मनमोहन सिंह ने कोल्हान की सरजमीं पर मीडिया एकता की यूं रखी मजबूत नींव, बधाई-शुभकामनाएं…

-

अन्य खबरें

- Advertisment -

“निश्चित तौर पर द प्रेस क्लब ऑफ सरायकेला- खरसावां का गठन ऐतिहासिक कहा जा सकता है। वे भी ऐसे समय में जब पत्रकारिता अपने वजूद को बचाने के लिए संघर्षरत है।

जमशेदपुर(एक्सपर्ट मीडिया न्यूज नेटवर्क)। बीते ‘रविवार’ को जाने माने वरिष्ठ पत्रकार मनमोहन सिंह ने मीडिया के मामले में उपेक्षित-शोषित कोल्हान की धरती पर ‘वीरवार’ बना डाला। उन्होंने तमाम झंझावतों के बाबजूद द प्रेस क्लब ऑफ सरायकेला खरसावां का गठन करने के बाद जिला कार्यकारिणी कमेटी का विस्तार कर उन्होंने एक मजबूत संकेत दिए।

खबर है कि सरायकेला सर्किट हाउस परिसर सभागार में वरिष्ठ पत्रकार बसंत साहू की अध्यक्षता आहूत पत्रकारों की अहम बैठक में सर्वसम्मति ने कई अहम निर्णय लिए, जिसका संचालन पत्रकार संजय मिश्रा ने किया।

इस दौरान अध्यक्ष मनमोहन सिंह राजपूत भी मौजूद रहे। द प्रेस क्लब ऑफ सरायकेला- खरसावां के संचालन हेतु एक 11  सदस्यीय संचालन कमेटी का चयन किया गया, जिसका अध्यक्ष बसंत साहू को बनाया गया।

साथ ही वरिष्ठ पत्रकार विनोद कुमार शरण, सिद्धनाथ दुबे, मोहम्मद दिलदार, गणेश सरकार, सुधाकर झा, भाग्य सागर सिंह, विकास कुमार,  विजय साहू, तारकेश्वर प्रसाद और मृत्युंजय बर्मन को सर्वसम्मति से सदस्य के रूप में चुना गया। जिला कार्यकारिणी इनके संरक्षण में कार्य करेगी इस पर सहमति बनी।

वही जिला कार्यकारिणी का विस्तार करते हुए मोहम्मद रमजान को महासचिव, प्रमोद कुमार सिंह, अरुण माझी, सुधीर गोराई और रासबिहारी मंडल को जिला उपाध्यक्ष, कोषाध्यक्ष संजीव कुमार मेहता, सह कोषाध्यक्ष सुदेश कुमार प्रवक्ता संजय मिश्रा, सह प्रवक्ता पारसनाथ ठाकुर, कानूनी सलाहकार अधिवक्ता छत्रपति महतो और भास्कर मिश्रा, सदस्यता प्रभारी प्रमोद कुमार सिंह, सह प्रभारी सुनील कुमार गुप्ता, सोशल मीडिया प्रभारी नवीन प्रधान, आईटी सेल प्रभारी आशीष झा को बनाया गया।

जबकि सचिव के रूप में रविकांत गोप, अजय महतो, उमाकांत कर, संतोष साहू, वेणुधर महतो, सचिन मिश्रा, विश्वरूप पांडा, विद्युत महतो, खगेन महतो और सुमन मोदक को जिम्मेदारी दी गई है।

बैठक में क्लब का बाइलॉज पेश किया गया। जिस पर सभी सदस्यों ने अपनी सहमति जताई। 14 अप्रैल के बाद सदस्यता अभियान की शुरुआत किए जाने पर सहमति बनी। साथ ही शपथ ग्रहण समारोह की तैयारियों पर समीक्षा करते हुए तिथि की घोषणा किए जाने पर सहमति बनी।

