आयकर आयुक्त है या सड़क छाप गुंडा? सुनिए ऑ़डियो टेप

Share Button
Read Time:2 Minute, 36 Second

राजनामा.कॉम यूपी के मुजफ्फरनगर में वर्षों पूर्व स्थानांतरित होने के बाबजूद  प्रायः झारखंड के जमशेदपुर में जम कर अपना काला धंधा चमका रहे आयकर आयुक्त स्वेताभ सुमन एक नंबर के अभद्र और अमर्यादित व्यक्ति नजर आता है। उसकी भाषा और शैली से साफ प्रतीत होता है कि वह कोई आयकर अफसर नहीं, सड़क छाप गुंडा है !

ITC SUMANवह जब भी किसी से मोबाईल पर  बात करता है तो उसके स्वरों में कहीं अधिक अपशब्द होते है। सीधे मां-बहन की गालियां उनका तकिया कलाम होता है।

उसकी बातचीत सुनने के बाद यही लगता है कि वह अपनी पहुंच और पैसे की धौंस के बल पुलिस प्रशासन को अपनी रखैल समझते हैं।

राजनामा.कॉम को आयकर आयुक्त श्वेताभ सुमन की एक सानिध्य के साथ बातचीत की अपने विश्वत सूत्रों से एक मोबाइल ऑडियो टेप प्राप्त हुई है।

इस मोबाइल ऑडियो टेप को सुनने के बाद किसी के भी मन में यह सबाल उठना लाजमि है कि क्या एक सिविल सेवा का एक आला अधिकारी इतना असभ्य हो सकता है।

खुद को फिल्मी तर्ज पर एक माफिया डॉन के रुप में पेश कर जमशेदपुर एवं उसके आस-पास के क्षेत्रों में भ्रष्टाचार का बड़ा तिलिस्म बना रहे श्वेताभ सुमन ने कई ऐसे गुर्गे भी पाल रखे हैं, जो उसके ईशारे पर उठते-बैठते हैं और आर्थिक-समाजिक आतंक मचाते हैं।

खुद श्वेताभ सुमन ने अपनी बातचीत में अपनी टीम के कई चर्चित गुर्गों का नाम लिया है और जैसा “वह चाहेगा, वैसा ही होगा” की बात करता है।

जाहिर है कि ऐसे सिविलों की सिवलाईजेशन ही व्यवस्था का अधिक बेड़ा गर्क कर रहा है।

आयकर आयुक्त श्वेताभ सुमन का मोबाइल ऑडियो टेप सुनने के लिए इस लिंक पर क्लिक करे:

>>> श्वेताभ सुमनः आयकर आयुक्त है या सड़क छाप गुंडा, सुनिए ऑ़डियो टेप 

itc_suman

0 0
Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleppy
Sleppy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %
Share Button

Relate Newss:

फॉक्स न्यूज का दावा: भाषण के दौरान प्याज लगाकर रोए ओबामा  
शॉटगन का विजयवर्गीय पर पलटवार-  'हाथी चले बिहार.....भौंके हजार'
सुप्रीम कोर्ट के सख्त रुख को भांप प्रभात खबर प्रबंधन ने किया समझौता
चीफ जस्टिस के पत्र से शर्मशार हुई सरकार
अध्यक्ष अमित शाह के नसीहत पर भाजपा की झाड़ू
जेल में ऐश कर रहे महापापी ब्रजेश ठाकुर की बड़ी ‘मछली’ है ‘रेड लाइट एरिया’ की उपज मधु
जांच कमिटि की रिपोर्ट में खुलासा, पूर्व प्रबंधक की सांठगांठ से हुआ लाखों का खेला
झारखंड जर्नलिस्ट एसोसिएशन ने की फर्जी प्रेस वाहनों पर कार्रवाई की मांग
जनप्रतिनिधि निकाल रहे नालंदा में शराबबंदी की हवा, मुखिया और पैक्स अध्यक्ष समेत 7 धराये
मुकेश भारतीय के इन सबालों का जबाव दे राजगीर पुलिस और नालंदा प्रशासन
'हैदराबाद से जेएनयू तक मोदी सरकार की ग़लतियां'
अब 2अक्टूबर से नया संशोधित शराबबंदी कानून लागू करने की मंशा
टीवी पर खबर कम तमाशा ज्यादा  :मार्क टुली
संविधान में बराबरी और अलग प्रदेश की मांग को लेकर नेपाल में मधेसियों की उग्रता बरकरार
पीएम मोदी के 'मन की बात' : भूमि अध्यादेश अब नहीं लाएगी उनकी सरकार !
किक्रेट छोड़ कर राजनीति संभाली और पहली बार में ही मंत्री बने लालू के 'तेजस्वी' लाल
बाबा रामदेव का कुलषित चेहरा !
डायन-बिसाही के आरोप में 4 की हत्या,  कटे सिर लेकर हत्यारे पहुंचे कुचाई थाना
नीतिश के गृह क्षेत्र में नवनिर्वाचित महिला मुखिया की हत्या
बिहार को ललकारने वाले मोदी को घुटने टेकने पड़े :नीतिश
आरटीसी इंजीनियरिंग कॉलेजः घटिया भोजन-पानी को लेकर छात्रों ने की तालाबंदी
बिहार विधानसभा चुनाव की मंझधार में जी पुरवईया !
हजारीबाग पुलिस के रडार पर हैं कांग्रेस विधायक निर्मला देवी
रांची प्रेस क्लब में शादी का आयोजन कमिटी का फैसला  : सचिव
रीजनल न्यूज चैनल कशिश के रिपोर्टर का नेशनल धमाका

One comment

  1. श्रीमान आपके द्वरा किये खुलाशे जो सेवेतभ सुमन के विसय में है वह सराहनीय है। लेकिन जमशेदपुर में अगर आतंक का कोई क़ानूनी चेहरा है तो सुमन साहब है। अखलेश् सिंह या कोई नमी गुंडा उनके बाद ही अत है । शर्म की बात है की यहाँ की मिडिया भी उनसे बिकी हुई है पूरा झारखण्ड जमशेदपुर का हर जागृत आदमी उसके कुकर्मो को जनता है लेकिन खुले जुबान से उसकी सचाई कोई नहीं बोलता। यहां तक की झारखण्ड के चर्चित और ईमानदार ईपीएस ऑफिसर जिनका समाज में नाम है उनकी भी हिमत नहीं की उनकी असलियत सामने रख सके।

Leave a Reply to Anjan Cancel reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...