ड्रग माफिया के खिलाफ आवाज उठाई तो हाथ-पैर काट डाले !

Share Button

कोच्चि (केरल)। केरल में एक सामाजिक कार्यकर्ता को ड्रग माफिया के खिलाफ आवाज उठाना बहुत महंगा पड़ा। ड्रग माफिया ने सामाजिक कार्यकर्ता जय कुमार पिल्लई के हाथ-पांव काट दिए।

kerala-activistsअलपुज्ज़ा जिले में कयाकुल्लम गांव में ड्रग माफिया के खिलाफ अपनी आवाज उठाने के लिए पिल्लई के पूरे शरीर पर तेज धारदार तलवार से जगह-जगह वार किया गया था।

रिपोर्ट के मुताबिक, पिल्लई अपने गांव के पास स्थित जिम से वापस लौट रहे थे तभी रात 9 बजे के करीब ड्रग माफिया के कथित 7 बदमाशओं ने उन पर हमला कर दिया। बुरी तरह घायल हुए जयकुमार को अस्पताल ले जाया गया।

डॉक्टरों का कहना है कि जयकुमार को ठीक होने में एक साल लग जाएगा। लेकिन अब वो फिर कभी पहले की तरह काम नहीं कर पाएंगे क्योंकि उनकी नसों और मसल्स को तलवार जैसे धारदार हथियार से काट दिया गया है।

पिल्लई ड्रग माफिया के खिलाफ 16 सालों से मुहिम चला रहे थे। कोच्चि के अस्पताल में भर्ती पिल्लई ने बताया, उन्होंने मेरी कार रोककर मुझ पर तलवार से हमला किया। हमलावर करीब सात से दस थे।

पिल्लई के अनुसार, उन्होंने करीब एक साल पहले ड्रग माफिया के खिलाफ पुलिस में शिकायत दर्ज की थी। तीन महीने पहले एक मंत्री उनके गांव आए थे। उस वक्त हम लोगों ने उन्हें बड़े पैमाने पर एक याचिका दी थी। उसी दिन हमें माफिया की तरफ से चेतावनी मिली थी।

इसके बाद हमने शिकायत दी थी कि ड्रग माफिया हमें मार सकता है। उन्होंने आरोप लगाया कि उनकी सूचना के बाद कुछ हमलावरों को पुलिस ने शिकायत से पहले ही छोड़ दिया था। पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है और हमलावरों की तलाश की जा रही है।

Share Button

Relate Newss:

फेसबुक पर सनसनी मचा रहा है तेजस्वी-चिराग का ‘वायरल’
वरिष्ठ पत्रकार डॉ. वैदिक ने पीएम मोदी को दी हार की बधाई
प्लास्टिक के तिरंगे का उपयोग पर होगी तीन साल की कैद !
श्वेताभ सुमन की लंका में फूटी चिंगारी, सुनिये ऑडियो टेप
दैनिक भास्कर ग्रुप से कार्यमुक्त निदेशक अब चलाएंगे वेबसाइट
OOGLE MAP के लांच नये फीचर से अब ऑफ़लाइन भी मिलेगी दिशा
हरिबंश को मिली चाटुकारिता का ईनाम
मुखपत्र नहीं, मूर्खपत्र है संघ का ऑर्गेनाइजरः शिवसेना
पीएम के ‘मन की बात' के जवाब में राजद का ‘काम की बात' !
कहां है द रांची प्रेस क्लब भवन? डाकघर से यूं लौटी लीगल नोटिश
आरक्षित वर्गो के गले की हड्डी ना बन जाये यह निर्णय
झारखंड में मस्ती मार लौट रहे बिहार में धराये यूपी के दयाशंकर !
उज्जैन शिप्रा तट पर गधों के मेले में अव्वल लालू-नीतीश की जोड़ी
बिल्डर अनिल सिंह का सहयोगी फिल्म पीआरओ रंजन सिन्हा  गिरफ्तार
सबकी ‘होली’ एक दिन, अपनी ‘होली’ सब दिन

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...
loading...