महंगी पड़ेगी पीएम के यार से रंगदारी

Share Button

हाँ जी।  मोदी के दोस्त अडानी से रंगदारी वसूल रहा है TPC।  लिहाज़ा गृह मंत्रालय से जारी हुवा फतवा। सीबीआई एलर्ट हो गया है और TPC की पूरी खैर खबर लेने अनिल पलटा साहब आ चुके है।

amrapali col_naksaliलटा वैसे ही झारखण्ड में नक्सलियों को दातों चने चबवा चुके है। आम्रपाली प्रोजेक्ट से 270 रु प्रति टन रंगदारी वसूली जाती है। रकम करोडो़ में है। लिहाज़ा TPC के मुखिया खोजबीन जारी है।

TPC की स्थापना आई बी के सहयोग से मुरारी गंझू के साथ की गयी थी और उन्मूलन का जिम्मा अब दूसरे संगठन सीबीआई को दी गयी है।

news_naksliअभी झारखण्ड के चार ज़िलों में इनका आतंक सर चढ़कर बोलने लगा है। पुलिस के सहयोग से यह एक सामानांतर शासन चला रहे है।

वैसे भी नक्सलियों के उन्मूलन के लिए इनका साथ लिया जाता था,जो समाप्ती की ओर है। सो इनका काम ख़त्म माना जा रहा है।

इनके सौजन्य से पुलिस ही नहीं CRPF को भी बड़ी रकम लेवी के रूप में मिलाती थी। सो इन्हे आँख मूंदकर सहयोग किया जाता था।

वहीं, बरकाकाना जहां रंगदारों की चलती है। सुशील श्रीवास्तव ग्रुप को 80 रु प्रति टन, भोला पाण्डेय ग्रुप को 80 रु प्रति टन और यहाँ के TPC को 90 रु प्रति टन का रंगदारी अडानी के जा रहे रैक लोडिंग से मिलता है।

सीबीआई यहां भी दबिश है यहाँ के रंगदारों सहित सबकी संपत्ति कुर्क करने की दिशा में भी कार्य शुरु हो चुका है। रंगदारों पर भी अनिल पाल्टा सूचना ले रहे है।

वहीं TPC की पूरी जानकारी उन्हें मिल चुकी है। अब जल्द ही TPC के बड़े साथी भाई सलाखों के पीछे नज़र आएंगे। … अपने फेसबुक वाल पर हजारीबाग के पत्रकार टीपी सिंह

Share Button

Relate Newss:

सिद्धू ने हमारे साथ बड़ा धोखा किया :स्टार इंडिया
अंततः अरविंद केजरीवाल को मिली सुगर-खांसी से मुक्ति !
हड़बड़ी में यूं गड़बड़ा गए बाबा रामदेव, बने 'मजाक'
झुमरी तिलैया में बनेगा झारखंड का पहला ग्राम न्यायालय
पंचायत चुनावः राजनाथ-मोदी के संसदीय क्षेत्र में बीजेपी की करारी हार
मंगनीलाल मंडल पर कार्रवाई, रामविलास पर क्यों नही !
'गोरा katora' नहीं हुजूर, लोग कहते हैं 'घोड़ा कटोरा'
रघु'राज के सलाहकार योगेश-अजय प्रक्ररण का स्वागत होनी चाहिेये
अर्थव्यवस्था में नकदी भ्रष्टाचार और कालेधन का बड़ा स्रोत : पीएम मोदी
अध्यक्ष अमित शाह के नसीहत पर भाजपा की झाड़ू
चुनाव से पहले अब झारखण्ड में दंगा !
समस्तीपुर में चिमनी मालिक पत्रकार की गोलियों से भून डाला
निर्माता-निर्देशक श्याम बेनेगल सुधारेगें फिल्म सेंसर बोर्ड
सनसनी मचा रखी है पूर्व मंत्री व जदयू विधायक की यह वीडियो
समझिये भ्रष्टाचार के खिलाफ केदार नाथ का संघर्ष !

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...
loading...