दगंलः आमिर खान की एक और बजोड़ फिल्म

Share Button
Read Time:7 Minute, 29 Second

मिस्टर परफेक्शनिस्ट कहे जाने वाले आमिर खान जब किसी फिल्म में काम करना शुरू करते हैं तो उसी दिन से दर्शकों को उस फिल्म का इंतज़ार शुरू हो जाता है । उनकी फिल्में कथा वास्तु, तकनीकी अभियान और सिनेमैटोग्राफी का बेजोड़ नमूना होती हैं। और क्यों न हों हर चीज पर आमिर खान बारीकी से काम करते हैं। इसका ताज़ा उदाहरण हैं आमिर खान की हालिया रिलीज दंगल।

अगर आप किसी बेहतरीन फिल्म को देंख चाहते हैं तो आमिर खान की फिल्‍म ‘दंगल’ आपकी उस खोज को पूरा करती हुई नजर आती है, जिसमें जिंदगी की कहानी को बेहद संजीदा अंदाज में फिल्‍म निर्देशक नितेश तिवारी ने बनाया है। अखाड़े की भूरी मिट्टी की महक और धमक के बीच यह फिल्‍म एक ऐसे इंसान की दास्‍तान है जो एक पिता, एक कोच के साथ ही अपने सपनों को पूरा करने के लिए जिंदगी की कहानी में रंग भरता हुआ नजर आता है और इसी का नाम है ‘दंगल’।

दंगल के बारे में कुछ कहने से पहले आप को बता दें की दंगल देखने के बाद सलमान ने ट्वीट किया की दंगल सुलतान से बेहतर हैं …. उन्होंने आगे लिखा की मैं पर्सनली आमिर को प्यार करता हूँ पर प्रोफेशनली हेत करता हूँ । खैर यह तो मजाक था पर एक जैसे ही (मिलती-जुलती) विषय वस्तु पर बनी फिल्म में एक का नायक सुलतान सलमान दंगल की प्रशंशा करने के लिए विवश हुआ तो कुछ तो खास होगा ही।

फिल्‍म की पटकथा जितनी शानदार है उतना ही गजब का फिल्‍म का संपादन है जो कहानी को एक लय के साथ बयां करता है। आमिर खान के अभिनय की एक ऐसी पाठशाला है जिसके हर पेज पर आपको एक अलग ही रंग नजर आता है। इस बार भी महावीर फोगट के 25 से 55 साल के किरदार को जिस अंदाज में आमिर ने पर्दे पर जिया है वह देखने लायक है। सपनों को जब अपनों के सहारे जीतना हो तो मंजिल पर पहुंचने से पहले का सफर रोचक हो ही जाता है और ‘दंगल’ जिंदगी के एक ऐसे ही सफर की दास्‍तान है जिसमें जिदंगी के सभी दांव आपको नजर आते हैं।

यह फिल्‍म एक ऐसे व्‍यक्ति महावीर फोगट (आमिर खान) की कहानी है जो रेसलिंग की दुनिया में देश के लिए गोल्‍ड जीतने का सपना रखता था और वह अपने इस सपने को अपने बेटे के माध्‍यम से पूरा करना चाहता था। बेटे की चाहत के फेरे में उसके घर में एक के बाद एक चार बेटियों का जन्‍म हो जाता है। महावीर को लगता है कि अब उसका सपना कभी पूरा नहीं हो पाएगा। लेकिन इसी बीच कुछ ऐसी घटना होती है जिसके बाद महावीर अपनी दो बेटियों गीता और बबीता को रेसलिंग की दुनिया में चैंपियन बनाने का इरादा ठान लेता है। फिर क्‍या था उसके बाद हरियाणा की धरती के भिवानी गांव की ये दोनों बेटियां रेसलिंग की दुनिया में अपना नाम रोशन करती हैं और अपने बापू का सपना सच करती हैं।

बॉक्‍स ऑफिस पर नितेश तिवारी ने जो सिनेमाई अफसाना ‘दंगल’ बनाया है उसके अखाड़े की भूरी मिट्टी इस बात का संदेश देती है कि अगर हम बेटे और बेटी में भेदभाव किए बिना उनको आगे बढ़ने का समान अवसर दें तो वे पूरी दुनिया में अपनी सफलता से इतिहास रचने का हौसला रखती हैं।

जहां तक कलाकारों के अभिनय की बात है तो कड़क मिजाज कोच के रूप में आमिर खान ने बेजोड़ अभिनय किया है। साक्षी तवंर ने गीता-बबीता के रोल में प्रभावी छाप छोड़ी है। सबसे खास बात जायरा वसीम (फातीमा सना शेख) सुहानी भटनागर (सान्या मल्होत्रा) के गीता-बबीता के बचपन को जिस अंदाज में पर्दे पर जिया है उसके लिए उनकी तारीफ की जानी चाहिए। हरियाणवी अंदाज में गजब की संवाद अदायगी और स्‍टाइल दर्शकों पर अलग ही छाप छोड़ने में कामयाब रहती है।

