बिहार के नतीजों पर वर्ल्ड मीडिया ने लिखा- अपनी क्षमता खो चुके हैं पीएम मोदी

Share Button
Read Time:3 Minute, 55 Second

prime-minister-narendra-modiबिहार विधानसभा चुनावों में बीजेपी की अगुवाई वाले एनडीए को मिली करारी हार को वैश्विक मीडिया ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लिए ‘सबसे अहम घरेलू झटका’ बताया है। इसके साथ ही इनमें कहा गया है कि यह हार दिखाती है कि वोट हासिल करने की उनकी क्षमता अब कम होती जा रही है।
पीएम मोदी की अपील हुई कम
ब्रिटिश अखबार ‘दि गार्जियन’ ने अपनी रिपोर्ट में कहा कि बिहार चुनाव जीतने में बीजेपी की नाकामी को इस संकेत के तौर पर देखा जा रहा है कि वोटरों पर मोदी की अपील अब कम होनी शुरू हो गई है।’

अखबार ने कहा, ‘भारत की सत्ताधारी पार्टी ने एक प्रांतीय चुनाव में हार मान ली है, जिसे प्रधानमंत्री नरेंद्र की वोट हासिल करने की क्षमता और उनकी राजनीतिक रणनीति की परीक्षा के तौर पर देखा जा रहा था।’

अखबार ने यह टिप्पणी ऐसे समय में की है जब मोदी इस हफ्ते ब्रिटेन की यात्रा पर जाने वाले हैं।
पीएम मोदी के लिए सबसे अहम घरेलू झटका
‘दि गार्जियन’ ने लिखा, ‘बिहार में बीजेपी की जीत मोदी के लिए सबसे अहम घरेलू झटका है, क्योंकि पिछले साल उभरती आर्थिक ताकत में हुए एक आम चुनाव में उन्हें शानदार जीत मिली थी। अपने चुनाव प्रचार में तेज विकास, आधुनिकीकरण एवं अवसर प्रदान करने के साथ-साथ रूढ़ीवादी सांस्कृतिक एवं सामाजिक मूल्यों के संरक्षण का वादा कर उन्होंने जीत हासिल की थी।’

अखबार ने कहा, ‘पिछले साल के चुनाव के दौरान मोदी ने अर्थव्यस्था को नई उंचाइयों तक ले जाने के जो भी वादे किए थे वे अब तक पूरे नहीं हुए हैं।’
आर्थिक कार्यक्रमों पर रायशुमारी में फेल पीएम मोदी
बीबीसी ने लिखा, ‘मोदी को पिछले साल के राष्ट्रीय चुनावों में एक शानदार जीत मिली थी, लेकिन यह चुनाव उनके आर्थिक कार्यक्रमों पर एक रायशुमारी के तौर पर देखा जा रहा था। यह हार एक बड़ा झटका है।’
गाय पर राजनीति के दुष्परिणाम
वहीं पाकिस्तान के बड़े अखबार ‘डॉन’ ने कहा कि खानपान की आदतों पर भारत की पारंपरिक सहनशीलता की कीमत पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की गाय पर राजनीति के खिलाफ बिहार चुनाव के नतीजे आए हैं। इसने उनके ‘संकीर्ण राष्ट्रवाद’ के खिलाफ विपक्षी एकता के एजेंडा को तय कर दिया है।

‘दि न्यूज’ ने अपनी रिपोर्ट में कहा कि बिहार में बीजेपी की हार प्रधानमंत्री के लिए बड़ा झटका है जिन्होंने अपने प्रचार में कोई कोर-कसर नहीं छोड़ी।

इसके अलावा ‘दि न्यूयॉर्क टाइम्स’ ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी को आज उस वक्त करारा झटका लगा, जब जनसंख्या के मामले में भारत के तीसरे सबसे बड़े राज्य बिहार के वोटरों ने विधानसभा चुनावों में उनकी पार्टी को खारिज कर दिया।

0 0
Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleppy
Sleppy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %
Share Button

Relate Newss:

नाबालिग छात्रा की थाने में जबरिया शादी मामले को यूं उलटने में जुटे कतिपय लोकल रिपोर्टर
जनसंख्या मामले में अपनी अपरिपक्वता(?) का सबूत पेश किया है भारतीय मीडिया !
झारखंड जर्नलिस्ट एसोसिएशन ने की फर्जी प्रेस वाहनों पर कार्रवाई की मांग
मधेपुरा जिले के बिहारीगंज में तनाव, नेट सेवा बंद, धारा 144 लागू
लुटेरे थैलीशाहों के लिए ‘अच्छे दिन’ ?
भारत में बिना वेतन काम करेगें 'ग्रीनपीस इंडिया' कर्मी !
विनायक विजेता का ‘तरुणमित्र’ के संपादक पद से इस्तीफा, बोले ब्लैकमेलर नहीं बन सकते
पत्रकारिता-समाज सेवा सीखनी हो तो मुजफ्फरपुर में आनंद दत्ता से सीखिए !
22 फरवरी को सीएम पद की शपथ लेगें नीतिश कुमार
पत्रकारिता से मुश्किल काम है राजनीति :आशुतोष
सितंबर-अक्तूबर के महीने में होंगे बिहार विधानसभा चुनाव
...और मीडिया जनित ऐसी खबरों पर फफक पड़े भाजपा विधायक डॉ. सुनील
रांची रेड क्रॉस बैंक में बेरोक-टोक 10 वर्षों से जारी है यह काला कारोबार
पटना शहर में अनंत सिंह के नाम 2 अरब से अधिक की जमीनें !
जर्नलिस्ट मोहनदीप ने Eurekha में लिखाः बाइसेक्शुअल हैं रेखा !
गजब ! ओरमांझी जन सूचना अधिकारी ने मांगे 25 रुपये प्रति पेज सूचना
स्टोरी आइडिया और मीटिंग
आसान नहीं है मीडिया का सामना करना :अमिताभ बच्चन
‘हम भारत के लोग’ और नेताओं के बीच यह अंतर क्यों ?
लालू स्तर तक जा गिरे हैं दादरी और दलितों की हत्या पर मौन मोदी : अरुण शौरी
प्रायः बड़े नेताओं के करीबी है मुजफ्फरपुर का महापापी ब्रजेश ठाकुर
सीएम रघुबर और मंत्री सरयू के झंझट में पिट गए जमशेदपुर के पत्रकार !
संजीवनी के इस महाभोज में सबने छक कर खाया
शर्मनाकः बाड़मेड़ पुलिस ने ‘दुर्ग’ के परिजनों से यूं ऐंठे 80 हजार रुपये
शाहरुख खान को लेकर अनाप-शनाप न बोलें BJP के नेता :अनुपम खेर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...