पगलाया बिहार नगर विकास एवं आवास विभाग, यूं बनाया 2 दिन का सप्ताह

Share Button
Read Time:1 Second

बिहार नगर विकास एवं आवास विभाग दो दिन को एक सप्ताह मानती है। या फिर आम जनता को तकनीकी तौर पर ‘उल्लू’ समझती है और एक बड़े स्कैम को ढंकने की तैयारी में जुट गई है…

-:  मुकेश भारतीय  :-

राजनामा.कॉम। इस विभाग द्वारा स्वच्छ भारत मिशन (शहरी) अभियान के तहत आज 30 अगस्त,18 को पटना से प्रकाशित एक हिन्दी दैनिक हिन्दुस्तान के पेज-14 पर में पीआर नंबर-7448 (अरवन डेवलेपमेंट) 2018-19 एक महती विज्ञापन प्रकाशित हुई है। यह विज्ञापन को नगर विकास एवं आवास विभाग, पटना के प्रधान सचिव ने निवेदित किया है।

विज्ञापन के जरिये जन साधारण को सूचित किया गया है कि स्वच्छ भारत मिशन (शहरी) योजनान्तर्गत राज्य के 35 नगर निकायो को अगस्त 2018 में शुले में शौच (ओडीएफ) घोषित किया जाना है।

जिक्र है कि भारत सरकार के क्वलीटि कांसिल ऑफ इंडिया के द्वारा माह अगस्त,18 अपेक्षित है। अगर किसी परिवार को किसी प्रकार का दावा या शिकायत है तो निपटारा के लिये सीधे स्थानीय नगर निकाय / स्वच्छ भारत मिशन, परियोजना प्रबंधक ईकाई, नगर विकास एवं आवास विभाग, विकास भवन, बेली रोड, पटना को लिखित दावा या सुक्षाव प्रकाशन की तिथि के एक सप्ताह के अंदर भेज सकते हैं।

उल्लेखनीय है कि निर्धारित अवधि में किसी प्रकार का दावा या आपत्ति प्राप्त नहीं होती है तो समझा जायेगा कि संबंधित नगर निकायों के किसी भी भी व्यक्ति को इस संबंध में कोई दावा या सुक्षाव देना नहीं है। ऐसी स्थिति में उक्त नगर निकाय को खुले में शौच मुक्त (ओडीएफ) समझा जायेगा।

विज्ञापन में बताया गया है कि इसी तरह बिहार के कुल 55 नगर पंचायतों को भारत सरकार एवं क्यूसीएल द्वारा खुले में शौच मुक्त (ओडीएफ) घोषित किया जा चुका है।

सवाल उठता है कि क्या बिहार सरकार का नगर विकास एवं आवास विभाग दो दिन को ही सप्ताह मानती है। अगर नहीं तो 30 अगस्त 2018 को सूचना प्रकाशन कर अगस्त 18 माह अंतिम तिथि कैसे घोषित कर डाली। 30 अगस्त 2018 के बाद 31 अगस्त, 2018 तिथि ही शेष रह जाती है यानि मात्र दो दिन। फिर एक सप्ताह की समय सीमा का क्या तुक रह जाती है।

जाहिर है कि इस तरह की सूचनाओं का प्रकाशन आम जनता की आंखों में धूल झोंक कर विभाग द्वारा सिर्फ कागजी घोड़ा दौड़ाने से इतर कुछ नहीं माना जा सकता। या फिर हो सकता है कि विभागीय करींदों की मनमर्जी है कि वे सात दिन को सप्ताह घोषित करें या दो दिन का।

ऐसे भी हवाई विकास करने वाले कुछ भी कर सकते हैं। लेकिन वे भूल जाती है कि ये पब्लिक है, जो सब जानती है। अन्दर क्या, बाहर क्या सब पहचानती है।

0 0
Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleppy
Sleppy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %
Share Button

Relate Newss:

राजगीर में अराजकता, पार्श्व नाथ की मूर्ति तोड़ा
देखिए आज तक की डिस्क्लेमर हद, रिजल्ट पूर्व नीतिश-मोदी के विजयी भाषण तक गढ़ डाले
प्रेस क्लब रांची चुनावः कमजोर नींव पर बुलंद ईमारत बनाने के जुमले फेंकने लगे प्रत्याशी
अमरीका: चर्च में नंगा होकर उपदेश बखारता है पादरी
रघु'राज में गरगा पुल से मिली जनजीवन को नई रफ्तार
आर्गनाइजर ने गलत नक्शे पर मांगी माफी  
..और अब यूं वेब न्यूज पोर्टल चलाएंगे वरिष्ठ पत्रकार आशुतोष
चुनाव आयोग ने नीतीश सरकार पर कसा शिकंजा, नालंदा के डीएम समेत 49 IAS इधर-उधर !
योग सुंदरी से यूं शीर्षासन करा रहे हैं झारखंड के अधिकारी
बिहार में केंद्रीय विश्वविद्यालय की नियुक्तियों पर उठते सवाल
दैनिक भास्कर ने उठाया ‘नो निगेटिव टास्क' का रिस्क !
राहुल के खिलाफ मोदी ने क्यों नहीं लड़ा चुनाव: मायावती
बीयर पीते दिखे जदयू के पूर्व MLA अरेस्ट, पार्टी से भी सस्पेंड
नालंदा के थानों में जी हुजूरी करते चौकीदार और अपराधी बने डीएम-एसपी
बिहार के मंत्री परवीन अमानुल्लाह के इस्तीफे का गेम प्लान
ग्रेटर नोयडा की शर्मनाक करतूत, दलित दंपति सरेआम नंगा!
कोयला घोटाले में देश के चार बड़े मीडिया ग्रुप की हिस्सेदारी
सेंसरशिप सिर्फ बिहार में ही नहीं हैं काटजू साहब
मौन है लखनऊ के दल्ले पत्रकारों की कलम !
पीएम मोदी के नाम लालू का खुला पत्र- 'चेतें अथवा अपना कुनबा समेटें'
बिहारी बाबू ने पीएम मोदी को दी सलाह, न छेड़ें बिहारी अस्मिता

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...
mgid.com, 259359, DIRECT, d4c29acad76ce94f
Close
error: Content is protected ! www.raznama.com: मीडिया पर नज़र, सबकी खबर।