बाहुबली डीपी यादव की पटना में है करोड़ों की संपत्ति

Share Button
Read Time:2 Minute, 56 Second

बहुचर्चित नीतीश कटारा हत्याकांड में पिछले दिनों आजीवन कारावास की सजा पाए और फिल वक्त जेल में सलाखों के पीछे बंद यूपी के गाजियाबाद के बाहुबली व पूर्व मंत्री डीपी यादव ने बिहार की राजधानी पटना में करोड़ों की संपत्ति अर्जीत कर रखी है।

dp yadavबिहार में रियल इस्टेट के कारोबार में डीपी यादव ने जहां करोड़ो की पूंजी लगा रखी है वहीं पटना के पॉश इलाका माने जाने वाला पाटलिपुत्र कॉलोनी में भी उनका एक भव्य बंगला है जिसकी अनुमानित कीमत लगभग 15 करोड़ रुपये मूल्य का होगा।

यह बंगला पाटलिपुत्र के रोड नंबर 10-ए के प्लॉट नंबर 53-54 में स्थित है। डीपी यादव के इस बंगले के पीछे विधायक अंनंत सिंह का आलीशान होटल ‘बुद्धा हेरीटेज’ स्थित है। सूत्रों के अनुसार डीपी यादव ने पटना में कई और जगह संपत्ति अर्जित कर रखी है जिसका पता नहीं चल पाया है।

बताया जाता है कि डीपी यादव का पटना और बिहार में सारा कारोबार उनका मैनेजर अरुण देखता है जो पाटलिपुत्र स्थित उनके विशाल बंगले में अकेले रहता है और उसने एक शानदार लग्जरी गाड़ी ले रखी है।

dp yadavगौरतलब है कि यूपी के इस बाहुबली को बीते 10 मार्च को नीतीश कटारा हत्या मामले में आजीवन कारावास कि सजा सुनाई गई। जबकि उनका पुत्र विकास यादव व भतीजा विशाल यादव इसी मामले में पूर्व से ही जेल में बंद है।

dp_crimeनीतीश कटारा की हत्या प्रेम प्रसंग के कारण धोखे में ले जाकर कर दी गर्द थी। नीतीश कटारा का लव अफेयर डीपी यादव की पुत्री भारती यादव से चल रहा था। भारती के भाई विकास ने एक दिन अपनी बहन को एक पार्टी में नीतीश के साथ डांस करते देख लिया था।

16 फरवरी 2002 की रात विशाल उसका चचेरा भाई विशाल और उसका एक सहयोगी सुखदेव पहलवान ने नीतीश कटारा को घोखे में लेकर अपनी टाटा सफारी कार में बैठा लिया और उसकी हत्या करने के बाद उसकी लाश को बुलंद शहर के खुर्जा इलाके में फेक दिया था। ( अपने फेसबुक वाल पर विनायक विजेता की रिपोर्ट)

0 0
Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleppy
Sleppy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %
Share Button

Relate Newss:

फेसबुक को है tsu.co वेबसाइट से एलर्जी
अगर डॉक्टरी न करके गुलामी कबूल कर ली होती तो उसके दुधमुहें बच्चे राख न होते
फेसबुक पर ओबामा के बाद मोदी !
गुमनामी की गर्त में प्रथम महिला केन्द्रीय वित्त राज्य मंत्री के गाँव के टीले की विरासत !
रंगदारी मामले में बंद न्यूज़ पोर्टल का संपादक समेत तीन धराये
नोटबंदी को लेकर मोदी सरकार से कुछ सवाल
रेलवे की जमीन से जारी पशुओं की अवैध खरीद-बिक्री पर प्रशासन की वैध मुहर !
दैनिक जागरणः संपादक ने कहा तलवा चाटनेवाला तो रिपोर्टर ने कहा सबूत दिखाइए !
फिर से शुरू होगा कांग्रेस का नेशनल हेराल्ड अखबार : कपिल सिब्बल
दैनिक भास्कर के बोकारो ब्यूरो चीफ की निर्मम पिटाई के मामले में तीन दारोगा निलंबित
एक साल में चार वर्षों की दिशा तय की :रघुवर दास
विज्ञापन से सब नपे, नपे चैनल-अखबार
ऑर्गनाइजर ने जम्मू-कश्मीर को किया पाक हवाले !
मंत्री की टिप्पणी पर हाय तौबा मचाने वाले, इस आंचलिक पत्रकार की सुध कौन लेगा?
अब किताब के जरिए रघुबर दास की पोल खोलेंगे सरयु राय!
बोकारो मेें नक्सलियों ने रेल पटरी उड़ाई !
एनएजे ने सीएम को लिखा पत्र- पत्रकार को तत्काल रिहा कर नालंदा डीईओ पर हो कड़ी कार्रवाई
पांच्यजन्य अखबार के विरुद्ध कार्यवाही क्यों नहीं?
अस्तित्व रक्षा हेतु रघुवर सरकार को उखाड़ फेंकना जरुरी :शिबू सोरेन
पद्मश्री बलबीर दत्त आज की पत्रकारिता में अप्रासंगिक क्यों?
सुशासन का सचः लिखंत कुछ, बकंत कुछ और करंत कुछ !
हरनौत थानाध्यक्ष पर कार्रवाई को लेकर धरने पर बैठे पत्रकार, गंभीर है मामला
कालेधन की लिस्ट में कोई बड़ा नेता-व्यवसायी नहीं
पटेल आंदोलन से दूर रहें अमित शाह : हार्दिक पटेल
बलात्कारियों के भी समर्थक हैं चंदन मित्रा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...