पाकिस्तान: इमरान खान को बड़ी राहत, अविश्वास प्रस्ताव खारिज, नेशनल असेंबली भंग, 90 दिनों में चुनाव

इंडिया न्यूज रिपोर्टर डेस्क। पाकिस्तान की नेशनल असेंबली में आज बड़ा उलटफेर हो गया। डिप्टी स्पीकर ने विदेशी साजिश का आरोप लगाकर अनुच्छेद 5 के तहत अविश्वास प्रस्ताव को खारिज कर दिया।

इसके साथ ही इमरान खान की मांग पर राष्ट्रपति ने संसद को भंग कर दिया। पाकिस्तान के राष्ट्रपति आरिफ अल्वी ने नेशनल असेंबली और सभी प्रांतीय विधानसभाओं को भंग कर दिया है।

संसद में अविश्वास प्रस्ताव खारिज होने के बाद इमरान खान ने राष्ट्रपति के पास संसद भंग करने की सिफारिश भेजी थी। अब पाकिस्तान में 90 दिन के अंदर आम चुनाव होंगे।इमरान खान के सरप्राइज से पाकिस्तान में हाहाकार मच गया है।

अविश्वास प्रस्ताव खारिज होने के बाद अब इमरान चुनाव तक कार्यकारी पीएम बने रहेंगे। उधर संसद में विपक्ष जोरदार प्रदर्शन कर रहा है। विपक्ष ने धरना देने की धमकी दी है।

पाकिस्तानी मंत्री फवाद चौधरी ने कहा है कि संविधान के अनुच्छेद 224 के तहत प्रधानमंत्री इमरान खान अपने कर्तव्यों को जारी रखेंगे। मंत्रिमंडल भंग कर दिया गया है।

अविश्वास प्रस्ताव खारिज होने के बाद इमरान खान ने देश को संबोधित किया। इस दरौन उन्होंने कहा- ‘हम इंसाफ के लिए अवाम के बीच जाएंगे। हम लोगों से अपील करते हैं वो अगले चुनाव की तैयारी करें। सारी कौम से गद्दारी की कोशिश की जा रही थी।

उधर मरियम नवाज़ शरीफ ने कहा है कि अपनी सीट बचाने के लिए किसी को भी पाकिस्तान के संविधान को विकृत करने की अनुमति नहीं दी जानी चाहिए। अगर इस पागल और जुनूनी व्यक्ति (इमरान खान) को इस अपराध के लिए दंडित नहीं किया जाता तो आज के बाद इस देश में जंगल का कानून लागू होगा।”

पीपीपी के चीफ बिलावल भुट्टो जरदारी ने कहा है कि सरकार ने संविधान का उल्लंघन किया है। अविश्वास प्रस्ताव पर मतदान नहीं होने दिया। संयुक्त विपक्ष संसद नहीं छोड़ रहा है। हमारे वकील सुप्रीम कोर्ट जा रहे हैं। हम सभी संस्थानों से पाकिस्तान के संविधान की रक्षा करने, उसे बनाए रखने, बचाव करने और उसे लागू करने का आह्वान करते हैं।

error: Content is protected !!