“मां बदौलत” 21 दिन बाहर रहे मधु कोड़ा फिर पहुंचे जेल

Share Button

kodaराजनामा.कॉम। अपनी मां की  गंभीर बीमारी और सेवा-सुश्रुवा की मानवीय अपील कर 21 दिनों तक बाहर की हवा-पानी लेने के बाद भ्रष्टाचार के कई मामलों के आरोपी पूर्व मुख्यमंत्री एवं चाईबासा के निर्दलीय सांसद मधु कोड़ा   आज पुनः रांची स्थित केन्द्रीय होटरवार जेल भेज दिये गये।

प्राप्त जानकारी के अनुसार राजीव गांधी ग्रामीण विधुतीकरण घोटाला  मामले में सीबीआई के मजबूत पक्ष के आगे मधु कोड़ा की जमानत नहीं हो पा रही थी लेकिन हाई कोर्ट ने उनके वकील के द्वारा मां की  गंभीर बीमारी और सेवा सुश्रुवा करने की मानवीय अपील पर रहम करते हुये 21 दिनों की औपबंधिक जमानत दी थी, जिसकी मियाद आज खत्म हो गई थी।  जमानत की मियाद खत्म होते ही आज मधु कोड़ा ने सीबीआई की विशेष अदालत में सरेडंर किया, जहां से उन्हें 14 दिनों की न्यायायिक हिरासत में भेज दिया गय़ा है। 

विदित  हो कि 21 दिनों की औपबंधिक जमानत मिलने के बाद श्री कोड़ा ने अपने संसदीय क्षेत्र चाईबासा का भ्रमण कर लोगों का खूब हालचाल लिया और मीडिया के सामने काफी मुखर दिखे। उनका आरोप रहा कि उन्हें एक शाजिस के तहत फंसाकर जेल में रखा जा रहा है।

उधर , खबर है कि मधु कोड़ा ने अपनी मां के बेहतर ईलाज के लिये नई दिल्ली में भर्ती कराया गया है। ताकि भविष्य में उनकी हालत का मानवीय आधार बनाकर न्यायालय से आगे राहत ली जा सके।

Share Button

Relate Newss:

मधु कोड़ा को 'मां बदौलत' फिर मिली जमानत
बेटियों को लेकर क्यों क्रूर हो रहे हैं हम
दलालों के पेट में मुंडा का कुआं
कर्नाटकः कांग्रेस को बहुमत, भाजपा की शर्मनाक हार
मीडिया पर सरेआम हमला, फिर भी नहीं छपी रांची के किसी अखबार में एक लाइन खबर
मधु कोड़ा को सुप्रीम कोर्ट से बड़ा राहत, ईडी केस में जमानत
सफेदपोशों के हाथ में 1.86 लाख करोड़ का कोयला
अब राज्यों में विपक्षी दल से भी दूर होती कांग्रेस !
'मीडिया महारथी' में दिखा पाखंड का नजारा
संकीर्ण मानसिकता को बढ़ावा देते अभद्र कपड़े
गर्व है कि हमारे एक स्वयंसेवक ने दिल्ली में सरकार बनाई :अन्ना हजारे
मुंडा की चुप्पी वनाम शर्मसार भाजपा
चाल चलन बड़े घरानो जैसा !
जय हो मोटर साइकिल भगवान
स्टूडेंट देख सकता है उत्तर पुस्तिकाः सुप्रीम कोर्ट

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...
loading...