जो पत्रकार JJA से नहीं जुड़े, उन्हें संगठन पर टिप्पणी का अधिकार नहीं

Share Button

रांची (संवाददाता)। राजधानी रांची बर्दवान कंपाउंड स्थित लखनऊ 800 माइल्स रेस्टुरेंट में झारखण्ड जर्नलिस्ट एसोसिएशन की प्रदेश अध्यक्ष शाहनवाज़ हसन की अध्यक्षता में हुयी बैठक में संगठन के सलाहकार समिति के सदस्य अनुपम शशांक ने संगठन के कार्यों की सराहना करते हुये कहा कि पिछले 15 वर्षों में आज तक जो कार्य किसी संगठन ने नहीं किये थे वह आज JJA ने कर यह सिद्ध कर दिया है कि पत्रकार हितों की रक्षा के लिये संगठन गंभीर है।अंचल एवं जिला के पत्रकारों की सुरक्षा एवं उसकी पहचान के लिये अब सभी पत्रकार के लिये संगठन मज़बूती से खड़ा है। उन्हों ने कहा जो पत्रकार साथी संगठन से नहीं जुड़े हैं उन्हें संगठन पर टिप्पणी करने का कोई अधिकार नहीं है।

प्रदेश अध्यक्ष शाहनवाज़ हसन ने कहा आज JJA ने पत्रकारों के लिये एक ऐसी लकीर खींची है, जिसका अनुसरण आज दूसरे करने को विवश हैं। यही JJA की सबसे बड़ी सफलता है।

हसन ने कहा कि पत्रकार हित के मुद्दों पर किसी को दुकानदारी करने की छूट नहीं दी जायेगी,पत्रकार हितों की रक्षा ही संगठन का मुख्य उद्देश्य है।

प्रदेश महासाचिव संजय पांडेय ने कहा कि आज JJA ने झारखण्ड के सभी जिला एवं प्रखण्ड में पत्रकारों को संगठित करने का कार्य किया है। संगठन में कुछ पत्रकार अपने स्वार्थ के लिये जुड़े थे, जब वे अपने उद्देश में असफ़ल हो गये, तब उनका मोह संगठन से भंग हो गया। ऐसे लोग संगठन में शाहनवाज़ के साथ अधिक देर तक टिक नहीं सकते थे क्योंकि, वे समझौतावादी नहीं हैं।

प्रदेश संगठन सचिव रामरंजन कुमार सिंह ने कहा संगठन केवल व्हाट्सअप से नहीं चलता है। एक वर्ष में 5 सफ़ल कार्यक्रम कर JJA ने विरोधियों के होश उड़ा दिये हैं,पत्रकार बुद्धिजीवी होते हैं और उनपर किसी के दुष्प्रचार और वर्गलाने का कोई प्रभाव नहीं पड़ता है। उन्होंने कहा कि आज संगठन से लगभग 2700 पत्रकार जुड़े हैं जिस से संगठन की लोकप्रियता को समझा जा सकता है।

प्रदेश सचिव सचिदानंद जायसवाल ने कहा अपने 30 वर्षों की पत्रकारिता में उन्होंने कई संगठन देखे, जो फ़ोटो सेशन और पिकनिक तक ही सीमित रह गये। JJA ने चतरा, गिरिडीह, धनबाद, हजारीबाग एवं जमशेदपुर की घटना के बाद मज़बूती से पत्रकार हितों की लड़ाई को अंजाम तक पहुंचाने का कार्य किया।

प्रदेश सचिव अजीत कुमार सिन्हा ने कहा कि संगठन से जुड़कर ही समस्त झारखण्ड ही नहीं देश भर के पत्रकारों से रूबरू होने का अवसर मिला और यह अवसर हम सभी को प्रदेश अध्यक्ष ने ही प्रदान किया है।

प्रदेश संयुक्त सचिव संतोष वर्मा ने कहा कि आज पत्रकार का दुश्मन पत्रकार ही है पत्रकारों के संगठित होने का लाभ हम सब को मिला है जिसे कुछ मठाधीश बर्दाश्त नहीं कर पारहे हैं।

प्रदेश प्रवक्ता संदीप बर्णवाल ने कहा कि व्हाट्सअप पर संगठन का दुष्प्रचार करने वाले जाने अनजाने में संगठन का प्रचार ही कर रहे हैं, क्योंकि लोग जिस से भयभीत होते हैं उसी का दुष्प्रचार करते हैं।

प्रदेश सोशल मीडिया प्रभारी आकाश भगत ने सभी सदस्यों से यह आग्रह किया कि आप अपने लक्ष्य की ओर आगे बढ़ें और कौन क्या कहता है, इसकी चिंता नहीं करें। यह संगठन सकारात्मक लोगों के लिये है, इसलिये किसी के प्रति कोई नकारात्मक बात कर समय बर्बाद नहीं करें।

इस बैठक में संगठन के सलाहकार अनुपम शशांक, प्रदेश महासाचिव संजय पांडेय, प्रदेश संगठन सचिव रामरंजन कुमार सिंह, प्रदेश सचिव सचिदानंद जायसवाल, प्रदेश संयुक्त सचिव सुबोध कुमार, प्रदेश सचिव शौकत खान, प्रदेश सचिव अजीत सिन्हा, प्रदेश संयुक्त सचिव संतोष वर्मा, प्रदेश संयुक्त सचिव अभय लाभ,प्रदेश संयुक्त सचिव जितेंद्र तिवारी, प्रदेश प्रवक्ता संदीप बर्णवाल, प्रदेश सोशल मीडिया प्रभारी आकाश भगत, पाकुड जिला अध्यक्ष मकसूद आलम, धनबाद जिला अध्यक्ष श्रीकांत श्रीवास्तव, धनबाद महासाचिव सुशिल चौरसिया, पलामू जिला कार्यकारी अध्यक्ष अवधेश शुक्ला, चतरा जिला अध्यक्ष चंद्रेश शर्मा, लातेहार से दयानंद प्रसाद, संजय राम, राजीव कुमार, गिरिडीह सरिया अनुमंडल अध्यक्ष आसिफ़ अंसारी, उपाध्यक्ष मेघा सरकार, चाईबासा जिला अध्यक्ष जितेंद्र ज्योतिषी, चतरा से जितेंद्र कुमार एवं संजय कुमार मुख्य रुप से शामिल हुये।

Share Button

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.