न्यूज़ कवरेज करने गए रिपोर्टर पर हमला, कैमरा तोड़ा

Share Button

राजनामा.कॉम। रांची जिले के ओरमांझी थानान्तर्गत इरबा बस्ती में एक जमीन मामले को लेकर दो पक्षों के बीच में आपसी झड़प की की सूचना पाकर पहुंचे एक चैनल के रिपोर्टर  पर जानलेवा हमला किया और एक पक्ष के लोगों ने कैमरा-मोबाइल तोड़ते हुए गाली गलौज करते हुए मारपीट की।       

पीड़ित रिपोर्टर ने इसकी तत्काल शिकायत ग्रामीण डीएसपी चन्द्रशेखर आजाद और थाना प्रभारी संतोष कुमार को दी, जिन्होंने दोषियों के खिलाफ हरसंभव जांच-कार्रवाई करने का भरोसा दिया है।

रिपोर्टर ने बताया कि ओरमांझी प्रखण्ड के इरबा बस्ती में बपौती जमीन खाता न-123 प्लाट न-123 कुल रकबा 15 डी. को हड़पने का प्रयास कई सालों से हासिम अंसारी कर रहा था। जबकि जमीन में तीन भाइयों ,समीम अंसारी, हासिम अंसारी, जसमुद्दीन अंसारी का हिस्सा है। तीनों भाइयों का 4-4 डी. बंटवारा हुआ था, जिसके आधार पर मो. हाशिम अंसारी ने जसीमुद्दीन अंसारी के नाम पर 4 डिसमिल जमीन दो लाख लेकर अग्रीमेंट कर दिया था।

इसके बाद जालसाजी कर के हासिम अंसारी ने अपने भाई को दिए जमीन को अपने पत्नी के नाम से रजिस्ट्री करवा लिया और भाई से लिया पैसा वापस नहीं कर रहा है। तब जसमुद्दीन अंसारी ने न्याय के लिए अंजुमन इस्लामिया सेंट्रल कमिटी ओरमांझी के समक्ष न्याय की गुहार लगाई।

इसी संदर्भ में जांच करने पहुंचे अंजुमन के सचिव सह पूर्व उपप्रमुख मुंतजिर अहमद रजा और सह सचिव रफीक अंसारी स्थल निरक्षण के लिए आए हुए थे। उसी क्रम में दोनों पक्षों के बीच धक्कामुकी होने लगा।

इसी दौरान समझाने-बुझाने में जुटे अंजुमन के लोगों पर हासिम अंसारी के चार लड़कों ने हमला कर दिया। जिसके नाम मो. आमिर अंसारी उर्फ सोनू, तनवीर उर्फ छोटी, मो. तौकीर उर्फ बालक और हासिम अंसारी की पत्नी असिमन खातून आदि लोग शामिल हैं। वे सारे हरवे हथियार से लैश थे।

रिपोर्टर के अनुसार जब वह इस वारदात को अपने कैमरे में कैद करने लगा तो हमलावर पक्ष ने उसे भी न छोड़ा और मारपीट, धक्का-मुक्की करते हुये कैमरा-मोबाईल तोड़ दिया। उसके बाद वह किसी तरह अपनी जान बचाकर भागे।

Share Button

Relate Newss:

'क्राइम...इंडिया' का संपादक खुद क्राइम में धराया
कोर्ट सरेंडर के पहले पीएम और राष्ट्रपति से मिलेगी विधायक निर्मला देवी
मुलायम का मायावती प्रेम और सपा-बसपा की राजनीति के मायने
जमीन दलाली में लिप्त है पुलिस महकमाः सीपी सिंह
भाजपाई मंत्री 'बाटुल' की साख पर बट्टा
बहुरोग नाशक है काली मिर्च
मुंडा का इस्तीफा स्वीकार,विधानसभा भंग करने की सिफारिश
केजरीवाल को नक्सलियों का समर्थन, पांच बच्चे पैदा करे हिंदूः सिंघल
जरूरी नहीं है आरटीआई के लिये आवेदक को अपना नाम पता बताना
कोयला घोटालाः सुबोधकांत सहाय का हाथ भी काला
पृथ्वी की कक्षा में पहुंचा भारत का 'मंगलयान'
द नेशनल फाउंडेशन फॉर इंडिया की मीडिया फेलोशिप का डेडलाइन 30 दिसंबर
लक्ष्मणपुर बाथे कांड कोई हादसा नहीं था :जस्टिस अमीरदास
45 दिन में अपील पर निर्णय करे सूचना आयोग
"मां बदौलत" 21 दिन बाहर रहे मधु कोड़ा फिर पहुंचे जेल

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...
loading...