पूर्व शिक्षा मंत्री एवं लेखक-पत्रकार सुरेन्द्र प्रसाद तरुण का निधन

Share Button
Read Time:3 Minute, 11 Second

पटना। बिहार के पूर्व शिक्षा मंत्री एवं पत्रकार सुरेन्द्र प्रसाद तरुण का लंबी बीमारी के बाद बीती रात्रि निधन हो गया। वह 88 के थे। दिवंगत तरुण ने बीती रात रात पटना मेडिकल कालेज अस्पताल में अंतिम सांस ली।

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने उनके निधन पर गहरी शोक व्यक्त करते हुए उनका अंतिम संस्कार राजकीय सम्मान के साथ कराए जाने की घोषणा की है।

उन्होंने अपने शोक संदेश में कहा कि सुरेंद्र प्रसाद तरूण एक प्रख्यात राजनेता एवं प्रसिद्ध समाजसेवी थे। उनके निधन से न केवल राजनीतिक बल्कि सामाजिक क्षेत्रों में भी अपूरणीय क्षति हुयी है।

मुख्यमंत्री ने दिवंगत आत्मा की चिर शांति तथा उनके परिजनों, अनुयायियों एवं प्रशंसकों को दु:ख की इस घडी में धर्य धारण करने की शक्ति प्रदान करने की ईश्वर से प्रार्थना की है।

नालंदा जिला के पंडितपुर गांव निवासी तरुण पडोसी गया जिला के अतरी विधानसभा सीट से और नालंदा जिला के हिल्सा विधानसभा क्षेत्र से विधायक रहे तथा तात्कालीन विंदेश्वरी दूबे मंत्रिमंडल में शिक्षा राज्य मंत्री बनाये गये। दिवंगत तरुण एक लंबे अरसे तक समाचार एजेंसी पीटीआई, हिन्दुस्थान समाचार, दैनिक आर्यावर्त आदि के संवाददाता भी रहे थे।

 साहित्य और पत्रकारिता में थी उनकी गहरी रूचि

उनका पार्थिव शरीर को बुधवार की सुबह पंडितपुर गांव लाया गया। सुबह से ही उनके यहां लोगों की आने का तांता शुरू हो गया है। तरुण जी एक पत्रकार के रूप में भी काफी दिनों तक काम किये हैं। उनकी साहित्य में भी गहरी रूचि थी। उन्होंने मगह के फूल, बज रहल बांसुरी जैसे कुछ किताबें भी लिखीं थी। उनके निधन से मगही समाज को गहरी क्षति हुई है।

राजगीर शहर ने अपना भीष्म पितामह को खो दिया है। वे जिले की आवाज थे। कहीं भी पूरी निर्भयता से अपनी बातों को किसी के सामने रखते थे। सबों के दिल पर राज करते थे। तरुण जी के कारण ही राजगीर में राजगीर महोत्सव शुरू हुआ था।

कई सालों से तरुण जी के द्वारा हीं राजगीर का प्रसिद्ध मकर मेला को जीवित रखा जा रहा था। अब उनके जाने के बाद मकर मेला को जीवित रखने के लिए भी किसी को आगे आना होगा।

0 0
Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleppy
Sleppy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %
Share Button

Relate Newss:

बिग बी ने सिंगापुर की जिद्दू डॉट कॉम में किया 7.1 करोड़ का निवेश !
फेसबुक पर यूं बौखलाए कैमरे की जद में आये ईटीवी (न्यूज18) के सीनियर रिपोर्टर!
एक प्रेम-प्रसंग को लेकर यूं गेम खेल गई पटना-नालंदा की कंकड़बाग-चंडी पुलिस
ऐय्याश-भगोड़ा विजय माल्या को भारत लाना दूर की कौड़ी, गिरफ्तारी के 3 घंटे बाद ही रिहा
आखिर रघुवर दास महेन्द्र सिंह धौनी से इतने चिढ़ते क्यों है?
बिना हेलमेट बाइक चला रहे छायाकार को पुलिस ने धुना, लगी गंभीर चोट
संदर्भ झारखंडः एक राजा था...
अब 2अक्टूबर से नया संशोधित शराबबंदी कानून लागू करने की मंशा
अर्जुन मुंडा झूठे हैं या दर्जनों फेसबुक प्रोफाइल-पेज ?
इस बच्ची की कलम और पढ़ाई के प्रति ललक देख नम हो गई आँखें
खबर के बाद हरकत, मलमास मेला मोबाईल एप्प से अवैध जानकारी हटाने में जुटा प्रशासन
झारखंडः आप का सत्यानाश, केजरीवाल की थू-थू
पत्रकार प्रताड़ना को लेकर यूं मुखर हुए पूर्व विधायक अनंत राम टुडू
मीडिया पर बड़ा हमलाः आधार कार्ड लीक न्यूज ब्रेकर रचना खैरा पर एफआईआर
फेसबुक से लोग चुन-चुन कर हटा रहे इस 'लेडी ब्रजेश ठाकुर' की तस्वीरें
अब इस रिपोर्टर का कौन सा ईलाज करेंगे नालंदा एसपी !
नियुक्ति के बाद से FTII ऑफिस नहीं गए गजेंद्र चौहान
भला हो रेड क्रॉस की, दुःखी पत्रकार को मरहम लगाया
पटना-नालंदा के अखबारों में यूं छापे जा रहे हैं उपयोगिता विहीन सरकारी विज्ञापन
मोदी राज में हुआ 25 हजार करोड़ का एलईडी घोटाला !
रांची-हजारीबाग एन.एच.33 फोरलेन निर्माण के दौरान जम कर हुईं लूट-खसोंट
अमेजन के हिंदू देवी-देवताओं की ‘फोटो लेगिंग’ पर बबाल
हिंदी पत्रकारिता दिवस: बिहार में साहित्यिक पत्रकारिता का विकास
जेएनयू में सफ़ाई अभियान की ज़रूरत है
13 अक्टूबर से अपना अखबार निकालेगें हरिनारायण जी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...