एडीजी अनुराग गुप्ता के खिलाफ हेमंत सोरेन ने की एसटीएसी थाना में मुकदमा

Share Button
रांची । पूर्व मुख्यमंत्री सह प्रतिपक्ष के नेता हेमंत सोरेन ने रविवार की शाम एससी-एसटी थाना में एडीजी स्पेशल ब्रांच  अनुराग गुप्ता के खिलाफ लिखित शिकायत दर्ज करायी है. श्री सोरेन ने थाने में आवेदन देकर एडीजी के खिलाफ एफआइआर दर्ज कराने की मांग की है. उनके आवेदन पर एससी-एसटी थाना स्टेशन डायरी संख्या 13/16 अंकित किया गया है़.
श्री सोरेन रविवार की शाम साढ़े सात बजे एससी-एसटी थाना पहुंचे थे़।   उन्हाेंने थाना में आवेदन दिया और प्राथमिकी दर्ज कर कांड संख्या बताने की बात कही. वह डेढ़ घंटे तक थाना में ही बैठे रहे़ ।  श्री सोरेन द्वारा प्राथमिकी दर्ज करने की बात पर अड़ जाने पर एससी-एसटी थाना प्रभारी व लोअर बाजार इंस्पेक्टर ललन ठाकुर ने वरीय अधिकारियों से बात की़   वरीय अधिकारियों से बात करने के बाद श्री सोरेन को बताया गया कि सोमवार को प्राथमिकी दर्ज की जायेगी़।   उसके बाद रात 9.05 बजे हेमंत सोरेन थाना से निकले़.

क्या है मामलाः 

15 जुलाई को झारखंड विकास मोरचा  के अध्यक्ष बाबूलाल मरांडी ने इस ऑडियो क्लीप से एडीजी व पूर्व विधायक योगेंद्र साव के बातचीत का  खुलासा किया था़।  उसी को अाधार बनाया गया है़   श्री सोरेन ने अपने आवेदन में लिखा है कि राज्यसभा चुनाव के दौरान पूर्व मंत्री योगेंद्र साव के साथ बातचीत में एडीजी अनुराग गुप्ता ने उनके  खिलाफ जाति सूचक टिप्पणी की है. थाने को ऑडियो क्लिप उपलब्ध कराते हुए बातचीत का अंश आवेदन में उल्लेख करते हुए लिखा गया है कि हेमंत सोरेन ने तुमको जेल भिजवाया. वे आदिवासी लोग हैं, वे तुमको सपोर्ट नहीं करेंगे.
श्री सोरेन ने कहा है कि यह टिप्पणी मेरे ही नहीं, बल्कि आदिवासी समाज के लिए अशोभनीय है और यह आदिवासी लोगों के प्रति घृणा पैदा करती है. श्री सोरेन ने अपने आवेदन में लिखा है कि अनुराग गुप्ता की इस टिप्पणी से जनता में भारी आक्रोश है. अनुराग गुप्ता की यह टिप्पणी आदिवासी समाज को गाली देने जैसा है.

अनुराग गुप्ता एक लोक सेवक हैंः

पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा है कि अनुराग गुप्ता एक लोक सेवक हैं. उनके द्वारा की गयी यह टिप्पणी आदिवासी समाज को शर्मसार करती है. सामाजिक शांति भंग होने के भी आसार हैं. इससे राज्य की पुलिस और प्रशासनिक व्यवस्था की गरिमा धूमिल हुई है. पूर्व मुख्यमंत्री ने आवेदन में लिखा है कि एक आदिवासी प्रत्याशी को हराने के लिए षड्यंत्र हुआ है. अनुराग गुप्ता ने अपने पद का दुरुपयोग कर झामुमो प्रत्याशी को हराने की साजिश रची और जाति सूचक टिप्पणी की. इसलिए मामले में अविलंब कानूनी कार्रवाई की जाये.

आम आदमी की तरह आया हूं, प्राथमिकी दर्ज कर कांड संख्या बतायेंः

उन्होंने थाना में पुलिसकर्मियों से कहा कि वह एक आदमी की तरह थाना में प्राथमिकी दर्ज कराने आये है़  आम आदमी की तरह मेरे आवेदन पर प्राथमिकी दर्ज कर कांड संख्या बता दे़ं  इस दौरान लोअर बाजार थाना प्रभारी सह इंस्पेक्टर ललन ठाकुर उनसे गुहार लगाते रहे.  इंस्पेक्टर ने कहा कि सर प्राथमिकी दर्ज कर कांड संख्या सोमवार को आपके आवास पर पहुंचा देंगे़, लेकिन श्री सोरेन नहीं माने और थाना में बैठे रहे़    इस दौरान हेमंत सोरेन के साथ स्टीफन मरांडी, नलिन सोरेन, पोलुस सोरेन, अमित महतो सहित अन्य विधायक, विनोद पांडेय, अंतु तिर्की, मो अनवर सहित झामुमो के कई नेता और कार्यकर्ता मौजूद थे़
Share Button

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Loading...