जेजेए का वार्षिक अधिवेशन में पत्रकार सुरक्षा कानून पर बनी रणनीति

Share Button

सरायकेला। झारखंड जॉर्नलिस्ट एसोसिएशन का वार्षिक अधिवेशन सरायकेला ज़िला में सम्पन्न हुआ। महाधिवेशन का उद्घाटन मुख्यमंत्री कैम्प के कार्यालय प्रभारी संजय पाण्डेय, प्रदेश अध्यक्ष शहनवाज हसन, प्रदेश महासचिव संजय पाण्डेय, संगठन सचिव रामरंजन, आईएफडब्लूजे के प्रतिनिधि रघुवंश मणि सहित सभी पदाधिकारियों ने संयुक्त रूप से किया।

समारोह में विशिष्ट अथिति के रूप में ईचागढ़ के विधायक साधुचरण महतो, एसडीओ संदीप दुबे व अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी अजित कुमार उपस्थित थे।

सीएम कैम्प कार्यालय प्रभारी संजय पाण्डेय ने कहा कि अंचल पत्रकारों की बदौलत ही समाचारों के पन्ने भरे होते हैं। उनके समक्ष आने वाली परेशानियों को समझने की जरूरत है। उन्होंने पत्रकार सुरक्षा कानून के मुद्दे पर संगठन की ओर से एक शिष्टमंडल को मुख्यमंत्री से समय लेकर मिलने की बात कही।

भाजपा विधायक साधुचरण महतो ने कहा कि आज चौथा खम्बा को सशक्त करने के जरूरत है। विधायक साधु महतो ने मुख्यमंत्री के समक्ष पत्रकार सुरक्षा कानून लागू करने के लिये जल्द ही मुलाकात करने की बात कही। उन्होंने अंचल पत्रकारों की प्रशंसा की।

प्रदेश अध्यक्ष शहनवाज हसन ने कहा कि पिछले एक वर्ष में झारखण्ड में पत्रकारों पर हमलों के एक दर्जन से अधिक मामले संगठन के समक्ष आये पत्रकारों के ऊपर बढ़ते हमले गंभीर चिंता का विषय है और केवल पत्रकार सुरक्षा कानून ही इस का एक मात्र उपाय है।कई प्रदेशों की सरकार ने पत्रकार सुरक्षा कानून को गम्भीरता से लेकर अपने राज्य में लागू कर दिया है।

उन्होंने कहा कि झारखंड में भी सरकार इसे लागू करे। प्रदेश अध्यक्ष ने सरकार से यह भी मांग की कि स्वास्थ्य बीमा योजना में पत्रकारों की संख्या बढ़ाई जाए।

समारोह के द्वितीय सत्र में प्रदेश कमिटी की बैठक हुई। जिसमें सभी ने अपने सुझावों को रखा। बड़कागांव के पत्रकार स्वर्ग उपेंद्रनाथ मालाकार की आत्मा के शांति के लिये 2 मिनट का मौन सभी पत्रकारों ने रखा।कार्यक्रम में रांची, चतरा, हजारीबाग, पलामू,पाकुड़, दुमका,चाईबासा,जमशेदपुर, लातेहार, गिरिडीह एवं धनबाद के पत्रकार शामिल हुये।

Share Button

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.