इधर केंद्रीय गृहमंत्री की बैठक, उधर राइजिंग कश्मीर के संपादक शुजात बुखारी की हत्या

Share Button

राजनामा न्यूज।  जम्‍मू-कश्‍मीर के श्रीनगर में आज गुरुवार शाम को आतंकियों ने राइजिंग कश्‍मीर समाचार पत्र के संपादक शुजात बुखारी को गोली मार कर हत्‍या कर दी।

मीडिया रिपोर्टों के मुताबिक गुरुवार शाम जब वह अपने दफ्तर से निकले तो उन पर हमला किया गया। बताया जाता है कि बेहद करीब से उन पर कई गोलियां दागी गईं। उनकी रक्षा के लिए तैनात दो सुरक्षा गार्डों को भी गोलियां लगी और वे गंभीर रूप से घायल हैं।

आतंकियों ने श्रीनगर के प्रेस कॉलोनी में राइजिंग कश्‍मीर समाचार पत्र के संपादक शुजात बुखारी पर हमला किया, जिसमें उनकी मौत हो गई। इस हमले में बुखारी के SPO को भी गोली लगी है।

कश्मीर में किसी पत्रकार पर लंबे समय बाद हमला किया गया, जिसे पत्रकार बिरादरी सकते में है। एनडीटीवी की रिपोर्ट के मुताबिक कश्मीर टाइम्स की एक्जिक्यूटिव एडीटर अनुराधा जमवाल का कहना है, “यह प्रेस की आजादी पर हमला है।”

इससे पहले शुजात बुखारी पर 2000 में हमला किया गया था जिसके बाद से उन्हें सुरक्षा मुहैया कराई जा रही थी। शुजात बुखारी अपने करियर के आरंभिक दिनों में लंबे समय तक डॉयचे वेले की हिंदी, ऊर्दू और अंग्रेजी सेवाओं के साथ जुड़े रहे हैं।

जम्मू कश्मीर की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती और पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने शुजात बुखारी की हत्या पर गहरा दुख व्यक्त किया है। मुख्यमंत्री ने ट्वीट कर कहा कि वह इस हमले की कड़े शब्दों में निंदा करती हैं।

पत्रकार की मौत पर जम्‍मू-कश्‍मीर के पूर्व मुख्‍यमंत्री उमर अब्‍दुला ने दुख व्‍यक्‍त किया है। उमर अब्‍दुला ने ट्वीटर पर लिखा – इस घटना से मैं पूरी तरह से शॉक्‍ड हूं।

आज ही केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह के घर कश्मीर के मामले पर उच्च स्तरीय बैठक की गई। इस बैठक में ईद के बाद कश्मीर में सीजफायर खत्म करना है या इसे जारी रखना है, इस पर चर्चा हुई। हालांकि अभी इस पर अंतिम निर्णय नहीं लिया गया है।

जम्मू-कश्मीर में शांति के उद्देश्य से गृहमंत्रालय ने आतंकियों के खिलाफ ऑपरेशन पर ईद तक रोक लगाई थी। इसे रमज़ान सीज़फायर कहा गया था। बैठक में अमरनाथ यात्रा की सुरक्षा पर भी बात हुई।

45 मिनट चली इस बैठक में गृह मंत्री राजनाथ सिंह के साथ साथ एनएसए अजीत डोभाल, आर्मी चीफ, आईबी चीफ, सीआरपीएफ के डीजी, बीएसएफ के डीजी जम्मू कश्मीर पुलिस के डीजीपी के अलावा गृह सचिव राजीव गौबा सहित गृह मंत्रालय के दूसरी अधिकारी भी मौजूद थे।

इस बैठक से ठीक पहले भाजपा महासचिव और जम्मू-कश्मीर के प्रभारी राम माधव ने गृह सचिव राजीव गाबा से मुलाकात की।

Share Button

Relate Newss:

420 के फंदे में फंसे दैनिक जागरण के 17 निदेशक-संपादक
आपकी आवाज दबाने वाले लोग हैं असली देशद्रोही :राहुल गांधी
राजगीर के इस भू-माफिया को यूं महिमामंडन कर डाला दैनिक हिन्दुस्तान वालों ने
ममता बनर्जी संग लंदन गये भारतीय पत्रकारों ने चुराई चांदी के चम्मच, 50 पौंड जुर्माना दे छूटे
क्या वाकई नालंदा डीएम ने कहा- 'एक्सपर्ट मीडिया वाले को रोक देना'?
एक राष्ट्रीय खबर, जो बिहार के सीतामढ़ी के गांवो में खो कर रह गई !
बाज गइल डंका: लग गइल डंक
जरा देखिये, ब्रांडिंग के नाम पर क्या कर रही है रघुवर सरकार
अमिताभ,रजनीकांत,श्याम बेनेगल जैसों पर भारी गजेंद्र चौहान?
टीवी चैनलें बढ़ा रही है बाबाओं का कारोबार
आंचलिक पत्रकार संघ और शासन की दाल में फिर दिखा भयादोहन का तड़का
ब्लेकमेलिंग के आरोप में सुदर्शन न्यूज के रिपोर्टर समेत 4 धराया
पर्यावरण को यूँ नष्ट कर रहे हैं खनन माफिया
पत्रकार की पिटाई करने वाले पूर्व विधायक के खिलाफ जांच करायेगी भाजपा
चौबे चले छब्बे बनने और दुबे बन कर रह गए

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...
loading...