‘द इकोनॉमिस्ट’ ने लिखा- ‘वन मैन बैंड’ हैं मोदी !

Share Button

राजनामा.कॉम।  ब्रिटेन की मशहूर मैगजीन ‘द इकोनॉमिस्ट’ ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के एक साल के काम की पड़ताल की है। मैगजीन ने मोदी को ‘वन मैन बैंड’ की संज्ञा दी है और उनका ऐसा चित्र छापा है, जिसमें वह अकेले ढेर सारे म्यूजिक इंस्ट्रुमेंट लिए हुए दिखाई दे रहे हैं।

modi-bandमैगजीन ने भारत के सुनहरे भविष्य की ओर इशारा तो किया है, लेकिन कई मुद्दों पर पीएम मोदी की जमकर आलोचना भी की है।

रिपोर्ट में यहां तक कहा गया है कि पीएम मोदी की सोच अब भी गुजरात के मुख्यमंत्री जैसी ही है, राष्ट्रीय नेता जैसी नहीं।

अगर मोदी को देश में वाकई बदलाव लाना है तो भारत के ‘वन मैन बैंड’ को नई धुन की जरूरत है।

बहुत धीमी है मोदी की रफ्तारः

मैगजीन ने लिखा है कि मोदी के अपने देश के लिए बड़ी आकांक्षाएं है और इसके लिए उन्हें आत्मविश्वास भी है। लेकिन उन्हें अब भी यह बताना है कि वह यह काम कैसे करेंगे।

रिपोर्ट के मुताबिक, ‘मोदी अच्छे दिनों का नारा देकर सत्ता में तो आ गए, लेकिन उनकी रफ्तार बेहद धीमी है। वोटरों ने बीजेपी को पिछले 30 साल में सबसे ज्यादा सीटें दीं, लेकिन मोदी ने जितने अधिकार अपने हाथों में रखे उतने हाल के सालों में शायद ही किसी दूसरे प्रधानमंत्री ने रखे हों।’

मैगजीन के मुताबिक, भारत को बड़े बदलाव की जरूरत है और यह काम ‘वन मैन बैंड’ (मोदी) के लिए बहुत बड़ी चुनौती है।

मैगजीन ने आगे लिखा है कि भारत को दुनिया में सबसे ज्यादा आबादी वाला देश बनने में ज्यादा वक्त नहीं लगेगा. इतना ही नहीं, यह दुनिया की तीन बड़ी अर्थव्यवस्थाओं में एक होगा और इतिहास में पहली बार भारत का दुनिया पर इतना प्रभाव होगा। हालांकि, मैगजीन के मुताबिक मोदी को लगता है कि सिर्फ एक ही शख्स है जो इस रास्ते पर भारत की अगुवाई करेगा…नरेंद्र दामोदरदास मोदी।

मैगजीन ने पिछले साल चुनाव के दौरान मोदी पर स्टोरी न करने का कारण भी बताया है।

‘द इकोनॉमिस्ट’ ने लिखा है, ‘हमें धार्मिक मामलों को लेकर उनकी क्षमता पर शक था। मोदी कट्टर हिंदुओं को रोक पाने में नाकाम रहे हैं। पर खुशी इस बात की है कि अब तक कोई बड़ी सांप्रदायिक हिंसा नहीं हुई है, जिसका हमें सबसे ज्यादा डर था।’

Share Button

Relate Newss:

हरिबंश को मिली चाटुकारिता का ईनाम
भाजपा का चुनावी झंडा ढो रहा है झारखंड सरकार का लापता सचिव
विवादों-सुर्खियों के बीच पुलिस-प्रशासन11 ने पत्रकार11 को रौंदा
दीपक चौरसिया की 'इंडिया न्यूज' चैनल में वापसी
विधायक अमित महतो ने फेसबुक पर निकाली जर्जर सड़क की खीज
कलाम क्यों नहीं कर पाये 2002 के दंगों के बाद गुजरात दौरा !
मढ़वा के दिन प्रेमी संग फरार प्रेमिका ने ग्राम कचहरी में रचाई शादी !
मीडिया ने बबूल को बरगद बना दिया
जारी है झारखंड सूचना एवं जनसंपर्क विभाग में लूट का खेल
पत्रकारों के लिए एशिया का पाक-अफगानिस्तान से खतरनाक देश है भारत !
पहले डॉक्टर ने लूटा, फिर भगताईन ने ली एक विधवा आदिवासी की बिटिया की जान
जेयूजे प्रदेश अध्यक्ष रजत गुप्ता का आह्वान- रांची चलो
नीतिश के गुस्से में छुपा है राज्य में बड़े स्तर पर प्रशासनिक फेरबदल के साफ संकेत
कानून यशवंत सिन्हा की रखैल नहीं है आडवाणी जी
आईये raznama.com की नई मुहिम "ऑपरेशन इंक" से जुड़िए

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...
loading...