस पर रौशनी शायद ही डाले मगर राष्ट्रवाद के आंच पर पकने वाला हर अनैतिक खिचड़ी को नैतिकता का लबादा कैसे पहना दिया जाता है, शर्मनाक है। मुख्यधारा की वेब मीडिया खुद वेब मीडिया को शर्मिंदा कर रहे हैं।

गूगल पर सर्च किये गए हर मुख्य धारा मीडिया का लिंक बेनतीजा निकला ……….

 

Share Button

Relate Newss:

मिड डे के वरिष्ठ पत्रकार की हत्या की सीबीआई जांच शुरू
‘कॉमेडी नाइट्स विद कपिल’ बंद, स्टारडम नहीं संभाल पाए कॉमेडियन !
JAC अध्यक्ष दुर्गा उरांव ने की राजनामा के संपादक पर फर्जी पुलिस केस की भ्रत्सना, राजगीर मामले को लेक...
फैक्स पर निकाल जाता था स्विस बैंक से पैसा
बिहार विधानसभा चुनावः नीतिश के हाथों मोदी को मिली करारी शिकस्त
जाहिल हैं रघुबर सरकार के शिक्षा मंत्री ?
बिहार महासंग्राम में मोदी का 53 तो सोनिया का 100 रहा चुनावी स्ट्राइक रेट
भारत सरकार की नई विज्ञापन नीतिः पारदर्शिता और विश्वसनीयता पर जोर
आरटीसी इंजीनियरिंग कॉलेजः घटिया भोजन-पानी को लेकर छात्रों ने की तालाबंदी
नालंदा लोशिनिप संजीव सिन्हा ने कहाः रेकर्ड सुरक्षित होगें, अगली तिथि जल्द, न्याय होगा
‘मीडिया महारथी’ प्रोग्राम में बवाल, कई संपादकों में रोष
टीआरपी की होड़ में मर गई मीडिया की नैतिकता!
पीएम मोदी के 'मन की बात' : भूमि अध्यादेश अब नहीं लाएगी उनकी सरकार !
राजग को 300 सीटें आ भी जाएं तो कैसे आईं, यह कौन बताएगा?
भारतीय मीडिया के खेवनहार या खिचड़ी परिवार

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...
loading...