पीएम मोदी को दी मीडिया एडवाइजर रखने की सलाह

Share Button

pm-modi

 चुनौतियों से पार पाने के लिए, निगेटिव माहौल से निकलने के लिए, मीडिया में चल रही निगेटिव खबरों से निपटने के लिए मोदी को एक मीडिया सलाहकार की जरूरत है।

 ये मानना है दुनियां के जाने माने इकनॉमिस्ट और कोलम्बिया यूनीवर्सिटी के प्रोफेसर जगदीश भगवती का।

जगदीश भगवती ने ये इंटरव्यू एनडीटीवी को दिया और इंटरव्यू लेने वालीं थीं बरखा दत्त। बरखा दत्त से बातचीत के दौरान मोदी का बचाव करते हुए भगवती ने उन्हें कई सलाह भी दीं।

सबसे बड़ी सलाह थी कि मीडिया से निपटने के लिए मोदी को एक मीडिया सलाहकार की जरूरत है, भगवती के मुताबिक इस तरह के माहौल से पार पाने के लिए मोदी के पास एक्सपर्टाइज नहीं है, ऐसे में उन्हें एक मीडिया एडवाइजर ही मदद कर सकता है।

हालांकि बीजेपी के पास एम.जे. अकबर, सुधांशु त्रिवेदी, चंदन मित्रा, नलिन कोहली जैसे पुराने पत्रकार तो हैं ही, सम्बित पात्रा जैसे तेजतर्रार प्रवक्ता और एक बड़ी मी़डिया टीम भी है, पर उन्हें भी भगवती पर्याप्त नहीं मानते।

भगवती ये भी कहते हैं दादरी केस में मोदी को ना केवल जल्दी रिएक्शन देना चाहिए था, बल्कि अखलाक की फैमिली को मिलने के लिए भी बुलाना चाहिए था।

इसके अलावा भगवती ने कहा कि मोदी को और ज्यादा एक्सेसिबल और वोकल होना पड़ेगा। इसके अलावा उन्हें राइट जॉब के लिए राइट आदमी को भी चुनना पड़ेगा, साफ इशारा था कि कुछ गलत आदमी चुने गए हैं।

हालांकि भगवती ने अरुण शौरी को केबिनेट के लिए ना चुने जाने के मोदी के फैसले का फेवर करत हुए  कहा कि अम्बेडकर पर जो विचार अरुण शौरी के हैं, उन्हें जानकर कोई भी पीएम अरुण शौरी को कैबिनेट में लेने का रिस्क नहीं लेगा।

चलते-चलते भगवती ने आमिर खान को भी सलाह दे डाली कि पब्लिक लाइफ में कोई भी बयान देते वक्त ज्यादा केयरफुल रहना होगा।

अब देखने की बात होगी कि आमिर और मोदी दोनों उनकी सलाह पर अमल करते हैं कि नहीं और मोदी का मीडिया एडवाइजर अगर कोई बना भी तो वो कौन हो सकता है।

Share Button

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...