पिछले 3 वर्षों में केन्द्र सरकार ने विज्ञापन मद में की यूं भारी कटौती

पिछले तीन साल के दौरान प्रिंट, इलेक्ट्रॉनिक और डिजिटल मीडिया में विज्ञापनों पर सरकार की ओर से किया जाने वाला खर्च लगातार कम हुआ है

राजनामा.कॉम डेस्क। पिछले तीन साल के दौरान प्रिंट, इलेक्ट्रॉनिक और डिजिटल मीडिया में विज्ञापनों पर सरकार की ओर से किया जाने वाला खर्च लगातार कम हुआ है। प्रिंट मीडिया में लगभग 54 प्रतिशत की गिरावट आई है।

यह जानकारी सूचना-प्रसारण मंत्री अनुराग ठाकुर ने राज्यसभा को एक प्रश्न के लिखित उत्तर में यह जानकारी दी।

सूचना-प्रसारण मंत्री द्वारा संसद में प्रस्तुत किए गए नवीनतम आंकड़ों के मुताबिक, सरकार ने लोक संपर्क और संचार ब्यूरो (बीओसी) के जरिए 2018-19 में प्रिंट विज्ञापनों में 429.55 करोड़ रुपए खर्च किए थे।

लेकिन 2019-20 में घटकर 295.05 करोड़ रुपए हो गया और 2020-21 में महामारी के दौरान घटकर 197.49 करोड़ रुपए रह गया है।

बीजद सांसद सस्मित पात्रा द्वारा उठाए गए एक प्रश्न के लिखित उत्तर में ठाकुर ने कहा कि इलेक्ट्रॉनिक और डिजिटल मीडिया पर विज्ञापन खर्च में भी पिछले तीन वर्षों में उल्लेखनीय गिरावट दर्ज की गई है।

ठाकुर ने बताया कि वर्ष 2018-2019 में इलेक्ट्रॉनिक और डिजिटल मीडिया में विज्ञापनों पर सरकार ने 514.29 करोड़ रुपए खर्च किए थे।

वर्ष 2019-2020 में सरकार की ओर से इलेक्ट्रॉनिक और डिजिटल मीडिया में विज्ञापनों पर 316.99 करोड़ रुपए और 2020-2021 में 167.98 करोड़ रुपए खर्च किए गए।

error: Content is protected !!