अपने संबोधन में अध्यक्ष मनमोहन सिंह राजपूत ने शांति और सौहाद्र पूर्ण माहौल में पूरे कार्यकारिणी के गठन पर खुशी जताते हुए मौजूद जिलेभर से पहुंचे लगभग 50 से भी अधिक प्रिंट, इलेक्ट्रॉनिक्स और वेब जर्नलिज्म के पत्रकारों का आभार प्रकट किया।

वहीं उन्होंने मौजूद सभी पत्रकारों को भरोसा दिलाते हुए बताया, कि पत्रकार हित और पत्रकारों की एकता बनाए रखना उनकी पहली प्राथमिकता होगी।

उन्होंने 3 महीने के भीतर कार्यकारिणी के स्वरूप और उसका उद्देश्य जिले के पत्रकारों को दिखाने का भरोसा दिलाया उन्होंने एलान किया, कि

 जिले का कोई भी पत्रकार अब शोषित नहीं होगा। प्रशासनिक और सामाजिक स्तर पर पत्रकारों का अपमान किसी कीमत पर बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।

क्लब से जुड़े पत्रकारों के हर सुख दुख में साथ खड़ा होने की बात उन्होंने कही। वहीं बैठक की अध्यक्षता कर रहे वरिष्ठ पत्रकार बसंत साहू ने जिला कमेटी  के विस्तार पर खुशी जताते हुए हर संभव सहयोग करने का भरोसा दिलाया।

श्री साहू ने पूरी कमेटी के उज्जवल भविष्य की कामना की। महासचिव मोहम्मद रमजान ने पूरे जिले के पत्रकारों को साथ लेकर चलने की बात कही। धन्यवाद ज्ञापन चंद्रमणि वैद्य ने किया।

इस दौरान परमेश्वर गोराई, राजेश कुमार ठाकुर, अजय कुमार, दीप पॉल चौधरी, अफरोज मलिक, कांग्रेस महतो, अनूप मिश्रा, मनोज रजक, कल्याण पात्रा, दीपक महतो, फनी भूषण टूडू, खगेन चंद्र महतो, शंभू कंसारी, राहुल, कमलेश महतो आदि जिले के सभी 9 प्रखंडों के सदस्य पत्रकार मौजूद रहे।

बहरहाल, सरायकेला-खरसावां जिले के पत्रकारों ने पूरे राज्य के पत्रकार, पत्रकार संगठन और मठाधीशों के लिए एक नजीर पेश कर दिया है और बगैर शोर-शराबा और हंगामे के महज तीन बैठकों में जिला से लेकर आंचलिक स्तर के पत्रकारों ने जो प्रतिबद्धता दिखाई है, उसे देखकर राज्य भर के पत्रकारों और मठाधीशों को सबक लेनी चाहिए।

हालांकि सरायकेला के पत्रकारों ने जिला स्तरीय क्लब का गठन कर लिया और हो-हल्ला और हंगामा नहीं हुआ ये बड़ी बात है। इस पूरे खेल का खिलाड़ी चाहे जो भी हो, उसने साबित कर दिया कि उसमें नेतृत्व क्षमता है। हालांकि पत्रकार खुद में एक घमंड का तगमा है, जबकि हकीकत में वास्तविक से कोसों दूर। इससे सबको बचनी होगी।

एक्सपर्ट मीडिया न्यूज़ नेटवर्क टीम इस उपलब्धि के लिए सरायकेला-खरसावां के सभी पत्रकारों को बधाई के साथ शुभकामनाएं देती है। विश्वास है कि वहाँ के सभी पत्रकारों के लिए के लिए मील का पत्थर साबित करने का जो अवसर मिला है, वे सब एकजुट होकर जो पूरे सूबे में एक अवश्य बनेगा। अन्यथा उन शक्तियों को बल मिलेगा, जो मीडिया संगठन के नाम पर महज दांत निपोड़ते फिरते है, व्यवस्था की दलाली में पत्रकारो की ही बलि लेने में जरा भी नहीं हिचकते। जबकि वैसे लोगो की खुद मीडिया में कहीं कोई बजूद नही होते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here