कुल मिलाकर फिल्‍म बहुत शानदार है, फिल्‍म में डॉयलाग गजब के हैं जो कहानी को आगे बढ़ाते हैं उसी तरह से फिल्‍म की पूरी पटकथा रिएलिटी के काफी पास है और सबसे खास बात फिल्‍म का अंत भी उतना ही रोचक है जो दर्शकों को बांधकर रखता है। देशभक्ति का ज्‍वारभाटा भी बेहद शानदार अंदाज में फिल्‍म की कहानी में बयां किया गया है, जिसमें भावनात्‍मक आवेग के साथ ही हरियाणवी स्‍टाइल का पूरा पंच शामिल है। फिल्‍म निर्देशक नितेश तिवारी ने फिल्‍म को एक कंपलीट पैकेज के तौर पर पेश किया है जिसमें कहानी में एक नयापन है। कलाकारों का उम्‍दा अभिनय है और गजग का संपादन है जो कहानी कहने की कला का बेजोड़ संगम है।

फिल्‍म का गीत संगीत पक्ष भी शानदार है फिल्म का टाइटल सॉन्ग ‘दंगल’ दिलेर मेहंदी की आवाज में बेहतरीन बन पड़ा है। ‘हानिकारक बापू’ के बोल उम्‍दा है। जोनिता गांधी ने ‘गिलहंरियां’ को बेहद मीठी आवाज में गाया है जिसमें गजब की मधुरता है। ‘दंगल’ एक शानदार कहानी पर बेहतरीन निर्देशन में मधुर संगीत के साथ बनाई गई एक कालजयी फिल्‍म है जिसे देखने का आपको बार बार मन करेगा।

‘दंगल’ एक फिल्‍म भर नहीं है एक सपने को कैसे जिया जा सकता है उसे जानने की दास्‍तान है जो आपको एक प्रेरणा देती है। कहानी को बयां करते हुए अखाड़े की छोटी-छोटी बातों और एक बायोपिक फिल्‍म के निर्माण में जिन को ध्यान रखना चाहिए उसका बेजोड़ उदाहारण है फिल्‍म ‘दंगल’। वैसे भी आज़ल जिंदगी को फिल्मों के माध्यम से जोड़ कर समझाने का जो नया चलन चला है … दंगल फिल्मों के इस नए दौर में पूरी बहादुरी के साथ उतरती है … और जीतती भी है। (कबिता बिंदल)

0 0
Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleppy
Sleppy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %
Share Button

Relate Newss:

डॉ. ऋता शुक्ला, डॉ.महुआ मांजी समेत 14साहित्यकार होंगे सम्मानित
मीडिया-दलाली का कच्चा चिठ्ठा है दैनिक भास्कर रिपोर्टर का यह वायरल ऑडियो
राजगीर के इस भू-माफिया को यूं महिमामंडन कर डाला दैनिक हिन्दुस्तान वालों ने
झारखंड में भी लागू हो पत्रकार सुरक्षा कानून  : JJA
जाहिल हैं रघुबर सरकार के शिक्षा मंत्री ?
जर्नलिस्ट रवीश कुमार को मिला 'रैमॉन मैगसेसे' अवार्ड’2019
नालंदाः मदरसे में लड़कियों की प्रवेश-पढ़ाई पर तालिबानी रोक !
सुशासन बाबू के कुशासित नालंदा में यूं 'कैद' हुआ जमशेदपुर का टीवी रिपोर्टर
पंचायत चुनावः राजनाथ-मोदी के संसदीय क्षेत्र में बीजेपी की करारी हार
फर्जी डिग्री देती है मैनेजमेंट गुरु अरिंदम चौधरी की IIPM
आखिर मोदी राज में रामजादा कौन और हरामजादा कौन?
न लहर....न पहर....सब बेअसर की संभावना
सीएम नीतिश के चहेते जदयू विधायक के गांव में अवैध शराब पर पुलिस का गंदा खेला !
गोड्डाः  सरकारी पुल निर्माण में बाल श्रम कानून की उड़ रही धज्जियां
धारा 377 को लेकर कोर्ट के निशाने पर आमिर खान !
तबादले पर बवाल है-उठते कई सवाल हैं
सोशल मीडिया के सहारे तेजस्वी का भाजपा पर करारा हमला
हर कलाकार अपना फैलाव चाहता है :मनोज पांडे
देश में बढ़ती असहिष्णुता के खिलाफ आमिर खान भी प्रबुद्ध वर्ग में शामिल
गौमांस खाने वाले ओबामा से गले मिलते हैं मोदी : लालू
मीडिया मालिकों के कालाधन पर क्यों नहीं पड़ा छापा : आलोक मेहता  
जेल में ऐश कर रहे महापापी ब्रजेश ठाकुर की बड़ी ‘मछली’ है ‘रेड लाइट एरिया’ की उपज मधु
वोफ्फर  :ई-कॉमर्स व्यापारियों की नयी सीढ़ी
डॉ. नीलम महेंद्र को मिला अटल पत्रकारिता सम्मान
उस महिला का गर्भपात की पुष्टि, कोडरमा घाटी में जिस अज्ञात महिला का मिला था शव

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...