खत्म होगा अपने देश से भ्रष्टाचार ?

Share Button
Read Time:3 Minute, 42 Second

 चाहे कितने अन्ना हज़ारे अनशन पर बैठ जाएं, कितने केजरीवाल समाज-सुधार का ठेका ले लें, कितने मोदी हाथ में झाड़ू ले कर सड़कों की सफाई का अभियान चलाएं (वैसे मोदी जी को सड़कों की सफाई से ज़्यादा सिस्टम की सफाई के बारे में सोचना चाहिए था)।

  1. आप White 35 हज़ार देंगे तो रसीद 30 हज़ार की कटेगी कि आप 30 हज़ार White शो करें, आपके पास Black न भी हो तो भी आप 5 हज़ार Black दें।
  1. एक दिन अचानक आपको बताया जाता है कि आपके नाम बिजली का 90 हज़ार बकाया है। ‘क्यों बकाया है? पहले क्यों नहीं बताया?’ ‘आपकी ड्यूटी है कि आप खुद यहाँ आकर पता करें।’ ‘अब क्या करें?’ ‘एक तरीका है.’ ‘क्या?’ ‘आप 15 हज़ार कैश दे दें, कंप्यूटर से 90 हज़ार डिलीट कर दिए जाएंगे, ऊपर से फ़ायदा यह भी कि ये 15 हज़ार आपके अगले बिल में एडजस्ट हो जाएँगे।’ ‘क्या बुरा है? चलो, दिए.’ White को फिर Black किया।
  1. एक दिन अचानक नोटिस, 4 लाख का हर्जाना। ‘अब यह क्या?’ ‘8 साल से आपने सर्विस टैक्स नहीं भरा. इसमें इतने वर्षों का ब्याज, देर से भुगतान का जुरमाना, सब शामिल है.’ आपको सच में नहीं पता लेकिन कहावत है न, Ignorance is no bliss यानि यदि आप अज्ञानी हैं तो इसका कोई लाभ आपको नहीं मिलता। पर अब करें क्या? ‘बाहर मुंशी बैठा है, वह आपको बता देगा।’ ‘बताइए मुंशी जी, क्या करना होगा?’ ‘देखिए, जो असली टैक्स है, वह तो आपको देना ही होगा। हाँ, ब्याज और जुर्माने का लगभग 2 लाख कम करने का एक रास्ता है.’ ‘वह क्या?’ ‘आप कल 25 हज़ार नकद और 2 लाख का ड्राफ्ट ले कर आ जाएँ.’ भई, करना ही पड़ेगा। कहावत है ना, मरता, क्या न करता?
  1. अचानक आपको फ़ोन आता है, आपको फलाँ के लिए 99,999 का टैक्स भरना है.’ आपको गुस्सा आता है, आप गुस्से में चिल्ला कर बोलते हैं, ‘1 क्यों छोड़ दिया? पूरा एक लाख हो जाता तो फोन करते। और यह भी बताइए कि कितना कैश लेकर आएँ, कितने का ड्राफ्ट?’ ‘ऐ मिस्टर, आपने क्या हमें चोर समझा है? यह तो शुक्र कीजिए कि आपको फोन कर दिया, वर्ना प्रॉपर्टी कुर्क हो जाती, तब पता चलता।’ बस, अब कोई चांस नहीं है, कोई रास्ता नहीं है, सारा White में दीजिए, वैसे भी, आपके पास Black है भी नहीं।

लेकिन एक बात समझ में नहीं आई, जब ब्याज और जुर्माना ख़त्म करने का नियम है तो वह बिना रिश्वत लिए क्यों नहीं ख़त्म किया जाता? या ब्याज और जुर्माना लगता ही नहीं, केवल उपभोक्ता को डरा कर पैसे खाने के लिए यह सब किया जाता है?  इसमें उपभोक्ता की कोई गलती नहीं, न ही वह रिश्वत खिलाने का दोषी है। वह बस यह मलाल करता हुआ रह जाता है कि अपने ही देश में ज़िन्दा रहना कितना मुश्किल है। .Manika Mohini  जी अपने फेसबुक वाल पर।

0 0
Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleppy
Sleppy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %
Share Button

Relate Newss:

दैनिक जागरण के प्रतिनिधि की गोली मार कर हत्या, सगा भाई भी जख्मी
नहीं रही दूरदर्शन की वरिष्ठ एंकर नीलम शर्मा, मिली थी नारी शक्ति सम्मान
मंदिर में कंडोम का प्रमोशन करने पर सनी लियोन पर हुई FIR
वरिष्ठ पत्रकार अरुण साथी सड़क हादसे में गंभीर रूप से जख्मी
एक और पत्रकार पर जानलेवा हमला, पुलिस ने दर्ज नहीं की FIR
एनएचएआई ने सड़क किनारे बना रखा है मौत का गढ्ढा
बिहार आईएस एसोसिएशन के आंदोलन से नीतिश के गुड गवर्नेंस पर उठे सबाल
पत्रकारों को कई प्रकार की चुनौतियों का करना पड़ता है सामना : रास बिहारी
तेजस्वी यादव ने फेसबुक के जरिये दी सुशील मोदी को चुनौती
प्रमंडलीय आयुक्त आनंद किशोर का राजगीर मलमास मेला सैरात भूमि को लेकर ऐतिहासिक आदेश
भूमि अधिग्रहण संशोधन विधेयक के खिलाफ उपवास पर बैठे नीतिश
सीएम नीतीश को अपने गाँव के लोगों ने पटना में दिखाया सुशासन का आयना
मुकेश भारतीय के इन सबालों का जबाव दे राजगीर पुलिस और नालंदा प्रशासन
स्वंय प्रकाश सरीखे चरणपोछु संपादक हो सकते हैं, पत्रकार नहीं
पत्रकारिता का यह कैसा वीभत्स चेहरा !
ईटीवी ग्रुप ने लॉन्‍च किए चार नए मनोरंजन चैनल
बिहारी बाबू ने अब पीएम मोदी के डीएनए पर साधा निशाना
पत्रकार सोमारू नाग बाइज्ज़त बरी, सवालों के घेरे में बस्तर पुलिस
मुखिया के खिलाफ सड़क पर उतरे लोग, एसपी से बोले- ‘निर्दोष है पत्रकार’
रांची मीडिया कप में दिखी दैनिक भास्कर टीम की दबंगई
इंडियन मुजाहिदीन का है दैनिक ‘प्रभात खबर’ से कनेक्शन !
हरियाणा की घटना के लिए CM खट्टर जिम्‍मेदारः राहुल गांधी
'गोरा katora' नहीं हुजूर, लोग कहते हैं 'घोड़ा कटोरा'
नालंदा में बालू माफिया ने दो मजदूर भाइयों  को मौत की घाट उतारा
बिहार को ललकारने वाले मोदी को घुटने टेकने पड़े :नीतिश

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...