भाजपा नेता ने लिखा- गांधी नहीं, नेहरू को मारना चाहिए था !

Share Button
Read Time:2 Minute, 56 Second

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की केरल यूनिट की पत्रिका ‘केसरी’ में एक लेख में बीजेपी के एक नेता ने इशारों में लिखा है कि नाथूराम गोडसे को महात्मा गांधी के बदले जवाहर लाल नेहरू को निशाना बनाना चाहिए था।

लेख में कहा गया है कि देश के बंटवारे के लिए नेहरू जिम्मेदार थे और उन्हें कभी भी राष्ट्रपिता से सही में लगाव नहीं रहा।

17 अक्टूबर के अंक में बी. गोपालाकृष्णन ने यह लेख लिखा है। गोपालाकृष्णन केरल की चालाकुडी लोकसभा सीट से बीजेपी के टिकट पर चुनाव लड़े थे। उन्होंने लिखा है कि नेहरू का स्वार्थ सभी बड़ी राष्ट्रीय त्रासदियों की वजह था।

गोपालाकृष्णन लिखते हैं, ‘अगर इतिहास के विद्यार्थियों ने ईमानदारी से बंटवारे के पहले के ऐतिहासिक तथ्यों और गोडसे के विचारों का अध्ययन किया होता तो वे इस निष्कर्ष पर पहुंच सकते थे कि गोडसे ने गलत निशाना चुना था।’

पूरे लेख में इस बात पर तर्क दिया गया है कि गांधी की हत्या में संघ का कोई हाथ नहीं था और गोडसे स्वयंसेवक नहीं था, लेकिन साथ ही यह भी कहा गया है कि गोडसे नेहरू से बेहतर था।

लेख कहता है, ‘वैश्विक नेता बनने के लिए नेहरू को गांधीजी का नाम, खादी और टोपी चाहिए थी। गोडसे नेहरू से कहीं ज्यादा बेहतर था। उसने सम्मानपूर्वक झुकने के बाद उन्हें गोली मारी। वह नेहरू जैसा नहीं था कि आगे से झुका और पीठ में छुरा भोंक दिया।’

अंग्रेजी अखबार इंडियन एक्सप्रेस से बातचीत करते हुए गोपालकृष्णन ने कहा है कि उनके लेख का मकसद अंग्रेजों द्वारा गलत तथ्यों पर लिखे गए इतिहास को एक्सपोज करना है।

वह कहते हैं, ‘नेहरू शुरू से ही स्वार्थी और पाखंडी थे। वह अपने से ऊपर कांग्रेस में किसी को नहीं देखना चाहते थे। गांधी जी की लोकप्रियता और प्रभाव से वह ईर्ष्या करते थे। नेहरू कभी भी गांधी के अनुयायी नहीं रहे। वह अंग्रेजों के पसंदीदा थे और इतिहास इस तरह से लिखा गया कि नेहरू को महान बनाया जा सके। अब समय आ गया है कि इतिहास को फिर से लिखा जाए।’

0 0
Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleppy
Sleppy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %
Share Button

Relate Newss:

'रघुबर सरकार ने रांची की निर्भया कांड की CBI जांच की अनुशंसा तक नहीं की'
किसान चैनलः बजट 45 करोड़ और ब्रांड एंबेसडर बने अमिताभ को मिले 6.31 करोड़!
ढोंगी रामपाल की काली दुनिया का सच
पत्रकार हत्याकांड: आशा रंजन को केस वापस नहीं लेने पर टुकड़े-टुकड़े कर डालने की धमकी
दैनिक जागरण की फिर शर्मनाक हरकत: ‘मुखिया की गुंडई’ का महिमामंडन,किसान को शराब तस्कर बना डाला !
कनफूंकवे खुश तो रघुवर खुश...!
आज क्राइम कंट्रोल मीटिंग में यूं फट पड़े नीतिश कुमार
सुरेन्द्र शर्मा की हास्य होली के निशाने पर यूं रहे नामी हस्तियां
एक चायवाला पीएम बन सकता है तो ममता बनर्जी क्यों नहीं : बाबा रामदेव
फेसबुक पर ओबामा के बाद मोदी !
सीएम नीतीश के हरनौत में धरने पर बैठे पत्रकार और नकारा बने उनके चहेते नालंदा डीएम-एसपी
आर्गनाइजर ने गलत नक्शे पर मांगी माफी  
अपने ही मुल्क में दफ्न होती ज़िंदगियां ! और कितनी शहादत ?
भ्रष्ट बीडीओ की गिरफ्तारी का मामला खोल रही रघु’राज की जीरो टालरेंस की पोल !   
NDA की अग्नि परीक्षा शुरु, RJD की टिकट पर लड़ेेंगे JDU विधायक
राबड़ी के कटाक्ष ने पहना दी आरएसएस को फुलपैंटः लालू
आरएसएस,जनसंघ और भाजपा को खून-पसीने से सींचा, आज सुध लेने वाला कोई नहीं !
कलाम क्यों नहीं कर पाये 2002 के दंगों के बाद गुजरात दौरा !
शिक्षा मंत्री ने कोडरमा डीडीसी को कहा- ‘बेवकूफ कहीं के...अंदर जाओगे’   
फर्स्ट पोस्टिंग में ही रिश्वत लेते पकड़ा गया यह IAS
भूमि अधिग्रहण अध्याधदेश का विरोध का कारण
सुशासन का सचः लिखंत कुछ, बकंत कुछ और करंत कुछ !
.....तो सपरिवार आत्मदाह कर लेगा पत्रकार वीरेन्द्र मंडल !
वायरल ऑडियो से उभरे सबालः कौन है मुन्ना मल्लिक? कौन है साहब? राजगीर MLA की क्या है बिसात?
फर्जी फेसबुक प्रोफाइल-पेजों में अव्वल हैं हेमंत सोरेन !

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...