अन्य

    रांची प्रेस क्लब में बोले डीजीपी- ‘डरें नहीं,सच लिखें, पत्रकारों के साथ है पुलिस’

    पत्रकार सबूत के साथ सच लिखें। उन्हें किसी से डरने की जरूरत नहीं है। पुलिस सच्चे और निष्पक्ष पत्रकारों के साथ है। डीजीपी एमवी राव रांची प्रेस क्लब में पत्रकारों के सवालों का जवाब दे रहे थे

    राजनामा.कॉम। झारखंड के डीजीपी एमवी राव ने आगे कहा कि कोरोना जैसे संकट में पुलिस की भूमिका और चुनौतियां बदली है।

    श्री राव हाल के दिनों में पुलिस व पत्रकारों के बीच बढ़ी टकराव को कम करने तथा पत्रकारों की सवालों से रूबरू होने पहुंचे थे।

    उन्होंने बताया कि पुलिस और पत्रकार दोनों जनता के प्रति उतरदायी हैं। दोनों को अपना काम ईमानदारी और निष्पक्ष होकर करना चाहिए।

    कई बार एक दूसरे के काम करने की तौर-तरीकों पर मतभेद हो जाते हैं, लेकिन यह मतभेद भी सार्थक होना चाहिए।JHARKHAND DGP M V RAO

    हाल के दिनों में पुलिस और पत्रकारों के बीच टकराव बढ़ी थी। एमवी राव ने उसे भी जानने की कोशिश की। उन्होंने स्पष्ट किया कि किसी भी मामले में बिना जांच के किसी पत्रकार को जेल नहीं भेजा जायेगा।

    डीजीपी ने कहा कि पत्रकार विषम परिस्थितियों में काम करते हैं। खबरों की पुष्टि के लिए अधिकारी से बात भी उन्हें करनी होती है। इसमें सक्षम अधिकारी को सहयोग करना चाहिए।

    उन्होंने आश्वस्त किया कि पुलिस मुख्यालय में सक्षम पदाधिकारी होंगे जो पत्रकारों से बात कर उन्हें घटनाक्रम की जानकारी भी देंगे और पुलिस का पक्ष भी रखेंगे।

    एमवी राव ने आश्वस्त किया की प्रेस क्लब वह बार-बार आना चाहेंगे। जब-जब उन्हें बुलाया जायेगा, वह पहुंच जायेंगे।

    इस मौके पर रांची के एसएसपी अनीश गुप्ता भी मौजूद रहे।

    इस चर्चा में विशेष रूप से रांची प्रेस क्लब के अध्यक्ष राजेश सिंह, उपाध्यक्ष पिंटू दूबे, महासचिव अखिलेश सिंह, सह सचिव जावेद अख्तर, कोषाध्यक्ष जयशंकर, प्रेस क्लब के प्रवक्ता प्रभात कुमार सिंह, कार्यकारिणी सदस्य सुनील सिंह, रंगनाथ चैबे, दीपक जायसवाल, प्रशांत सिंह, किसलय शानू, सुनील गुप्ता, प्रियंका मिश्र के अलावा शहर के एक दर्जन से अधिक पत्रकार मौजूद रहे।

    इस चर्चा में सोशल डिस्टेंसिंग का विशेष ध्यान रखा गया।

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here