मधेपुरा जिले के बिहारीगंज में तनाव, नेट सेवा बंद, धारा 144 लागू

Share Button

पटना/मधेपुरा। बिहार के मधेपुरा जिले के बिहारीगंज में आज शुक्रवार को तनाव कायम है। प्रशासन ने यहां नेट सेवा को बंद करा धारा 144 लगा दिया है। हर चौक चौराहे पर पुलिस बल को तैनात कर दिया गया है। सभी दुकानें बंद है।

जाने क्या है पूरा मामला

madhepura-3सांस्कृतिक कार्यक्रम के दौरान महिलाओं से छेड़खानी की घटना के बाद दो गुटों में हुए तनाव हुआ था। गुरुवार को उग्र लोगों ने पथराव किया था। हंगामा शांत कराने के लिए पुलिस को आंसू गैस के गोला छोड़ना पड़ा। सांसद पप्पू यादव के साथ भी भीड़ ने दुर्व्यवहार किया था।

एडीजी मुख्यालय के अनुसार बिहारीगंज में हंगामा करने के आरोप में 38 लोगों की गिरफ्तारी हुई है। थानाध्यक्ष को सस्पेंड कर दिया गया है। अधिकारियों के गाड़ी में उग्र लोगों ने आग लगा दी थी।

एक सांस्कृतिक कार्यक्रम के दौरान महिलाओं से छेड़खानी की घटना के बाद एक वर्ग विशेष के आरोपियों पर कार्रवाई की मांग कर रहे लोगों ने मंगलवार की देर रात एसडीएम और एसडीपीओ की गाड़ी में आग लगा दी थी।

इस घटना के बाद खुद सांसद पप्पू यादव सड़क पर उतरे और लोगों से शांत रहने की अपील की थी।

madhepura-1उधर, घटना के बाद दोनों वर्गों की ओर से एक दूसरे पर पथराव कर दिया था। पुलिस ने हंगामा कर रहे लोगों को खदेडऩे के लिए आंसू गैस के गोले छोड़े। पथराव में एक दर्जन से अधिक लोग घायल हुए थे। भीड़ ने बाजार में कई चौकियों को क्षतिग्रस्त कर दिया। बुधवार देर शाम तक स्थिति तनावपूर्ण बनी हुई थी। बाजार में जिले की पुलिस फोर्स के अलावा बीएमपी और पारा मिलिट्री फोर्स को तैनात किया गया है।

यह भी पढ़े  धार्मिक भेदभाव के आरोपी हीरा कंपनी 'हरे कृष्णा एक्सपोर्ट्स' पर मुकदमा

इसके बाद दूसरे पक्ष के लोगों ने आरोपी लड़कों की पिटाई कर उन्हें पुलिस के हवाले कर दिया। इस बीच आरोपी लड़कों की ओर से भी मारपीट करने की शिकायत थाने में की गई।

बाद में पुलिस ने दोनों पक्षों में समझौता करा कर आरोपी लड़कों को छोड़ दिया गया।  इससे कुछ लोगों में आक्रोश था। इस बीच मंगलवार रात जब प्रतिमा विसर्जन शुरू हुआ तो बाजार में भी भीड़ जुटने लगी। इसी दौरान कुछ उपद्रवियों ने एक मोबाइल दुकान में तोड़फोड़ कर लूटपाट की। इससे लोगों में आक्रोश और बढ़ गया।

Share Button

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...