भारतीय होने पर नाज, नहीं चाहिए किसी से देशभक्ति का सर्टिफिकेट :आमिर खान

Share Button

aamir-khanअहनशीलता के मुद्दे पर अपने बयान को लेकर विवाद उत्पन्न होने के बाद आमिर ने सफाई देते हुए कहा है कि हम देश छोड़ने नहीं जा रहे हैं।

उन्होंने कहा कि न तो उनका और न ही उनकी पत्नी का देश छोड़ने का कोई इरादा है।

आमिर ने कहा है कि उन्हें भारतीय होने पर नाज है और उन्हें अपनी देशभक्ति साबित करने के लिए किसी का सर्टिफिकेट नहीं चाहिए।

aamir-khan-familyआमिर ने कहा, जो कोई भी ऐसी बात फैलाने की कोशिश कर रहा है, उसने या तो मेरा इंटरव्यू नहीं देखा, या जानबूझकर गलतफहमी फैलाना चाह रहा है। भारत मेरा देश है, मैं उससे बेइंतहा प्यार करता हूं और यही मेरी सरजमीन है।

उन्होंने कहा, इंटरव्यू के दौरान जो भी मैंने कहा है, उस पर कायम हूं। जो लोग मुझे देशद्रोही कह रहे हैं, उनसे मैं कहूंगा, मुझे गर्व है अपने हिन्दुस्तानी होने पर और इस सच्चाई के लिए मुझे न किसी की इजाजत की जरूरत है और न ही किसी के सर्टिफिकेट की।

पहले क्या कहा था आमिर ने

गौरतलब है कि देश में असहिष्णुता पर खत्म होती चर्चा-ए-आम की लौ को बॉलीवुड अभिनेता आमिर खान ने सोमवार को हवा दे दी. उन्होंने कहा कि इस ओर कई घटनाओं ने उन्हें चिंतित किया है और पत्नी किरण राव ने एक बार यहां तक सुझाव दे दिया था कि उन्हें देश छोड़ देना चाहिए. आमिर के बयान पर राजनीतिक गलियारे से लेकर सिनेमा की दुनिया तक हर जगह खूब शोर हुआ.

पत्रकारिता के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य के लिए रामनाथ गोयनका पुरस्कार वितरण कार्यक्रम के दौरान आमिर खान ने उन लोगों का भी समर्थन किया था, जो अपने असहिष्णुता के खि‍लाफ अपना पुरस्कार लौटा रहे हैं. खान ने कहा, ‘रचनात्मक लोगों के लिए उनका पुरस्कार लौटाना अपना असंतोष या निराशा व्यक्त करने के तरीकों में से एक है.’

‘बढ़ी है असुरक्षा और भय की भावना’
आमिर ने कार्यक्रम में आगे कहा था, ‘एक व्यक्ति के तौर पर, एक नागरिक के रूप में इस देश के हिस्से के तौर पर हम समाचार पत्रों में पढ़ते हैं कि क्या हो रहा है. हम इसे समाचारों में देखते हैं और निश्चित तौर पर मैं चिंतित हुआ हूं. मैं इससे इनकार नहीं कर सकता. मैं कई घटनाओं से चिंतित हुआ हूं.’ अभिनेता ने कहा कि वह महसूस करते हैं कि पिछले छह से आठ महीने में असुरक्षा और भय की भावना बढ़ी है.

Share Button

Relate Newss:

प्रखंड कमेटी के गठन के साथ जर्नलिस्ट एसोसिएशन ऑफ झारखंड की बैठक संपन्न
काले धन की काली लड़ाई, राम दुहाई राम दुहाई
सादगी के पर्याय हैं झारखंड के मंत्री सरयू राय !
पीएम मोदी के खिलाफ तिरंगा के अपमान का मामला दर्ज
बिहार-झारखंड, यहां जदयू-भाजपा सरकार की आत्मा जिंदा कहां है ?
पहले 'जय जवान,जय किसान' और अब 'मर जवान,मर किसान'
NDA जीती तो प्रेम कमार होगें भाजपा के CM
देखिये, शाहनवाज जैसे फ्रॉड का डंसा मौत से कैसे जुझ रहा एक पत्रकार
इन तीन बड़े मीडिया संगठनों से यूं नाराज है सुप्रीम कोर्ट
अपनी बात पहुंचाने का एक प्रयास है किसान चैनल  :पीएम
नहीं रहीं वरिष्ठ पत्रकार रजत गुप्ता की अर्द्धांग्नि रविन्द्र कौर
स्वंय प्रकाश सरीखे चरणपोछु संपादक हो सकते हैं, पत्रकार नहीं
पुलिस अकर्मण्यता की हदः वे चाहे जो करें उनकी मर्जी !
अर्नब गोस्वामी ने Republic पर ABP के रिपोर्टर जैनेन्द्र को प्राइम टाईम में यूं गुंडा दिखाया
बिहार में अराजकता फैला रहे हैं लालू-नीतीश के मांझी !

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...
loading...