झाविस चुनाव में मोदीजी का कुछ यूं हुआ पहला संबोधन !

Share Button

modi_munda_dasआज विधानसभा चुनाव की मेरी पहली सभा है और मैं चुनाव का बिगुल बजा रहूं पलामू से। यह धरती बिरसा मुंडा की धरती है। नीलांबर पीतांबर की धरती है। ये धरती राजा मेदिनीराय की है। जिस धरती पर ऐसे बलिदानी लोग पैदा हुए, जिस धरती पर ऐसे तपस्वी पैदा हुए, ऐसी झारखंड की धरती को मैं नमन और यहां के नागरिकों को प्रणाम करता हूं।

पीएम ने कहा कि अगर बुरा न लगे तो यहां की जनता से एक शिकायत करना चाहता हूं, अगर जनता नाराज न हों। मोदी ने कहा, मैं लोकसभा चुनाव में भी पलामू आया था। उस समय मैं स्वयं चुनाव लड़ रहा था। भाजपा की दिल्ली में सरकार बनानी थी और आपके पास आया था। उस सभा में तो इससे आधे लोग ही आए थे। आज क्या कारण है कि उससे भी डबल आ गए। उस समय मैदान खाली था, रास्त पर लोग नजर नहीं आ रहे थे। आज हर जगह लोग ही लोग नजर आ रहे हैं।

पीएम ने कहा, मैं कुछ दिनों से विदेश यात्रा में था। जहां भी गया मेरे दिल में हिन्दुस्तान का गांव, किसान रहता था। आस्ट्रेलिया गया। वहां के एक यूनिवर्सिटी में वैज्ञानिकों से मिला। किसान चावल, गन्ने, मूंग, अरहर की खेती करते हैं लेकिन एक एकड़ भूमि में जितनी पैदावार होनी चाहिए, उतनी नहीं होती है। प्रति एकड़ उत्पादन कैसे बढ़े, इस पर मैंने बात की। वहां के वैज्ञानिकों से बात करने पैदावार बढ़ाने की बात की है ताकि उत्पादन अधिक हो और किसान के परिवार को कभी भूखे रहने की नौबत न आए।

पीएम ने कहा कि केला एक ऐसा फल है जो गरीब भी जब चाहे खा सकता है। लेकिन वैज्ञानिक तरीके से केले के अंदर अधिक विटामिन व लौह तत्व कैसे आए, इस पर भी मैनें आस्ट्रेलिया में चर्चा की। केले में अगर विटामिन ए अधिक हो तो बच्चे का स्वास्थ्य और बेहतर होगा। ये काम हम आस्ट्रेलियाई विश्वविद्यालय के सहयोग से करेंगे।

पीएम ने कहा कि झारखंड की धरती अमीर है पर यहां के लोग गरीब हैं। इस राज्य को परिवारवाद व बाप-बेटे की सरकार से मुक्त कराना होगा। अगर ऐसा नहीं हुआ तो उस परिवार व बाप-बेटे का घर भरेगा, यहां की जनता का नहीं। सबने झारखंड को लूटा है। लूटने वालों को जरा भी शर्म नहीं आई। राज्य को अगर सिर्फ भ्रष्टाचार व परिवारवाद से बचा लिया जाए तो यहां के नौजवानों में इतनी ताकत है कि वे इस राज्य को विकास की अग्रिम पंक्ति में लाकर खड़ा कर सकते हैं।

मोदी ने कहा, मुझे अवसर दीजिए। मैं झारखंड की सेवा करना चाहता हूं। आदिवासियों व नौजवानों का भला करना चाहता हूं। इसलिए मैं आपके पास आया हूं।

पीएम ने कहा, पलामू में सीमेंट का कारखाना बंद पड़ा हैं। बिजली का प्लांट नहीं लग रहा हैं। सब बस कोरे वादे कर रहे हैं। मुझे इस स्थिति को बदलना है।

मोदी ने कहा, छोटी-छोटी बुराईयों से हमें बाहर निकलना होगा। मैं हमेशा शौचालय बनवाने की बात करता हूं। स्वच्छता की बात करता हूं। जो काम इस देश में सात साल में नहीं हुआ हमने साठ दिन में करके दिखाया। अब तो हर एक गरीब का बैंक में खाता खुल रहा है।

पीएम ने कहा, कोयले की रायल्टी पर अब राज्य का हक होगा। यहां के नौजवानों को रोजगार मिलेगा। हमें देश में उद्योगों को लाना है। देश में जातिवाद बहुत हो गया। अब विकासवाद का समय है। पूरी दुनिया की निगाहें भारत पर है। अब झारखंड का भाग्य बदलना है 

Share Button

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.