पत्रकार बसंत मामले को लेकर रांची प्रेस क्लब की आपात बैठक, सरकार को देगी 24 घंटे का अल्टीमेटम

राज़नामा.कॉम। सरायकेला के पत्रकार पत्रकार बसंत साहू को जेल भेजे जाने की कार्रवाई के खिलाफ रांची प्रेस क्लब में अध्यक्ष राजेश सिंह की अध्यक्षता में आज आपात बैठक हुई। जिसमें क्लब के पदाधिकारी और कार्यकारिणी के सदस्य उपस्थित रहे।

बैठक में सरायकेला-खरसावां जिला पुलिस द्वारा चांडिल के पत्रकार बसंत साहू के खिलाफ सोची समझी चाल के तहत जेल भेजने की कार्यवाई की निंदा की गई।EY6pIClVAAAPfju

साथ ही पत्रकार के अविलंब रिहाई और मामले की उच्चस्तरीय जांच कर दोषी अधिकारियों के खिलाफ कार्यवाई करने की मांग हेमंत सोरेन सरकार से करने का निर्णय लिया गया।

कल दिनांक 27 मई दिन बुधवार को सीएम हेमंत सोरेन को ज्ञापन उनके सीएम सचिवालय में सौपा जाएगा।

साथ ही क्लब की ओर से शासन को चेतावनी दी गयी कि यदि 24 घंटे के अंदर हमारे निर्दोष पत्रकार बसंत साहू की रिहाई नहीं हुई तो 28 मई दिन गुरुवार को क्लब के सदस्य काला विल्ला लगाकर विरोध दर्ज कराएंगे।

क्लब ने इस बात पर गहरी चिंता जताई कि पिछले कुछ दिनों में राजधानी सहित राज्य के कई हिस्सों में कई पत्रकारों को एक-एक कर पुलिस द्वारा निशाने पर लिया गया। इस तरह की करवाई बंद नहीं हुई तो मजबूरन आंदोलन के लिए बाध्य होना पड़ेगा।

एक ओर पत्रकार कोविड 19 के संक्रमण में खुद की जान जोखिम में डालकर जन सेवा कार्य कर रहे हैं वहीं, दूसरी ओर कुछेक पुलिसकर्मियों की हरकतों से राज्य के शासन प्रशासन की नाक कट रही है।

आज की बैठक में अध्यक्ष राजेश सिंह, उपाध्यक्ष पिंटू दुबे, संयुक्त सचिव जावेद अख्तर, कोषाध्यक्ष जयशंकर कुमार, कार्यकारिणी सदस्य गिरजा शंकर ओझा, प्रभात सिंह, अमित दास, सुनील गुप्ता उपस्थित रहे।

वहीं, जो पदाधिकारी व सदस्य इस आपात बैठक में उपस्थित नहीं हो सके, वे अपनी ओर से घटना की निंदा करते हुए पत्रकार की अविलंब रिहाई को लेकर तय की गई रणनीति पर सहमति जताई है।

error: Content is protected !!