कर्नाटक सरकार की टीपू जयंती समारोह का विरोध करेगी RSS

Share Button
Read Time:2 Minute, 52 Second

असहिष्णुता को लेकर देश में जारी गहमागहमी के बीच राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) ने अब इस लड़ाई में मैसूर के टीपू सुल्तान को घसीट लिया है।

rss_tipu sultanसंघ ने 18वीं सदी में मैसूर के शासक रहे टीपू को सबसे असहिष्णु राजा बताया है। आरएसएस ने कर्नाटक सरकार की ओर से  10 नवंबर को आयोजित टीपू जयंती समारोह का विरोध किया है।

संघ ने इसको लेकर संघ परिवार से जुड़े संगठनों के धरना-प्रदर्शन को अपना समर्थन दिया है। विश्व हिंदू परिषद (विहिप) ने टीपू जन्म दिवस समारोह में खलल डालने का ऐलान किया है।

ज्यादातर लोग करते हैं नफरत

संघ के कर्नाटक, आंध्र प्रदेश और तेलंगाना के संघचालक वी नागराज के अनुसार, टीपू सुल्तान एक ऐसा शासक था, जिससे कर्नाटक के ज्यादातर लोग नफरत करते हैं।

इतिहासकारों ने लिखा है कि उसने चित्रदुर्गा, मेंगलूरु और मध्य कर्नाटक के लोगों पर किस कदर जुल्म ढाया था।

संघ पदाधिकारी के मुताबिक, टीपू के जुल्म की दास्तां इतिहास में दर्ज है। उसे अब तक सर्वाधिक असहिष्णु शासक बताया है। यह आरएसएस की जुबानी नहीं बल्कि एक ऐतिहासिक तथ्य है।

विरोध प्रदर्शन को देंगे समर्थन

संघ के लोग टीपू जयंती के विरोध में कोई प्रदर्शन नहीं करेंगे, लेकिन इसके खिलाफ होने वाले धरना-प्रदर्शन को अपना समर्थन जरूर देंगे।

बता दें कि कर्नाटक सरकार ने राज्य में पहली बार 10 नवंबर को टीपू सुल्तान जयंती मनाने का फैसला किया है।

लेकिन विहिप कार्यकर्ताओं ने सरकार के इस फैसले के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है और कार्यक्रम में व्यवधान डालने की घोषणा की है।

नागराज ने राष्ट्रीय सम्मान वापस करने वाले लेखक, फिल्मकार और अन्य नामचीन हस्तियों को बौद्धिक रूप से असहिष्णु करार दिया है।

उनका कहना है, आरएसएस इसे बौद्धिक असहिष्णुता के रूप में देखता है। लेखकों में खुद असहिष्णुता है। ये लोग किसी वैकल्पिक विचारधारा के अस्तित्व को स्वीकार करने के लिए तैयार नहीं हैं।

0 0
Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleppy
Sleppy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %
Share Button

Relate Newss:

पत्रकार प्रताड़ना को लेकर यूं मुखर हुए पूर्व विधायक अनंत राम टुडू
नालंदा में खुलेगी चाणक्य आईएएस एकेडमी की शाखा
धड़ाधड़ खुल रहे रीजनल चैनलों की कहानी, एक्सपर्ट वासिंद्र मिश्र की जुबानी
कानपुर में पत्रकारों का सपा-भाजपा के खिलाफ हल्ला बोल
न कोई नैतिकता और न कोई समर्पण !
राहुल के खिलाफ मोदी ने क्यों नहीं लड़ा चुनाव: मायावती
'न तू अंधा है, न अपाहिज है, न निकम्मा है तो फिर ऐसा क्यूं'?
*एक्सपर्ट मीडिया न्यूज नेटवर्क के कर्तव्य को अब आपके दायित्व की जरुरत.....✍🙏*
अरविन्द केजरीवाल के दलाल हैं पुण्य प्रसुन वाजपेयी ?
गौमांस खाने वाले ओबामा से गले मिलते हैं मोदी : लालू
43 साल से सेक्स-टैक्स ले रही है अमेरिकी सरकार !
राजगीर मेला भूमि पर कब्जा करने वाले महागठबंधन के लोग, भाजपा करेगी आंदोलन :राजीव रंजन
40 के दशक में दुनिया का सबसे शक्तिशाली देश होगा भारत : भटकर
मौजूदा पत्रकारिता के दौर में खोजी खबरों का खेल
झारखंड के महामहिम को दुःखी कर गई स्कूल गेट पर बजबजाती नाली
भाजपा ने 'स्वाभिमान रैली' को 'अपमान रैली' बताया
पत्रकारिता से मुश्किल काम है राजनीति :आशुतोष
जद(यू) से बिहार के मंत्री और झारखंड के अध्यक्ष का इस्तीफा
स्टेट 10टॉपर्स में गरीबी को चीरती शामिल हुईं जुलिया मिंज
लालू के दावत-ए-इफ्तार में रुबरु हुये नीतीश-मांझी
दिग्गी संग अमृता ने रचाई शादी, फेसबुक पर बताई पीड़ा
दैनिक जागरण के इस इंटरनल मेल ने खोली मीडिया की यूं कलई
आपके बोल से चिढ़ हो रही है सुशासन बाबू !
फर्जी शिक्षकों को पटना हाई कोर्ट का ऑफर, 7 दिन में पद छोड़े या अंजाम भुगतें !
भूमि अधिग्रहण संशोधन विधेयक के खिलाफ उपवास पर बैठे नीतिश

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...