मीडिया के विरुद्ध पब्लिक ट्रायल की जरुरतः केजरीवाल

Share Button

दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने रविवार को अपने कानून मंत्री जितेंद्र सिंह तोमर का बचाव करते हुए मीडिया को जनता की अदालत में खड़ा करने का आह्वान किया। तोमर पर आरोप है कि उनकी कानून की डिग्री फर्जी है।

केजरीवाल ने कहा कि यदि तोमर ने कुkejriwalछ गलत किया होता, तो वह उनसे निश्चित तौर पर इस्तीफा देने के लिए कहे होते।

केजरीवाल ने कहा, “मैं तोमर का रिश्तेदार या मित्र नहीं हूं। मैंने इस विवाद पर तोमर से जवाब मांगा था। उन्होंने एक संतोषजनक जवाब दिया और कहा कि उनकी कोई गलती नहीं है, क्योंकि उनकी डिग्री असली है।”

केजरीवाल ने कहा कि सूचना का अधिकार अधिनियम के तहत तोमर की कानून की डिग्री के बारे में बिहार के एक विश्वविद्यालय से मांगी गई जानकारी के लिए एक गलत अनुक्रमांक पेश किया गया था। “ऐसा उनकी छवि खराब करने के लिए किया गया था।”

केजरीवाल यहां एक मल्टीमीडिया वेबसाइट के लांच के मौके पर बोल रहे थे। उन्होंने अपने विचार हिंदी में रखे। उन्होंने कहा, “मीडिया के पक्षपात को बेनकाब करने के लिए उसे जनता के बीच खड़ा करने (पब्लिक ट्रायल) की जरूरत है।”

मुख्यमंत्री ने कहा, “मीडिया के एक वर्ग ने आम आदमी पार्टी की छवि खराब करने के लिए पूरी कोशिश की है।” उन्होंने कहा कि कुछ मीडिया घराने उनकी पार्टी के खिलाफ साजिश रच रहे हैं।

Arvind-Kejriwalकेजरीवाल ने कहा, “टीवी चैनल सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी से संबंधित मुद्दे क्यों नहीं दिखाते, लेकिन आप के मुद्दे दिखाने में कोई कोर-कसर नहीं छोड़ते? हमें मीडिया में पारदर्शिता की जरूरत है।”आप नेता ने जंतर मंतर पर 22 अप्रैल को आयोजित आप की एक रैली में राजस्थान के एक किसान, गजेंद्र सिंह द्वारा की गई आत्महत्या पर भी बात की।

उन्होंने कहा, “मैं समझता हूं कि गजेंद्र ने जब फांसी लगा ली तो मुझे रैली रद्द कर देनी चाहिए थी।”केजरीवाल ने दिल्ली में आप की भारी जीत के बाद फरवरी में मुख्यमंत्री की कुर्सी संभाली।

उन्होंने कहा कि दिल्ली में बेहतर शासन उनका मुख्य एजेंडा है। उन्होंने कहा कि दिल्ली में इस गर्मी में पानी और बिजली की कमी नहीं होगी। केजरीवाल ने कहा, “हमने राष्ट्रीय राजधानी के निवासियों को इस गर्मी में पर्याप्त पानी-बिजली आपूर्ति के लिए आवश्यक कदम उठाए हैं।”

Share Button

Relate Newss:

प्लास्टिक के तिरंगे का उपयोग पर होगी तीन साल की कैद !
मीडिया की परेशानी और चुनौतियों को भारत सरकार तक पहुंचाए पीआईबी
दैनिक जागरण एक्सलूसिव- पीड़ित व्यवसायी को बनाया सरगना,चेंपा ठगी का फोटो
कटरा हादसे में मीडिया के हाथों मारी गई पायलट ने फेसबुक पर लिखा- जिंदा हूं मैं
रिस्क नहीं चुनौती है ‘नो निगेटिव न्यूज’ की पहलः अमरकांत
कोयला घोटाला और भारतीय मीडिया घरानों का काला सच
जिम्मेवारी तय कर दोषियों को दंडित करें :सुनील बर्णवाल
संकट में सुबोध, नहीं मान रहे युवराज !
देखिए वीडियोः किस शर्मनाक करतूत के कारण हटाया गया राष्ट्रीय सहारा का विज्ञापन मैनेजर
मोदी, शाह और राजनाथ ने बिहार चुनाव में रैलियों का लगाया रिकार्ड शतक
पत्रकारिता को समुचित सम्मान मिले : विस अध्यक्ष दिनेश उरांव
दैनिक जागरणः संपादक ने कहा तलवा चाटनेवाला तो रिपोर्टर ने कहा सबूत दिखाइए !
मजीठिया से हार दैनिक भास्कर रात अंधेरे हुई दिल्ली से फरार
आईये raznama.com की नई मुहिम "ऑपरेशन इंक" से जुड़िए
बिहार में 12 वर्षों तक दैनिक जागरण का अवैध प्रकाशन

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...
loading...